Breaking News:

सराहनीय पहल : एक ट्वीट से अपनों के बीच घर पहुंचा मानसिक दिव्यांग मनोज -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1043 -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में करें अब आनलाईन आवेदन -

Tuesday, June 2, 2020

10 वर्षीय आन्या ने अपने गुल्लक के पैसे देकर मजदूर का किया मदद -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 999 हुई, 243 मरीज हुए ठीक -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 958 -

Monday, June 1, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या 929 हुई, चम्पावत में 15 नए मामले मिले -

Monday, June 1, 2020

जागरूकता: तंबाकू छोड़ने की जागरूकता के लिए स्वयं तत्पर होना जरूरी -

Monday, June 1, 2020

मदद : गांव के छोटे बच्चों को पढ़ा रही भावना -

Monday, June 1, 2020

नही रहे मशहूर संगीतकार वाजिद खान -

Monday, June 1, 2020

नेक कार्य : जरूरतमन्दों के लिए हज़ारो मास्क बना चुकी है प्रवीण शर्मा -

Sunday, May 31, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या पहुँची 907, आज 158 कोरोना मरीज मिले -

Sunday, May 31, 2020

सोशल डिस्टन्सिंग के पालन से कोरोना जैसी बीमारी से बच सकते है : डाॅ अनिल चन्दोला -

Sunday, May 31, 2020

कोरोंना से बचे : उत्तराखंड में मरीजो की संख्या 802 हुई -

Sunday, May 31, 2020

उत्तराखंड : 1152 लोगों को दून से विशेष ट्रेन से बेतिया बिहार भेजा गया -

Sunday, May 31, 2020

पूर्व सीएम हरीश रावत ने किया जनता से संवाद, जानिए खबर -

Sunday, May 31, 2020

प्रदेश में खेती को व्यावसायिक सोच के साथ करने की आवश्यकताः सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, May 31, 2020

अनलॉक के रूप में लॉकडाउन , जानिए खबर -

Saturday, May 30, 2020

कोरोना का कोहराम : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 749 -

Saturday, May 30, 2020

रहा है भारतीय पत्रकारिता का अपना एक गौरवशाली इतिहास -

Saturday, May 30, 2020

मुंबई के एक शख्स ने एक ही लड़की की दो बार बचाई जान , जानिए खबर

pehchan

मुंबई | आज के तेजी से भागते मुंबई शहर में किसी के पास दूसरों के लिए वक्त नहीं होता लेकिन सैयद नासिर हुसैन ने इस बात को गलत साबित कर दिया। उन्होंने सोमवार को एक छात्रा की जान एक नहीं बल्कि दो बार बचाकर इस बात की मिसाल कायम कर दी कि अगर इंसानियत हो तो समय या कोई और बाधा नहीं आती। देवनार के रहने वाले हुसैन सोमवार को रात 8:30 बजे घर जाने के लिए निकले तो उन्होंने देखा कि अच्छे कपड़े पहने लड़की बिना चप्पलों के पुल पर चल रही है। इससे पहले वह दो और लड़कियों को पुल पर से कूदने की कोशिश करते हुए देख उन्हें बचा चुके थे। इस बार फिर उन्होंने लड़की को रेलिंग पर चढ़ते देखा। उन्होंने फौरन अपनी बाइक छोड़ी और लड़की को पकड़ लिया। उन्होंने काफी देर लड़की से बात की तो पता चला कि बॉयफ्रेंड से धोखा खाकर लड़की ने आत्महत्या करने का फैसला कर चुकी थी। हुसैन ने लड़की को समझाया की आपको आत्मविश्वास से भरी हुई महिला के रूप में बढ़ना चाहिए जिसकी दुनिया किसी धोखेबाज आदमी की वजह खत्म नहीं होनी चाहिए । ओर हुसैन ने किसी तरह उससे उसके घर का पता हासिल किया और रात करीब 12 बजे वह उसे घर छोड़ने गए। घर पर लड़की के माता-पिता नहीं थे तो उन्होंने पड़ोसियों से लड़की का ध्यान रखने के लिए कहा। लड़की अपने घर में चली गई और हुसैन भी वहां से चले आए। रास्ते में उन्हें लगा कि उन्होंने लड़की को घर पर अकेला छोड़कर ठीक नहीं किया। उन्हें लगा कि लड़की फिर से खुद को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर सकती है। उन्होंने फौरन बाइक घुमाई और वापस लड़की के घर पहुंच गए। वहीं पहुंचकर उन्होंने देखा कि लड़की ने फांसी लगा ली है। उन्होंने पड़ोसियों की मदद से दरवाजा तोड़कर फौरन उसे उतारा। उसे पहले शताब्दी अस्पताल और फिर सायन ले जाया गया। फिलहाल वह खतरे से बाहर है।

Leave A Comment