Breaking News:

हरेला पर कोसी नदी के पुनर्जीवन अभियान का सीएम त्रिवेंद्र ने किया शुभारम्भ -

Monday, July 16, 2018

क्रोएशिया को हरा फ्रांस 20 साल बाद बना चैंपियन -

Monday, July 16, 2018

मोहम्मद शहजाद बसपा से निष्कासित, जानिये खबर -

Monday, July 16, 2018

लकवाग्रस्त बीरा को हेल्पेज ने दिया सहारा, जानिये खबर -

Monday, July 16, 2018

रैंप वॉक कर मॉडल्स ने बिखेरे जलवे , जानिये खबर -

Monday, July 16, 2018

मैड के सदस्यों ने किया बाढ़ प्रभावित जगहों के निरक्षण के साथ मदद -

Monday, July 16, 2018

गरीबी से लड़कर अपना एक अलग मुकाम हासिल किया हिमा दास ने -

Sunday, July 15, 2018

विम्बलडन मैदान का एक बाज 10 साल से कर रहा निगरानी, जानिये खबर -

Sunday, July 15, 2018

ट्विंकल खन्ना के लिए अक्षय का ट्वीट मचा रहा धमाल -

Sunday, July 15, 2018

सबका साथ-सबका विकास की भावना ही सच्ची देशभक्ति : उपराष्ट्रपति -

Saturday, July 14, 2018

नाबालिगों से रेप मामले में मृत्युदंड कानून लाने पर सीएम का जताया आभार, जानिये खबर -

Saturday, July 14, 2018

जल्द बनेगा काशी स्मार्ट सिटी : मोदी -

Saturday, July 14, 2018

साहसिक खेलों से संबंधित उपकरणों की पर्यटन विभाग लगाएगा प्रदर्शनी -

Saturday, July 14, 2018

तीन अगस्त से दून में इडिया इंटरनेशनल फैशन डिजाइनर वीक -

Saturday, July 14, 2018

सीएम त्रिवेंद्र ने विकास कार्यों में तेजी लाने के दिए निर्देश -

Saturday, July 14, 2018

सेब की नई प्रजाति विकसित की, पौधे में एक वर्ष में ही शुरु हो जाता उत्पादन -

Saturday, July 14, 2018

स्कूल हो रोशन इस लिए बिजली विभाग के कर्मचारियों ने दिया एक दिन का वेतन , जानिए खबर -

Friday, July 13, 2018

किसानों को धान का मूल्य समय पर : त्रिवेन्द्र सिंह रावत -

Friday, July 13, 2018

मुझे रेस 3 में काम करने से रोका गया था : अनिल कपूर -

Friday, July 13, 2018

भारत में पाकिस्तानी रेसलर दिखाएँगे अपनी पहलवानी , जानिये खबर -

Friday, July 13, 2018

भारत की ‘‘लुक ईस्ट’’ और थाईलैण्ड की ‘‘लुक वेस्ट’’ नीति एक दूसरे की पूरक : सीएम

बैकाॅक / देहरादून | मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत आज  (बैकाॅक)थाईलैण्ड में भारत सरकार के सहयोग से थाईलैण्ड एवं उत्तराखण्ड सरकार द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित ‘‘‘इण्डिया योर डेस्टिनी, योर न्यू डेस्टिनेशन’’ (फोकस आॅन उत्तराखण्ड) को सम्बोधित किया। उन्होंने इस आयोजन केे लिये भारतीय राजदूत के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि थाईलैण्ड भारत के लिये बहुत महत्वपूर्ण है। मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र ने कहा कि वर्ष 2016 में थाई प्रधानमंत्री की भारत यात्रा के दौरान दोनों देश द्विपक्षीय सहयोग और व्यापार संवर्धन को मजबूत करने पर सहमत हुए थे। थाईलैण्ड भारत का एक विश्वसनीय और एक मूल्यवान दोस्त है और दक्षिण-पूर्व  एशिया में हमारे करीबी साझेदारों में से एक है।’’ दोनों देशों के बीच, लोगों के मध्य आपसी सम्बन्धों में प्रगाढ़ता आने से दस लाख से अधिक भारतीय प्रतिवर्ष थाईलैण्ड भ्रमण पर जा रहे है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत की ‘‘लुक ईस्ट’’ और थाईलैण्ड की ‘‘लुक वेस्ट’’ नीति एक दूसरे की पूरक है, जिसमें भारत और थाईलैण्ड द्विपक्षीय व्यापार को बढावा देने के लिये सहयोग हेतु संयुक्त रूप से काम कर रहे हैं। वास्तव में, इसके परिणामस्वरूप, भारत और थाईलैण्ड के बीच द्विपक्षीय व्यापार पिछले दशक में दोगुने से अधिक हो गया है और दोनों देशों के बीच के सम्बन्धों से कई क्षेत्रों में व्यापक विस्तार हुआ है। भारत में प्रधानमंत्री जी के दूरदर्शी नेतृत्व के तहत मजबूत सकारात्मक बदलाव की लहर देखी गयी है। आज, हमारा देश अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर रूपये 154.5 खरब की अर्थव्यवस्था के साथ खड़ा है, जो विश्व में भारत की सबसे तेजी से बढती अर्थव्यवस्था का प्रतीक है।  मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र ने कहा कि उत्तराखण्ड ने औद्योगिक नीति, स्टार्ट-अप पाॅलिसी और अन्य सेक्टर-विशिष्ट की नीतियों के माध्यम से नीतिगत पहल कर सरकार ने अपनी अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में निवेश का नियमित प्रवाह सुनिश्चित किया है। इन पहलों के परिणामस्वरूप उत्तराखण्ड के सकल राज्य घरेलू उत्पाद में 2004-05 से 2015-16 के बीच 16.03 प्रतिशत की एक समग्र वार्षिक वृद्वि दर से वृद्वि हुई है ।’’ईज आॅफ डुईग बिजनेस’’ इस प्रकार की एक और पहल है, जिसके परिणामस्वरूप भारत ने विश्व बैंक ग्लोबल ’’डुईग बिजनेस’’ रैंकिंग में 30 अंको की ऊंची छलांग लगाकर शीर्ष 100 देशों की सूची में अपना स्थान बनाया है। यह पहल राज्य स्तर पर भी कार्यान्वित की जा रही है, जिससे राज्यों के बीच एक स्वस्थ प्रतिस्पर्धा के साथ व्यवसाय को प्रारम्भ करने और उनके संचालन के लिये उपयुक्त वातावरण तैयार किया जा रहा है। मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह ने कहा कि अपनी उद्यमशीलता की भावना, नवीन दृष्टिकोण और एक स्थिर, सुलभ सरकार द्वारा संचालित उत्तराखण्ड विकास की ओर अग्रसर हो रहा है और भारत के सबसे प्रगतिशील राज्यों में से एक है, जिसमें एक जीवंत और उत्पादक औद्योगिक वातावरण, निवेशकों के अनुकूल नीतियों, उत्कृष्ट मानव संसाधन, गुणवत्तायुक्त बुनियादी ढांचा, अनुकूल श्रम कानून, पूरे वर्ष उत्कृष्ट मौसम और सामाजिक बुनियादी ढांचा निवेश के लिये मौजूद है।  उत्तराखण्ड दुर्लभ जैव विविधता से समृद्ध है और राज्य में 175 से अधिक दुर्लभ सुगन्धित और औषधीय पौध प्रजातियां पायी जाती है। राज्य में सभी प्रमुख जलवायु क्षेत्र हैं, जिससे बागवानी, पुष्पकृषि तथा कृषि के क्षेत्र में कई व्यवसायिक अवसरों के लिये इसे सक्षम बनाया जा सकता है। उत्तराखण्ड भारत के अग्रणी फलोत्पादक राज्यों में है। वर्तमान परिवेश में जबकि कई क्षेत्रों ने औद्योगिकरण की कीमत चुकायी है, किन्तु  उत्तराखण्ड ने अपने पर्यावरण के संरक्षण का ध्यान रखा है। उत्तराखण्ड की 70 प्रतिशत से अधिक भूमि वनों से आच्छादित है। उत्तराखण्ड राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के बहुत करीब है। शांत ओर शांतिपूर्ण  परिवेश में राज्य रोगियों के स्वास्थ्य संवर्धन के लिए राज्य को एक मेडिकल पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करना चाहता है। उत्तराखण्ड उत्कृष्ट शैक्षणिक केन्द्र के रूप में पहचाना जाता है और राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय कई शिक्षण संस्थान यहां है। यह सुनिश्चित करता है कि उद्योगों के लिए रोजगार हेतु राज्य में जनशक्ति तैयार करने के लिए पूर्ण संसाधन है। राज्य ने विश्व स्तरीय अवस्थापना सुविधाओं युक्त एकीकृत औद्योगिक आस्थानों को विकसित किया है।  मुख्यमंत्री ने कहा कि कारोबारी माहौल में सुधार के लिए राज्य में निवेशक-अनुकूल वातावरण तैयार किया गया है। राज्य की वर्तमान नीतियों को अन्य प्रदेशों, औद्योगिक संगठनों तथा उद्यमियों के सुझाव/परामर्श से उत्तराखण्ड के हित में तैयार किया गया है और यह राज्य सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। उत्तराखण्ड ने विकास और समृद्धि का रास्ता चुना है और हम समान लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिये उत्तराखण्ड में थाईलैण्ड की कम्पनियों से भागीदारी के लिए आग्रह करते हैं। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि उत्तराखण्ड में उपलब्ध विशाल अवसरों के उपयोग के लिए थाईलैण्ड की कम्पनियों उत्तराखण्ड में निवेश के लिये आगे आयेंगी। हमारा यह प्रयास थाईलैण्ड के निवेशको एवं उत्तराखण्ड राज्य दोनों के उज्ज्वल भविष्य के लिये उपयोगी होगा।

Leave A Comment