Breaking News:

उत्तराखंड बोर्ड के 10वीं और 12वीं के नतीजे आज आएंगे जानिए ख़बर -

Saturday, May 26, 2018

चार वर्षों में देश आर्थिक, सामाजिक समृद्धि एवं विकास की नई ऊँचाइयों को छुआ : सीएम -

Friday, May 25, 2018

हेमकुंड साहिब के कपाट खुले, यात्रा शुरू -

Friday, May 25, 2018

टिहरी महोत्सव का शुभारंभ, सीएम ने किया योजनाओं का शिलान्यास -

Friday, May 25, 2018

राम रहीम का केस लड़ेंगे तलवार दंपति को बरी कराने वाले वकील जानिए ख़बर -

Friday, May 25, 2018

मेजर गोगोई मामले में आर्मी चीफ ने दिए कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी के आदेश -

Friday, May 25, 2018

शक्ति पम्पस का इस वर्ष वित्तीय लाभ में हुआ बढ़ोत्तरी -

Friday, May 25, 2018

उत्तराखण्ड : सीएम ने प्रयोगशाला काॅम्पलेक्स का किया उद्घाटन -

Thursday, May 24, 2018

विराट कोहली ने मोदी को दिया फिटनेस चैलेंज, पीएम ने किया स्वीकार -

Thursday, May 24, 2018

फिल्म एप्रिसिएशन कोर्स हेतु आवेदन की तिथि हुई 30 मई, जानिए ख़बर -

Thursday, May 24, 2018

डोनाल्ड ट्रंप ने किम से होने वाली मुलाकात रद्द की जानिए ख़बर -

Thursday, May 24, 2018

सीएम त्रिवेंद्र ने उच्च स्तरीय कमेटी गठित करने के निर्देश दिए, जानिए खबर -

Thursday, May 24, 2018

फिल्म ‘स्टूडेंटऑफ द इयर 2’ का पहला पोस्टर रिलीज़ -

Thursday, May 24, 2018

एक साथ दो महिलाओं से शादी जानिए ख़बर -

Thursday, May 24, 2018

अगर तैयारी पूरी थी तो परिणाम क्यों नहीं, जानिए खबर -

Wednesday, May 23, 2018

देश मे तापमान 40 डिग्री के पार, उत्तराखण्ड में अलर्ट -

Wednesday, May 23, 2018

स्वरोजगार से लगेगा पलायन पर अंकुश : मुख्यमंत्री -

Wednesday, May 23, 2018

दिल्ली सरकार ने 575 निजी स्कूलों को दिया बढ़ी फीस वापस करने का आदेश -

Wednesday, May 23, 2018

पीएम द्वारा चारधाम महामार्ग विकास परियोजना के प्रगति की सराहना, जानिए ख़बर -

Wednesday, May 23, 2018

कुमारस्वामी बने कर्नाटक के सीएम, विपक्षी ने दिखाई एकता -

Wednesday, May 23, 2018

मत्स्य पालन में जागरूकता की कमी : सीएम

 

uk

देहरादून | मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने वीर शिरोमणि माधव सिंह भंडारी किसान भवन, देहरादून में विश्व मात्स्यिकी दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम का दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ किया। मत्स्य विभाग एवं मत्स्य पालकों को विश्व मात्स्यिकी दिवस की शुभकामनाएं देते हुए मुख्यeहै। उन्होंने कहा कि मछली पालन को मार्केटिंग की समस्या नहीं होती, और ना ही मूल्य की शिकायत होम eyती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मत्स्य पालन में जागरूकता की कमी के कारण हम आवश्यकता के अनुरूप उत्पादन नहीं कर पा रहे हैं। मत्स्य उत्पादन में लगे किसानों को उत्पादन बढ़ाने के लिए मत्स्य उत्पादन का ज्ञान बढ़ाने की आवश्यकता है। उन्होंने अध्ययन पर बल देते हुए कहा कि यदि हमारा किसान पढ़ा लिखा होगा, तो नई तकनीक का उपयोग कर अपने उत्पादन को बढ़ा सकेगा। उन्होंने कहा कि किसानों को इंटीग्रेटिड खेती करने की आवश्यकता है। यदि हम मत्स्य पालन के साथ बत्तख पालन को जोड़ दें तो इससे मछलियों को वन्य जीवों से सुरक्षा एवं चारा दोनों उपलब्ध होगा, साथी बतख के अंडे से कमाई के स्रोतों में वृद्धि होगी। मत्स्य पालन के प्रशिक्षण के लिए रिफ्रेशर कोर्स भी चलाए जाने चाहिए। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर मत्स्य पालन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले कृषकों को सम्मानित भी किया। मुख्यमंत्री ने चयनित मत्स्य पालकों को इंसुलेटेड वैन, मोबाइल फिश आउटलेट एवं आईसबाॅक्स से लैस मोटरबाइक भी वितरित की। राज्यमंत्री(स्वतंत्र प्रभार) रेखा आर्या ने कहा कि मछली पालन जहां किसानों के लिए लाभप्रद व्यवसाय है, वही स्वास्थ्य के लिए भी लाभप्रद है। पर्वतीय क्षेत्रों में इसके प्रति उदासीनता को समाप्त किया जाना चाहिए। यह कम लागत में अधिक मुनाफा वाला कार्य है। इससे रोजगार भी उपलब्ध होगा। इस अवसर पर सचिव मत्स्य आर.मीनाक्षी सुंदरम एवं निदेशक यूसर्क दुर्गेश पंत भी उपस्थित थे।

Leave A Comment