Breaking News:

दिव्यांग खिलाड़ियों का क्रिकेट टूर्नामेंट के लिए हुआ चयन -

Tuesday, January 23, 2018

हक की लड़ाई : रश्मि सिंह बैठी भूख हड़ताल पर, जानिए खबर -

Tuesday, January 23, 2018

विशाल कुमार नहीं है आप के सदस्य, भाजपा गुमराह न करे : विशाल चौधरी -

Tuesday, January 23, 2018

अच्छे लोग राजनीति में जरूर आए : त्रिवेन्द्र सिंह रावत -

Tuesday, January 23, 2018

25 जनवरी मतलब “राष्ट्रीय मतदाता दिवस” …. -

Tuesday, January 23, 2018

JIO : एक साल के लिए फ्री सर्विस -

Monday, January 22, 2018

नई ‘कुतुब मीनार’ कचरे से हुई तैयार, जानिए खबर -

Monday, January 22, 2018

उत्तराखंड राज्य को सांस्कृतिक दल का पुरस्कार -

Monday, January 22, 2018

समाज के लिए कार्य करना एक चुनौती,इस चुनौती को करें स्वीकार : मदन कौशिक -

Monday, January 22, 2018

समाजिक कार्य के योगदान पर समाजसेवी हुए सम्मानित -

Monday, January 22, 2018

पासपोर्ट बनवाने वालो के लिए आई यह खबर … -

Sunday, January 21, 2018

“आप” के समर्थन में विपक्ष हुआ एकजुट -

Sunday, January 21, 2018

ब्लाइंड क्रिकेट वर्ल्ड कप जीता भारत -

Sunday, January 21, 2018

सुपर डांसर्स शो : दून क्लेमेनटाउन निवासी आकाश थापा को जरूरत वोट की -

Saturday, January 20, 2018

डीएम ईवा ने सुनीं जनसमस्याएं -

Saturday, January 20, 2018

आइडिया के अनलिमिटेड रिचार्ज पर पाएं 3300 रूपये का कैशबैक -

Saturday, January 20, 2018

फेसबुक माध्यम से बजट के लिए लोगों से मांगे सुझाव -

Saturday, January 20, 2018

दर – दर भटक रही है अपने बच्चे के साथ यह महिला, जानिए खबर -

Thursday, January 18, 2018

बिग बॉस के इस प्रतिभागी का चेहरा सर्जरी से हुआ खराब, जानिए है कौन -

Thursday, January 18, 2018

प्रदेश में भू कानून में परिवर्तन की मांग को लेकर “हम” का धरना -

Thursday, January 18, 2018

“मेरे आंसुओं को मेरी कमजोरी न समझना’ – आईपीएस अफसर चारू

यूपी के गोरखपुर में रविवार को बीजेपी विधायक की फटकार के बाद आईपीएस अफसर चारू निगम की आंख में आंसू आ गए थे। इसके बाद उन्होंने मीडिया के पॉजिटिव सपोर्ट को थैंक यू कहते हुए फेसबुक पर लिखा है- “मेरे आंसुओं को मेरी कमजोरी न समझना, कठोरता से नहीं कोमलता से अश्क झलक गए।” “मेरे आंसुओं को मेरी कमजोरी न समझना, कठोरता से नहीं कोमलता से अश्क झलक गए। महिला अधिकारी हूं, तुम्हारा गुरूर न देख पाएगा, सच्चाई में है जोर इतना, अपना रंग दिखलाएगा।’ “मेरी ट्रेनिंग ने मुझे कमजोर पड़ना नहीं सिखाया। मुझे उम्मीद नहीं थी कि एसपी सिटी गणेश साहा सर, BJP विधायक की तर्कहीन बातों को अस्वीकार कर देंगे और मेरी चोट के बारे में बात करेंगे। सर के आने से पहले, वहां मैं ही सीनियर अधिकारी थी, लेकिन जब वो आए, तो मैं उनके पीछे खड़ी हो गई और इमोशनल हो गई।” “गोरखपुर मीडिया ने इस पूरे मामले को जिस तरह से उठाया, वो उनकी सकारात्मकता को दिखाता है। मैं आभारी हूं।” “मेरा मानना है कि अच्छा, अच्छा ही होता है और इसलिए मुझे मीडिया का समर्थन मिला है। कृपया शांत रहिए! मैं ठीक हूं और थोड़ा सा हर्ट हुई हूं। चिंता करने वाली कोई बात नहीं है।”

Leave A Comment