Breaking News:

अधिकारियों व कार्मिकों को निरन्तर प्रशिक्षण की जरूरत , जानिए खबर -

Tuesday, December 11, 2018

एनआईटी मामला : हाईकोर्ट ने राज्य,एनआईटी और केंद्र सरकार को जवाब दाखिल करने को कहा -

Tuesday, December 11, 2018

जनसंपर्क और मीडिया लोक कल्याणकारी राज्य की प्रमुख विशेषता : राज्यपाल -

Monday, December 10, 2018

मानव अधिकार दिवस : इस वर्ष 2090 वाद में से 1434 वाद निस्तारित -

Monday, December 10, 2018

एकता कपूर व माही गिल गंगाआरती में हुए शामिल -

Monday, December 10, 2018

एकता कपूर और जितेंद्र हरिद्वार में करेंगे महाआरती , जानिए खबर -

Monday, December 10, 2018

पहल : एक साथ विवाह बंधन में बंधे 21 जोड़े -

Monday, December 10, 2018

सीएम ने की विभिन्न निर्माण कार्यों का शिलान्यास, जानिए खबर -

Sunday, December 9, 2018

पौराणिक मेले हमारी पहचान : सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, December 9, 2018

मैड और एनसीसी की टीम ने रिस्पना को किया साफ़ -

Sunday, December 9, 2018

राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन : हिमालय और गंगा राष्ट्र का गौरव -

Sunday, December 9, 2018

दून नगर निगम बढ़ाएगा हाउस टैक्स, जानिए खबर -

Sunday, December 9, 2018

आईएमए पीओपीः 347 कैडेट बने भारतीय सेना का हिस्सा -

Saturday, December 8, 2018

सीएम त्रिवेंद्र 40वें आॅल इण्डिया पब्लिक रिलेशन्स काॅन्फ्रेंस का किया शुभारम्भ -

Saturday, December 8, 2018

कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या की कोशिश, हालत गंभीर -

Saturday, December 8, 2018

सीएम त्रिवेंद्र किये कई घोषणाएं , जानिए खबर -

Saturday, December 8, 2018

‘केदारनाथ’ फिल्म के नाम से ऐतराज: सतपाल महाराज -

Saturday, December 8, 2018

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र करेंगे राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन का शुभारंभ -

Friday, December 7, 2018

सीएम एप ने दिलाई गरीब परिवारों को धुएं से मुक्ति, जानिए खबर -

Friday, December 7, 2018

गावस्कर : विराट नहीं भारत के ओपनर करेंगे सीरीज का फैसला -

Friday, December 7, 2018

मैड ने नगरनिगम के साफ सफाई के दावों पर दिखाया आईना

MAD

देहरादून। शहरों, छोटे शहरों और ग्रामीण इलाकों की सड़कों, सड़कों और बुनियादी ढांचे को साफ करने के उद्देश्य से महत्वाकांक्षी स्वच्छ भारत अभियान 2014 से 2019 की अवधि के लिए राष्ट्रव्यापी अभियान के रूप में शुरू किया गया था। 4 साल बीत गए और विडंबना यह है कि दून में सरकारी इमारतों के आसपास सबसे अधिक कचरा फैला नजर आ रहा है। इस गांधी जयंती, दून-आधारित युवा कार्यकर्ता समूह, मेकिंग अ डिफरेंस बाई बीइग द डिफरेंस (मैड) ने इस मिशन और बापू के स्वच्छ भारत के दृष्टिकोण के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त करने के लिए एक स्वच्छता और जागरूकता अभियान का आयोजन किया। यूपीईएस के छात्रों सहित कुछ 60 स्वयंसेवकों ने विभिन्न क्षेत्रों में साफ-सफाई शुरू कर दी और शहर में महत्वपूर्ण सरकारी इमारतों, विशेष रूप से कलेक्टरेट कार्यालय के पास अग्निशमन स्टेशन, बीजापुर गैस्ट हाऊस, न्यू कैंट रोड और टपकेश्वर मन्दिर के आस-पास की जगहों पर अत्यधिक अपशिष्ट फैला देख आश्चर्यचकित रह गए। लगभग 100 बैग में विभिन्न स्थानों से 10 से 2 बजे तक चलने वाले ड्राइव के दौरान स्वयंसेवकों द्वारा कचरा अलग और एकत्र किया गया था। यह सरकारी अधिकारियों की इस प्रचारित मिशन के प्रति उचित कार्यान्वयन के संबंध में खुद की नाक के नीचे ही उदासीनता का प्रतिबिंब है। ऐसा लगता है कि बहुत उत्साह से शुरू होने वाला एक सरकारी अभियान अधिकारियों की निष्क्रियता के कारण स्पष्ट रूप से ढीला पड़ गया है। संवेदना फैलाने की आवश्यकता है ताकि मिशन को कागज पर लक्ष्य की उपलब्धि तक ही सीमित नहीं किया जाये। मैड ने नागरिकों से सार्वजनिक संपत्ति की ओर अलगाव की भावना छोड़ने का आग्रह किया। सिविक सेन्स की सामान्य कमी को पूरा करने की जरूरत है, खतरों के प्रति जागरूकता, सामुदायिक प्रयासों और व्यवहारिक परिवर्तनों के साथ ही स्वच्छता अभियान वास्तव में सफल हो सकता है। यह सफाई ड्राइव एक सतत वातावरण के लिए, 2011 में अपनी स्थापना के साथ ही मैड द्वारा सफलतापूर्वक संचालित विभिन्न गतिविधियों की श्रृंखला में से एक थी। कार्यक्रम में संस्थापक अध्यक्ष अभिजय नेगी, उत्कर्ष, अभिमन्यु, गायत्री, सुभावि समेत अन्य सदस्य मौजूद रहे।

Leave A Comment