Breaking News:

दुःखद : बॉलीवुड कास्टिंग निदेशक का निधन -

Thursday, June 4, 2020

वक्त का फेर : चैम्पियन तीरंदाज सड़क पर बेच रही सब्जी -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या 1085 हुई , 42 नए मरीज मिले -

Wednesday, June 3, 2020

अभिनेत्री ने जहर खाकर की खुदकुशी, जानिए खबर -

Wednesday, June 3, 2020

मुझे बदनाम करने की साजिश : फुटबॉल कोच विरेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, June 3, 2020

मोदी 2.0 : पहले साल लिए गए कई ऐतिहासिक निर्णय -

Wednesday, June 3, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 1066 हुई -

Wednesday, June 3, 2020

सराहनीय पहल : एक ट्वीट से अपनों के बीच घर पहुंचा मानसिक दिव्यांग मनोज -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1043 -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में करें अब आनलाईन आवेदन -

Tuesday, June 2, 2020

10 वर्षीय आन्या ने अपने गुल्लक के पैसे देकर मजदूर का किया मदद -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 999 हुई, 243 मरीज हुए ठीक -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 958 -

Monday, June 1, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या 929 हुई, चम्पावत में 15 नए मामले मिले -

Monday, June 1, 2020

जागरूकता: तंबाकू छोड़ने की जागरूकता के लिए स्वयं तत्पर होना जरूरी -

Monday, June 1, 2020

मदद : गांव के छोटे बच्चों को पढ़ा रही भावना -

Monday, June 1, 2020

नही रहे मशहूर संगीतकार वाजिद खान -

Monday, June 1, 2020

नेक कार्य : जरूरतमन्दों के लिए हज़ारो मास्क बना चुकी है प्रवीण शर्मा -

Sunday, May 31, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या पहुँची 907, आज 158 कोरोना मरीज मिले -

Sunday, May 31, 2020

सोशल डिस्टन्सिंग के पालन से कोरोना जैसी बीमारी से बच सकते है : डाॅ अनिल चन्दोला -

Sunday, May 31, 2020

भारतीय रेलवे मानव रहित फाटक को करेगी समाप्त

रेलवे

रेलवे मंत्रालय मानव रहित फाटकों पर दुर्घटनाओं से होने वाली जान-माल की क्षति के प्रति चिंतित है और इन दुर्घटनाओं को रोकने के लिए भारतीय रेलवे प्रणाली में चरणबद्ध तरीके से सभी मानव रहित रेलवे फाटकों को समाप्त करने की एक व्यापक योजना पर कार्य कर रहा है। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने 2016-17 के दौरान अपने रेल बजट भाषण में “शून्य दुर्घटना अभियान” घोषणा की थी। यह कहा गया था कि भारतीय रेलवे अगले तीन चार वर्षों में ब्रॉड गेज लाइनों पर सभी मानव रहित फाटकों को समाप्त करेगा, जिसके लिए नई वित्त व्यवस्था विकसित की जा रही है। भारतीय रेलवे के अंतर्गत कुल मिलाकर 28,607 लेवल क्रॉसिंग्स हैं। इनमें से 19,267 लेवल क्रॉसिंग्स मानव द्वारा संचालित किए जाते हैं और 9,340 लेवल क्रॉसिंग्स मानव रहित है। मानव रहित कुल फाटकों में से करीब 6,388 लेवल क्रॉसिंग्स ब्रॉड गेज नेटवर्क पर हैं, जिन्हें समाप्त करने को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाएगी। शेष 2,952 मीटर गेज/नेरो गेज नेटवर्क पर विद्यमान है। भारतीय रेलवे ने पहले चरण के दौरान ब्रॉड गेज लाइन पर सभी मानव रहित फाटक हटाने का फैसला किया है। इसके लिए जिन मार्गों पर शून्य/नगण्य ट्रेन व्हीकल यूनिट (टीवीयू) हैं, उन्हें बंद करने का प्रस्ताव है। इसी प्रकार कुछ मानव सहित/मानव रहित स्तर के फाटक या भूमिगत/सड़क मार्ग/रोड ओवर ब्रिज (आरओबी) को आपस में मिलाने के प्रयास किए जाएंगे। वर्तमान कार्ययोजना में ब्रॉड गेज लाइन पर अगले तीन-चार वर्षों में सभी 6,352 लेवल क्रॉसिंग्स समाप्त करने का प्रस्ताव है। 2015-16 के दौरान रेलवे ने 1148 लेवल क्रॉसिंग्स और 1253 लेवल क्रॉसिंग्स समाप्त किए। रेलवे अपना लक्ष्य हासिल कर चुका है और अब 1440 लेवल क्रॉसिंग्स को समाप्त करने की योजना बना रहा है। इसके साथ ही भारतीय रेलवे ऐसी दुर्घटनाओं को रोकने के लिए व्यापक जागरूकता अभियान भी चला रहा है। इस अभियान में मानव रहित फाटकों के आसपास के क्षेत्रों में नुक्कड़ नाटकों का आयोजन, पर्चे बांटना और बड़े पैमाने पर एसएमएस अलर्ट भेजना जैसे जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं।

Leave A Comment