Breaking News:

बुजुर्गो से ठगी करने वाला गिरफ्तार , जानिए खबर -

Tuesday, November 12, 2019

फीस वृद्धि के खिलाफ आयुष छात्रों का आंदोलन जारी -

Tuesday, November 12, 2019

धूमधाम से मनाया गया 550वां प्रकाशोत्सव -

Tuesday, November 12, 2019

पिथौरागढ़ में भूकंप के झटके, जानिए खबर -

Tuesday, November 12, 2019

बचपन की कुछ बातें और उनसे जुडी कुछ यादें….. -

Tuesday, November 12, 2019

प्रकाशपर्व: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने मत्था टेक प्रदेश की खुशहाली की कामना की -

Tuesday, November 12, 2019

उत्तराखण्ड: सीएम को फोन पर धमकी देने वाला आरोपी गिरफ्तार -

Monday, November 11, 2019

छात्रो ने फैशन शो में पेश किया नया क्लेक्शन -

Monday, November 11, 2019

पौड़ी के विकास में सीता माता सर्किट होगा मील का पत्थर साबित : सीएम -

Monday, November 11, 2019

सिन्मिट कम्युनिकेशन्स द्वारा मिस टैलेंटेड का आयोजन -

Monday, November 11, 2019

सीएम त्रिवेंद्र 550वें प्रकाश उत्सव एवं कार्तिक पूर्णिमा पर प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं -

Monday, November 11, 2019

शहर के इस हालात पर अवैध टैक्सी स्टैंड जिम्मेदार, जानिए खबर -

Sunday, November 10, 2019

एक दिसम्बर को केंद्रीय कूर्मांचल परिषद का द्विवार्षिक चुनाव -

Sunday, November 10, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने फिल्म “शुभ निकाह” का मुहूर्त शॉट लिया -

Sunday, November 10, 2019

पौड़ी सांसद तीरथ सिंह रावत घायल, ऋषिकेश एम्स में भर्ती -

Sunday, November 10, 2019

डीएम सविन बंसल की एक पहलः स्कूूली बच्चों को सिखा रहे चित्रकारी -

Sunday, November 10, 2019

रास्ते में पड़े सिंगल यूज प्लास्टिक को भी उठाएं: सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, November 10, 2019

IPL-2020 : तीन नए शहर होगे सकते है शामिल , जानिए खबर -

Saturday, November 9, 2019

उत्तराखंड सैन्यधाम और विद्याधाम भी : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह -

Saturday, November 9, 2019

आयुष्मान की सबसे बड़ी ओपनर बनी ‘बाला’, जानिए खबर -

Saturday, November 9, 2019

महिलाये भी कांवड भक्त, जानिये खबर

kavad

रुड़की। पुरुषो की तरह महिलाये भी कांवड़ यात्रा में निकल पड़ी है जी हां वक्त के हिसाब से महिलाओं और बच्चों की संख्या भी बीते वर्षों की अपेक्षा कईं गुना अधिक देखने को मिल रही है। कोई अपनी गोद में नन्हें शिशु को लिए, कोई उन्हें अपनी पीठ पर बांधकर तो कोई बच्चों को पालने में लिटाकर निज शिवालयों की और प्रस्थान कर रही हैं। वहीं दूसरी ओर शिवभक्ति के साथ-साथ देशभक्ति की भावना भी कांवड़ियों में देखने को मिल रही है। कांवड़िये गंगाजल के साथ देश के तिरंगों को भी हाथों में लिए हुए देशभक्ति की मिसाल दे रहे हैं। कांवड़ यात्रा पूरे वैभव पर है चारों ओर जय भोले जय भोले का उद्घोष हो रहा है। सड़क से लेकर घर के आंगन तक। सरकारी कार्यालयों से लेकर स्कूलों तक में शिव भक्त वास कर रहे हैं। हरिद्वार की ओर से गंगाजल लेकर आ रहे शिव भक्तों किसी के हाथों में भारत के गौरव का प्रतीक तिरंगा तो कोई भारत माता की झांकी के साथ आगे बढ़ रहा है। प्रत्येक राष्ट्रभक्त का सीना तन रहा है। वह जय भोले के उद्घोष के साथ एक नारा जय हिंद का भी लग रहा है। कांवड़ यात्रा किसी भी तरह से प्रभावित नहीं होगी और कांवड़ियों की संख्या में कोई खास इजाफा नहीं होगा, ऐसा प्रशासन का मानना था। कांवड़ियों की संख्या में हो रही वृद्धि इस बात का जीता जागता सबूत है, कि बम भोले के भक्तों की आस्था भारी पड़ रही है हर किसी पर। उनके बढ़ते कदमों को रोक पाना प्रशासन ही नहीं बल्कि किसी ऐसी मान्यता के भी बस की बात नहीं जो शिव की भक्ति में रूकावट पैदा कर सके। उत्तरी भारत के अनेक प्रांतों से आ रहे कांवड़ियों ने शहर के वातावरण को बिल्कुल परिवर्तित करके रख दिया है। जिस तरफ देखों बस शिव के भक्तों की टोलियां ही दिखाई देती हैं। भोले के रंग में रंगी टोली कहीं भोले की भक्ति की धुनों में डीजे पर नाचती-गाती और थिरकती हुई दिखाई दे रही हैं, तो कहीं भक्ति के नशे में चूर हंसते-गाते धूम मचाते कांवड़ियों के अजब-गजब नजारे शहर को शिवमय बना रहे हैं। कोई बड़े-बड़े चैपहिया वाहनों को पालकी की भांति सजाकर लाखों की लागत से कांवड़ ला रहा है, तो कोई नरमुंड़ों की भांति कैनियों में गंगाजल भरकर अपने गले में माला सी लटकाकर अपने गंतव्य की ओर बढ़ रहा है।

Leave A Comment