Breaking News:

डेंगू से बचाव के लिए जागरूकता जरूरी -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1199, देहरादून में 15 नए मामले मिले -

Friday, June 5, 2020

7 जून से “एसपीओ” द्वारा राष्ट्रीय ऑनलाइन योगा प्रतियोगिता का आयोजन -

Friday, June 5, 2020

उत्तराखंड : 10वीं च 12वीं की शेष परीक्षाएं 25 जून से पहले होंगी -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1153 आज 68 नए मरीज मिले -

Thursday, June 4, 2020

पांच जून को अधिकांश जगह बारिश की संभावना -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1145 -

Thursday, June 4, 2020

जागरूकता और सख्ती पर विशेष ध्यान हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, June 4, 2020

दुःखद : बॉलीवुड कास्टिंग निदेशक का निधन -

Thursday, June 4, 2020

वक्त का फेर : चैम्पियन तीरंदाज सड़क पर बेच रही सब्जी -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या 1085 हुई , 42 नए मरीज मिले -

Wednesday, June 3, 2020

अभिनेत्री ने जहर खाकर की खुदकुशी, जानिए खबर -

Wednesday, June 3, 2020

मुझे बदनाम करने की साजिश : फुटबॉल कोच विरेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, June 3, 2020

मोदी 2.0 : पहले साल लिए गए कई ऐतिहासिक निर्णय -

Wednesday, June 3, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 1066 हुई -

Wednesday, June 3, 2020

सराहनीय पहल : एक ट्वीट से अपनों के बीच घर पहुंचा मानसिक दिव्यांग मनोज -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1043 -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में करें अब आनलाईन आवेदन -

Tuesday, June 2, 2020

10 वर्षीय आन्या ने अपने गुल्लक के पैसे देकर मजदूर का किया मदद -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 999 हुई, 243 मरीज हुए ठीक -

Tuesday, June 2, 2020

युवा डाॅक्टर गावों में 4-5 वर्ष की सेवा जरूर देंः राज्यपाल

हेमवती नंदन बहुगुणा चिकित्सा शिक्षा विवि का द्वितीय दीक्षांत समारोह आयोजित

देहरादून । राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा है कि युवा डाॅक्टरों को राज्य के दुर्गम स्थानों और गावों में कम से कम चार-पांच वर्ष की सेवा अवश्य देनी चाहिए। राज्यपाल मौर्य ने कहा कि चिकित्सा सर्व सुलभ होनी चाहिए तथा गरीब और वंचित वर्ग को इसका लाभ मिलना चाहिए। मरीजों के साथ अच्छा व्यवहार आवश्यक है। राज्यपाल मौर्य ने शनिवार को एफ0आर0आई0सभागार में आयोजित हेमवती नंदन बहुगुणा चिकित्सा शिक्षा विश्वविद्यालय के द्वितीय दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए यह विचार व्यक्त किये। राज्यपाल ने कहा कि ‘‘मुझे आशा ही नहीं अपितु पूर्ण विश्वास है कि आप सभी चिकित्सक के रूप में ली अपनी शपथ का सदैव स्मरण करेंगे और अपने कौशल का उपयोग राज्य के दूरस्थ, दुर्गम पहाड़ी क्षेत्रों में रह रहे रोगियों के उपचार हेतु करेंगे। यही आप की वास्तविक गुरु दक्षिणा होगी।’’ राज्यपाल ने विश्वविद्यालय के प्रतीक चिन्ह (लोगो) का भी अनावरण किया। राज्यपाल मौर्य ने कहा कि चिकित्सा शिक्षा विश्वविद्यालय को उत्तराखण्ड के दूरस्थ गावों को गोद लेकर बाल कुपोषण उन्मूलन तथा महिला स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी विशेष प्रयास करने चाहिए। विश्वविद्यालय को मौलिक गुणवत्ता युक्त शोध कार्य को प्रोत्साहित करना चाहिए। सर्वसुलभ सस्ता उपचार और जन स्वास्थ्य विश्वविद्यालय की प्राथमिकता में होना चाहिए। इससे पूर्व, राज्यपाल मौर्य जो कि विश्वविद्यालय की कुलाधिपति भी हैं द्वारा कुल 465 विद्यार्थियों को उपाधि प्रदान की गई। इनमें एम.डीध्एम.एस के 27, नर्सिंग के 337, पैरामेडिकल के 101 विद्यार्थी सम्मिलित हैं। विश्वविद्यालय द्वारा प्रो0डा0के0एन0अग्रवाल और प्रो0डा0ए0के0महापात्रा को मानद उपाधि ’डाक्टर ऑफ सांइस’ से सम्मानित किया गया। कुल 11 विद्यार्थियों को उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए स्वर्ण पदक तथा 04 शोधार्थियों को ‘प्रो0 एम0सी0पंत बेस्ट पेपर अवार्ड’भी दिया गया। कुलपति प्रो0 हेमचन्द्र ने बताया कि विश्वविद्यालय से 3 मेडिकल काॅलेज, 23 नर्सिंग काॅलेज तथा 10 पैरामेडिकल काॅलेज संबद्व हैं। कुल 4152 विद्यार्थी विश्वविद्यालय से शिक्षा ले रहे हैं। विश्वविद्यालय द्वारा आगामी सत्र से पी0एच0डी भी प्रारंभ की जायेगी। मास्टर ऑफ हास्पिटल एडमिनिस्ट्रिेशन कोर्स की मंजूरी भी मिल गई है। समारोह को मानद उपाधि से सम्मानित प्रो0 अग्रवाल और प्रो0 महापात्रा ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में निदेशक चिकित्सा शिक्षा युगल किशोर पंत, विश्वविद्यालय के कुलसचिव, कार्यपरिषद के सदस्य, प्राध्यापक गण, छात्र-छात्राएं एवं उनके परिजन उपस्थित थे।

Leave A Comment