Breaking News:

श्री विश्वनाथ मां जगदीशिला डोली के आयोजन स्थलों पर पौधारोपण होगा : नैथानी -

Friday, May 29, 2020

हरेला पर 16 जुलाई को वृहद स्तर पर पौधारोपण किया जाएगाः सीएम -

Friday, May 29, 2020

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन -

Friday, May 29, 2020

ज्योतिषी बेजन दारूवाला का निधन -

Friday, May 29, 2020

ब्लैकमेल : न्यूज़ पोर्टल संचालक हुआ गिरफ्तार -

Friday, May 29, 2020

कोरोना का कोहराम : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 716, आज सबसे अधिक 216 मरीज मिले -

Friday, May 29, 2020

उत्तराखंड : उत्तराखंड में कोरोना मरीजों की संख्या हुई 602 , देहरादून में आज आये 54 नए मामले -

Friday, May 29, 2020

उत्तराखंड : दुकान खुलने का समय प्रातः 7 बजे से सांय 7 बजे तक हुआ -

Thursday, May 28, 2020

कोरोना कहर : उत्तराखंड में कोरोना मरीजों की संख्या पहुँची 500 -

Thursday, May 28, 2020

टीवी अभिनेत्री का सड़क हादसे में हुई मौत -

Thursday, May 28, 2020

बिहार की बेटी ज्योति के मुरीद हुए विदेशी भी, जानिए खबर -

Thursday, May 28, 2020

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना’’ का शुभारंभ हुआ -

Thursday, May 28, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 493 -

Thursday, May 28, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री राहत कोष में आज यह दिए दान, जानिए खबर -

Wednesday, May 27, 2020

देहरादून से विशेष ट्रेन द्वारा हज़ारो मजदूर बिहार एंव उत्तर प्रदेश के लिए रवाना, जानिए खबर -

Wednesday, May 27, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 469, आज 69 मरीज मिले कोरोना के -

Wednesday, May 27, 2020

ऋषिकेश-धरासू हाइवे पर 440 मीटर लंबी टनल हुई तैयार, सीएम त्रिवेंद्र ने जताया आभार -

Wednesday, May 27, 2020

कोरोना का कहर : उत्तराखंड में कोरोना मरीज हुए 438 -

Wednesday, May 27, 2020

उत्तराखंड : राज्य में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 401 -

Tuesday, May 26, 2020

“आप” पार्टी से जुड़े कई लोग, जानिए खबर -

Tuesday, May 26, 2020

महिलाये भी कांवड भक्त, जानिये खबर

kavad

रुड़की। पुरुषो की तरह महिलाये भी कांवड़ यात्रा में निकल पड़ी है जी हां वक्त के हिसाब से महिलाओं और बच्चों की संख्या भी बीते वर्षों की अपेक्षा कईं गुना अधिक देखने को मिल रही है। कोई अपनी गोद में नन्हें शिशु को लिए, कोई उन्हें अपनी पीठ पर बांधकर तो कोई बच्चों को पालने में लिटाकर निज शिवालयों की और प्रस्थान कर रही हैं। वहीं दूसरी ओर शिवभक्ति के साथ-साथ देशभक्ति की भावना भी कांवड़ियों में देखने को मिल रही है। कांवड़िये गंगाजल के साथ देश के तिरंगों को भी हाथों में लिए हुए देशभक्ति की मिसाल दे रहे हैं। कांवड़ यात्रा पूरे वैभव पर है चारों ओर जय भोले जय भोले का उद्घोष हो रहा है। सड़क से लेकर घर के आंगन तक। सरकारी कार्यालयों से लेकर स्कूलों तक में शिव भक्त वास कर रहे हैं। हरिद्वार की ओर से गंगाजल लेकर आ रहे शिव भक्तों किसी के हाथों में भारत के गौरव का प्रतीक तिरंगा तो कोई भारत माता की झांकी के साथ आगे बढ़ रहा है। प्रत्येक राष्ट्रभक्त का सीना तन रहा है। वह जय भोले के उद्घोष के साथ एक नारा जय हिंद का भी लग रहा है। कांवड़ यात्रा किसी भी तरह से प्रभावित नहीं होगी और कांवड़ियों की संख्या में कोई खास इजाफा नहीं होगा, ऐसा प्रशासन का मानना था। कांवड़ियों की संख्या में हो रही वृद्धि इस बात का जीता जागता सबूत है, कि बम भोले के भक्तों की आस्था भारी पड़ रही है हर किसी पर। उनके बढ़ते कदमों को रोक पाना प्रशासन ही नहीं बल्कि किसी ऐसी मान्यता के भी बस की बात नहीं जो शिव की भक्ति में रूकावट पैदा कर सके। उत्तरी भारत के अनेक प्रांतों से आ रहे कांवड़ियों ने शहर के वातावरण को बिल्कुल परिवर्तित करके रख दिया है। जिस तरफ देखों बस शिव के भक्तों की टोलियां ही दिखाई देती हैं। भोले के रंग में रंगी टोली कहीं भोले की भक्ति की धुनों में डीजे पर नाचती-गाती और थिरकती हुई दिखाई दे रही हैं, तो कहीं भक्ति के नशे में चूर हंसते-गाते धूम मचाते कांवड़ियों के अजब-गजब नजारे शहर को शिवमय बना रहे हैं। कोई बड़े-बड़े चैपहिया वाहनों को पालकी की भांति सजाकर लाखों की लागत से कांवड़ ला रहा है, तो कोई नरमुंड़ों की भांति कैनियों में गंगाजल भरकर अपने गले में माला सी लटकाकर अपने गंतव्य की ओर बढ़ रहा है।

Leave A Comment