Breaking News:

छत्तीसगढ़ में नक्सली हमला, आईईडी ब्लास्ट में 6 जवान शहीद -

Sunday, May 20, 2018

रोजा तोड़कर बचाई जान जानिए ख़बर -

Sunday, May 20, 2018

आने वाली पीढ़ियों के लिये रिस्पना को बचाने का प्रयास : सीएम -

Saturday, May 19, 2018

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर प्लेऑफ की दौड़ से बाहर जानिए ख़बर -

Saturday, May 19, 2018

मुख्यमंत्री मोबाइल एप पर शिकायत और मैड मल्ला और तल्ला गाँव के लिए पहुंचा पीने का पानी। -

Saturday, May 19, 2018

फिल्म ‘लस्ट स्टोरीज’ का ट्रेलर हुआ रिलीज -

Saturday, May 19, 2018

पीएम मोदी ने जोजिला सुरंग का किया शिलान्यास, एशिया की सबसे लंबी सुरंग -

Saturday, May 19, 2018

अफगानिस्तान की क्रिकेट टीम देहरादून पहुंची, तीन जून को पहला मैच -

Saturday, May 19, 2018

उत्तराखण्ड में विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की अपार सम्भावनाएं : अनूप -

Friday, May 18, 2018

कल श्रीनगर जाएंगे पीएम मोदी -

Friday, May 18, 2018

रिस्पना नदी के पुनर्जीवीकरण हेतु अभियान में सभी दे साथ : सीएम -

Friday, May 18, 2018

कीर्ति व कृष्णा बने मिस्टर एंड मिस नाॅर्थ इंडिया ग्लैम हंट -

Friday, May 18, 2018

चार धाम ऑल वेदर रोड निर्माण कार्यो की हुई समीक्षा -

Friday, May 18, 2018

फिल्म ‘नक्काश’ का पोस्टर लॉन्च -

Friday, May 18, 2018

येदियुरप्पा कल साबित करेंगे बहुमत -

Friday, May 18, 2018

हक की लड़ाई : शीला रावत के समर्थन में अनेक समाजिक एवम राजनीतिक संगठन आये आगे -

Thursday, May 17, 2018

मिशन रिस्पना सरकारी आयोजन नही बल्कि महा जन अभियान है : सीएम -

Thursday, May 17, 2018

केदारनाथ धाम का लेजर शो अब दूरदर्शन पर भी जानिए ख़बर -

Thursday, May 17, 2018

येदियुरप्पा ने ली कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ -

Thursday, May 17, 2018

फिल्मों की शूटिंग की अपार संभावनाएं उत्तराखण्ड में : रमेश सिप्पी -

Thursday, May 17, 2018

महिला दिवस पर राज्यसभा में दिखाई दी अद्भुत एकता

rajiya sabha

राज्यसभा में पार्टी लाइन से ऊपर उठकर गुरुवार को महिला सांसदों ने महिलाओं पर हो रहे अपराधों पर चिंता जताई। साथ ही संसद और राज्य विधानमंडलों में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण का विधेयक पारित किए जाने पर जोर दिया। चालू सत्र में लगातार हंगामे और छींटाकसी की शिकार रही राज्यसभा में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिलाओं के अधिकार को लेकर अद्भुत एकजुटता देखने को मिली। सदन में कामकाज की शुरुआत करते हुए सभापति एम वेंकैया नायडू ने महिला दिवस का जिक्र किया और कहा कि इस समय पूरा विश्व महिलाओं की उपलब्धियों को याद कर रहा है। इसलिए हमें भी महिला सशक्तीकरण और लैंगिक भेदभाव से ऊपर उठकर कार्य करने की जरूरत है। देश को तेज तरक्की की राह पर ले जाने के लिए महिलाओं को सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक क्षेत्रों में ताकत मिलनी चाहिए। इसके लिए उन्हें संसद और विधानमंडलों में आरक्षण मिलना चाहिए। महिला आरक्षण विधेयक के अनुसार लोकसभा और राज्य विधानसभाओं में एक तिहाई सीट महिलाओं के लिए आरक्षित होंगी। यह विधेयक मार्च 2010 में राज्यसभा पारित कर चुकी है लेकिन लोकसभा में यह अभी लंबित है। सभापति के बोलने के बाद विभिन्न दलों की महिला सांसदों ने आरक्षण व सशक्तीकरण के अन्य मुद्दों पर बोलना शुरू किया। सभी का जोर महिला आरक्षण विधेयक के संसद से जल्द पारित होने पर था। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा, उन्होंने महिलाओं को आरक्षण देने के प्रस्ताव के समर्थन में वोट डाला था। वह आज भी इस विधेयक के पूर्ण समर्थन में हैं। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि कई उपलब्धियां हासिल करने के बावजूद महिलाओं के साथ कई क्षेत्रों में अन्याय हो रहा है, जो शर्मनाक है। महिला दिवस पर हम शपथ लें कि महिलाओं के साथ होने वाले अन्याय और उनकी पीड़ा को बर्दाश्त नहीं करेंगे। सुषमा ने सामाजिक बदलाव के लिए जन आंदोलन चलाने का आह्वान किया।

Leave A Comment