Breaking News:

उत्तराखंड को 18 साल बाद बीसीसीआइ से मिली मान्यता जानिए ख़बर -

Tuesday, June 19, 2018

सीएम से पांच देशों की सागर परिक्रमा पूर्ण करने वाली लेफ्टिनेंट कमाण्डर वर्तिका एवम उनकी टीम ने की भेंटवार्ता -

Tuesday, June 19, 2018

देवभूमि से एक और लाल हुआ शहीद, जानिए ख़बर -

Tuesday, June 19, 2018

महिला अधिकारी योग के प्रति की जन जागरुकता -

Tuesday, June 19, 2018

पेट्रोल, डीजल पर उत्पाद शुल्क में कटौती की संभावना को अरुण जेटली ने किया खारिज -

Tuesday, June 19, 2018

मुख्यमंत्री ने शहीद जवान विकास गुरूंग को श्रद्धांजलि दी -

Monday, June 18, 2018

सत्येंद्र जैन और मनीष सिसोदिया की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती -

Monday, June 18, 2018

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र से केन्द्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री रामकृपाल यादव ने की शिष्टाचार भेंट -

Monday, June 18, 2018

आयरनमैन बनाम अल्ट्रामैन जानिए ख़बर -

Monday, June 18, 2018

आॅडिशन में प्रतिभागियों ने बिखेरे जलवे, जानिए ख़बर -

Monday, June 18, 2018

मैड संस्था ने चलाया सफाई अभियान, जानिए ख़बर -

Monday, June 18, 2018

मैक्सिको ने गत चैंपियन जर्मनी को 1-0 से हराया जानिए ख़बर -

Monday, June 18, 2018

इस देश में फेसबुक, वॉट्सएेप, ट्विटर चलाने पर देना होगा टैक्स जानिए ख़बर -

Monday, June 18, 2018

उत्तराखण्ड न्यू-इंडिया में महत्वपूर्ण भागीदारी के लिए संकल्पबद्ध : मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र -

Sunday, June 17, 2018

छोटे-छोटे प्रयास लाता है बड़ा परिणाम : हरक सिंह रावत -

Sunday, June 17, 2018

केजरीवाल के समर्थन में आए ममता बनर्जी सहित चार राज्यों के मुख्यमंत्रियों जानिए ख़बर -

Sunday, June 17, 2018

एक मिस कॉल, और डांस की सबसे ऊंची सीढ़ी, जानिए ख़बर -

Sunday, June 17, 2018

अक्षय कुमार की फिल्म गोल्ड’ का नया टीजर रिलीज -

Sunday, June 17, 2018

प्रदूषण रोकने के लिए क्या किया? : दिल्ली हाईकोर्ट -

Sunday, June 17, 2018

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र व मंत्रियों ने किया वाॅक फाॅर योग, जानिए ख़बर -

Saturday, June 16, 2018

महिला ने डीजीपी पर लगाया यौन शोषण का आरोप

uk

देहरादून। रेलवे की एक पूर्व महिला कर्मचारी ने उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक बीएस सिद्धू पर यौन शोषण का आरोप लगाया है। उसका कहना है कि वह इस मामले में एफआईआर दर्ज कराने के लिए पिछले 12 वर्षों से कोशिश कर रही है लेकिन बीएस सिद्धू के दबाव में उसकी एफआईआर दर्ज नहीं हुई। उसने अपने को बीएस सिद्धू से खतरा भी बताया। उत्तराँचल प्रेस क्लब में आयोजित पत्रकार वार्ता में यशोवन टावर टीएच कटारिया मार्ग माहिम वेस्ट मुंबई निवासी एक महिला ने बताया कि वह 2004 में रेवले मुंबई में तैनात थी। उसने बताया कि उस समय उत्तराखंड के मौजूदा डीजीपी बीएस सिद्धू डेप्यूटेशन पर आरपीएफ में मुम्बई आए थे। उसने आरोप लगाया कि एक दिन उन्होंने उसे अपने केबिन में बुलावाया, जब वह उनके कमरे में गई तो बीएस सिद्धू कंप्यूटर पर अश्लील फिल्म देख रहे थे और उन्होंने मुझे भी इस फिल्म देखने का इशारा करते हुए अपने करीब आने और डीनर पर साथ चलने को कहा। महिला ने कहा कि वह यह सब देख और सुनकर भौंचकी रह गई और उन्हें लताड़ते हुए उस कमरे से बाहर जाने लगी तो उसे रोक लिया और कहा कि किसी को कुछ पता नहीं चलेगा, जैसा तुम चाहोगी वैसा ही होगा। महिला का कहना है कि वह हिम्मत कर सिद्धू को धकियाते हुए कमरे से बाहर आ गई, आफिस के लोग बाहर खड़े होकर सब तमाशा देख रहे थे। उसका कहना है कि बीएस सिद्धू के डिनर के प्रस्ताव को जब ठुकरा दिया और साथ जाने से मना कर दिया तो उसी दिन से उसका मानसिक उत्पीड़न शुरु हो गया। उसका मुंबई से पूना तबादला कर दिया गया, इस दौरान उसने बीएस सिद्धू के द्वारा किए गए यौन शोषण, मानसिक उत्पीड़न के विरुद्ध जगह-जगह उच्चाधिकारियों को शिकायती पत्र प्रेषित किए। उसका कहना है कि सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन विशाखा बनाम भारत सरकार के निर्देशानुसार बीएस सिद्धू ने अपने पद से जूनियर अधिकारियों की एक जांच कमेटी को आधार बनाकर सर्विस से उसे बर्खास्त कर दिया। उसका कहना है कि जांच कमेटी बीएस सिद्धू से उच्चाधिकारियों की बननी चाहिए थी, लेकिन सिद्धू द्वारा अपने से कनिष्ठ अधिकारियों की जांच कमेटी बनाई गई। उसका कहना है कि बीएस सिद्धू उच्च पद पर आसिन थे, इसलिए उनके दबाव में उसकी रिपोर्ट भी थाने में नहीं लिखी गई।

Leave A Comment