Breaking News:

समाज सेवा के लिये रहा पंडित दीन दयाल उपाध्याय का सम्पूर्ण जीवन : सीएम -

Monday, September 24, 2018

राधा क्यूँ गोरी मै क्यू काला …… -

Monday, September 24, 2018

लखनऊ : सीएम त्रिवेंद्र ने मध्य क्षेत्रीय परिषद् की बैठक में किया प्रतिभाग -

Monday, September 24, 2018

मंत्री ने राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी की पहल का किया स्वागत -

Monday, September 24, 2018

खुलेगा 300 बेड का नया जच्चा-बच्चा अस्पताल , जानिए खबर -

Monday, September 24, 2018

अखबारों की विश्वसनीयता आज भी बरकरार : प्रकाश पंत -

Monday, September 24, 2018

सीएम त्रिवेंद्र ने आयुष्मान भारत योजना के गोल्डन कार्ड किए वितरित -

Sunday, September 23, 2018

एक साथ एक समय चुनाव करवाने से धन, ऊर्जा व समय की होगी बचतः सीएम -

Sunday, September 23, 2018

जिलाधिकरी मंगेश घिल्डियाल चन्द्रशिला से तुंगनाथ धाम तक की साफ सफाई -

Sunday, September 23, 2018

मुंबई के एक शख्स ने एक ही लड़की की दो बार बचाई जान , जानिए खबर -

Sunday, September 23, 2018

रणवीर-दीपिका को टालनी पड़ी अपनी शादी,जानिए खबर -

Sunday, September 23, 2018

रमेश सिप्पी, शर्मन जोशी ने छात्रों से की खास मुलाकात , जानिये खबर -

Sunday, September 23, 2018

राज्यपाल ने की ‘ज्ञान कुंभ’ की तैयारियों की समीक्षा की -

Saturday, September 22, 2018

यात्री वाहन खाई में पलटा, 13 की मौत -

Saturday, September 22, 2018

ई हेल्थ-सेवा डेशबोर्ड का सीएम ने शुभारम्भ किया -

Saturday, September 22, 2018

मिस उत्तराखंड प्रतियोगिता “फस्ट लुक” आयोजित -

Saturday, September 22, 2018

सीएम ने किया ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान के तहत श्रमदान -

Saturday, September 22, 2018

जल्द नजर आएंगे विराट कोहली बड़े पर्दे,जानिए खबर -

Saturday, September 22, 2018

30 साल से बिना वेतन के संभालते हैं गंगाराम जी ट्रैफिक, जानिए खबर -

Saturday, September 22, 2018

रमेश सिप्पी को भा गई दून की वादियां, उत्तराखंड फिल्म इंडस्ट्री का भविष्य -

Saturday, September 22, 2018

मोदी ने किया उद्घाटन, चीन परेशान

MODI

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने असम में देश के सबसे बड़े ढोला-सदिया पुल का उद्घाटन किया। मोदी के साथ केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और असम के सीएम सर्वानंद सोनोवाल भी मौजूद थे। उद्घाटन करने के बाद मोदी ने खुद पुल का जायजा लिया। उन्होंने गाड़ियों का काफिला रुकवाकर सुरक्षाकर्मियों को काफी पीछे छोड़ते हुए कुछ देरी तक अकेले ही पुल पर चहलकदमी की। बाद में उन्होंने पुल पर ही कुछ वक्त सोनोवाल और गडकरी के साथ बातचीत की। बता दें कि 9 किमी से ज्यादा लंबे तीन लेन वाले इस पुल के बन जाने से असम और अरुणाचल के बीच की दूरी 165 किमी कम हो जाएगी। इसके अलावा, आवाजाही में 5 घंटे का वक्त कम लगेगा। जानकार मानते हैं कि चीन के मद्देनजर इस पुल की बहुत ज्यादा अहमियत है। 1962 की जंग के वक्त अरुणाचल सीमा के करीब सेना के हथियारों और दूसरे संसाधनों को पहुंचाने में काफी दिक्कत हुई थी। इस पुल के ऊपर से सेना के भारी-भरकम टैंक आसानी से गुजर सकते हैं। ऐसे में किसी संघर्ष की स्थिति में त्वरित कार्रवाई करने के लिए यह पुल सेना के लिए बेहद फायदेमंद साबित होगा। बता दें कि इस पुल का निर्माण 2056 रुपये की लागत से हुआ है। इसके जरिए सदिया से ढोला तक सिर्फ 60 मिनट में सफर किया जा सकता है। इसके अलावा, इसके जरिए असम और अरुणाचल में पर्यटन और रोजगार को भी बढ़ावा मिलेगा। केंद्र की एनडीए सरकार के तीन साल पूरा होने के मौके पर अज असम के ढोला में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक जनसभा को संबोधित किया। अपने तीन साल के कार्यकाल की उपलब्धियों को पूर्व पीएम अटल बिहारी बाजपेयी को समर्पित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि उन्होंने तीन साल में अटल जी के सपने को पूरा किया है। उन्होंने कहा कि पांच साल से जिस पुल का इंतजार किया जा रहा था वह अब तैयार हुआ है और 2004 में अगर अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार दोबारा जीतकर आई होती तो यह ब्रिज आपको 10 साल पहले मिल गया होता। सरकार बदलने से काम में रुकावटें आईं। उन्होंने आगे कहा कि इस पुल के जरिए वाटर वे को बल देने की कोशिश की गई है। असम से जल परिवहन का नया अध्याय शुरू होगा और अब नॉर्थ ईस्ट को देश के हर कोने से जोड़ेंगे। इससे पहले असम के ढोला में प्रधानमंत्री ने देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन किया।

Leave A Comment