Breaking News:

उत्तराखण्ड: बारिश और बर्फबारी से जनजीवन अस्त-व्यस्त, जानिए खबर -

Friday, December 13, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने भोजपुरी फिल्म ‘‘जान’’ का मुहुर्त शाॅट लिया -

Friday, December 13, 2019

प्रशासन सख्त : खनन पर बड़ी कार्यवाही -

Friday, December 13, 2019

हाईकोर्ट के आदेश के बाद मिला मृतक शिक्षक की पत्नी को मुआवजा, जानिए खबर -

Friday, December 13, 2019

परमार्थ निकेतन : एक महीने तक चले योग प्रशिक्षण शिविर का समापन -

Thursday, December 12, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने किया “दून हाट” का लोकार्पण, जानिए खबर -

Thursday, December 12, 2019

उत्तराखंड : पहाड़ों पर बर्फबारी, मैदानी इलाकों में बारिश से बढ़ी ठंड -

Thursday, December 12, 2019

हरिद्वार महाकुम्भ : सीएम ने ली अधिकारियों व संतों की बैठक -

Thursday, December 12, 2019

उत्तराखंड शासन : आयोजनऔर बैठकों में सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल न हो -

Thursday, December 12, 2019

रणजी ट्रॉफीः जम्मू कश्मीर ने 253 रनों से जीता पहला मुकाबला -

Wednesday, December 11, 2019

कार और बोलेरो गहरी खाई में गिरने से मामा-भांजे समेत दो की मौत -

Wednesday, December 11, 2019

कैग रिपोर्ट : अनियमितता करने वाले नहीं बख्शे जाएगा -

Wednesday, December 11, 2019

नवनिर्मित दून हाट का सीएम त्रिवेंद्र कल करेंगे लोकार्पण, जानिए खबर -

Wednesday, December 11, 2019

मंत्रियों को दिया जा रहा विधानसभा मे ई-कैबिनेट का प्रशिक्षण -

Wednesday, December 11, 2019

नैनी झीलः जल स्तर छह फीट नीचे पहुंचा -

Tuesday, December 10, 2019

राशन कार्ड बनवाने में नई गाइडलाइन जारी, जानिए खबर -

Tuesday, December 10, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने 38 करोड़ 99 लाख रूपए की धनराशि स्वीकृत किए जाने का किया अनुरोध, जानिए खबर -

Tuesday, December 10, 2019

रायपुर : एक और गैंग रेप -

Tuesday, December 10, 2019

राष्ट्रीय राइफल शूटिंग प्रतियोगिता में क्वालीफाई कर कुंवर आदित्य ने बढ़ाया राज्य का गौरव -

Tuesday, December 10, 2019

वरिष्ठ पत्रकार का शव बरामद, जानिए खबर -

Monday, December 9, 2019

मनोरंजन सेवाओं पर कर का बोझ हुआ कम

GST

इनपुट और इनपुट सेवाओं से जुड़े भुगतान किए गए जीएसटी का पूर्ण इनपुट टैक्‍स क्रेडिट (आईटीसी) के लिए सेवा प्रदाता पात्र होंगे पंचायत या नगरपालिका द्वारा लगाए गए मनोरंजन करों को छोड़कर वस्‍तु और सेवा (जीएसटी) कर के तहत मनोरंजन (संविधान की राज्य सूची की 62 प्रविष्टि द्वारा कवर किए गए) पर लगने वाले विभिन्‍न करों को सम्मिलित किया गया है। सिनेमा घरों में मनोरंजन करने या फिल्मों के छायांकन देखने के लिए सेवाओं पर जीएसटी परिषद द्वारा अनुमोदित जीएसटी की दर 28 प्रतिशत है। हालांकि, वर्तमान में कुछ राज्यों द्वारा लगाए गए थियेटर/सिनेमा हॉल में सिनेमाटोग्राफ़ी फिल्मों के प्रदर्शन के संबंध में मनोरंजन कर की दर शत प्रतिशत तक है। कई राज्यों में केबल टीवी और डायरेक्ट-टू-होम (डीटीएच) पर मनोरंजन कर की दर 10 -30 प्रतिशत तक है। इसके अलावा 15 प्रतिशत की दर से सेवा कर भी लगाया जाता है। इसके विपरीत इन सेवाओं पर जीएसटी परिषद द्वारा अनुमोदित जीएसटी की दर 18 प्रतिशत है। जीएसटी परिषद द्वारा सर्कस, थियेटर, लोक नृत्य और नाटक सहित भारतीय शास्त्रीय नृत्य देखने के लिए 18 प्रतिशत यथा मूल्‍य शुल्‍क है। इसके अलावा, जीएसटी परिषद ने 250 रुपये प्रति व्यक्ति तक के प्रवेश पर छूट देने को मंजूरी दे दी है। इन सेवाओं पर वर्तमान में राज्यों द्वारा मनोरंजन कर लगाया जाता है। इस प्रकार जीएसटी के तहत मनोरंजन सेवाओं पर कम कर लगेगा। जीएसटी की कम दरों के शीर्षक का लाभ लेने के अतिरिक्त सेवा प्रदाता इनपुट और इनपुट सेवाओं से जुड़े जीएसटी के पूर्ण इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) के लिए पात्र होंगे। वर्तमान में ऐसे सेवा प्रदाता घरेलू पूंजीगत वस्तुओं पर भुगतान किए गए वैट और आयातित पूंजीगत सामान तथा इनपुट पर इनपुट या विशेष अतिरिक्त शुल्‍क (एसएडी) के संबंध में इनपुट क्रेडिट का लाभ लेने के पात्र नहीं हैं। इस प्रकार जबकि जीएसटी एक मूल्य संवर्धित कर है वहीं मनोरंजन कर वर्तमान में राज्यों द्वारा लगाए गए कुल बिक्री कर की तरह है।

Leave A Comment