Breaking News:

सात बार विधायक रहे भगवती सिंह के पास ना अपना घर है ना गाड़ी, जानिए खबर -

Saturday, September 21, 2019

सीएम त्रिवेंद्र वरिष्ठ पत्रकार चंद्रशेखर जोशी की पत्नी आरती बडोनी जोशी के निधन पर जताया शोक -

Friday, September 20, 2019

देहरादून में जहरीली शराब पीने से छह लोगों की मौत -

Friday, September 20, 2019

लाखों की स्मैक के साथ एक दबोचा -

Friday, September 20, 2019

गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय : 11 छात्रों को प्रतिष्ठित कंपनियों में प्लेसमेंट -

Friday, September 20, 2019

शराब कारखाने लगाने की नीति पर हो पुनर्विचार : साध्वी प्राची -

Friday, September 20, 2019

देहरादून : फैशन वीक 20 सितंबर से, जानिए खबर -

Thursday, September 19, 2019

सुपर 30 के संस्थापक आनंद अमेरिका में हुए सम्मानित -

Thursday, September 19, 2019

पंचायत चुनाव : महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष ने पर्यवेक्षक नियुक्त किए -

Thursday, September 19, 2019

ईमानदारी की मिशाल किया पेश, जानिए खबर -

Thursday, September 19, 2019

केदारनाथ के दरबार मे थल सेनाध्यक्ष -

Thursday, September 19, 2019

त्रिवेंद्र सरकार के ढाई वर्ष : उत्तराखंड राज्य के विकास दर में हुई वृद्धि -

Wednesday, September 18, 2019

केजरीवाल सरकार : मजदूर की बेटी शशि बनेगी एमबीबीएस -

Wednesday, September 18, 2019

पुलिस कर्मियों के सामने ‘बेघर’ का संकट -

Wednesday, September 18, 2019

डेंगू और अब स्वाइन फ्लू का अटैक -

Wednesday, September 18, 2019

पंचायत चुनाव: विकास खण्ड मुख्यालय पर होगा चुनाव चिन्ह आवंटन -

Wednesday, September 18, 2019

गरीब बच्चों को राज्यपाल ने स्कूल टिफिन और छाते उपहार स्वरूप किये भेंट -

Tuesday, September 17, 2019

मोटोरोला ने लांच किया स्मार्ट टीवी , जानिए खबर -

Tuesday, September 17, 2019

पीएम नरेन्द्र मोदी के जन्मोत्सव पर चित्र प्रदर्शनी का सीएम त्रिवेंद्र ने किया शुभारंभ -

Tuesday, September 17, 2019

सिर पर हेल्मेट होती तो बच जाती लगभग पचास हज़ार लोगों की जान , जानिए खबर -

Tuesday, September 17, 2019

युवा नौकरी ढूंढने के बजाय नौकरी देने वाले बने : सीएम त्रिवेंद्र

कोटद्वार | मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को जनता इण्टर काॅलेज नैनीडांडा में 1837.56 लाख लागत की नैनीडांडा ग्राम समूह पेयजल योजना का लोकार्पण किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने 133.40 लाख लागत के राजकीय आयुर्वेदिक काॅलेज टकोली खाल व कुणजौली के अनाावासीय भवनों तथा 41.85 लाख लागत के राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय भवन का भी लोकार्पण किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने 86.17 लाख लागत के विकास खण्ड कार्यालय वीरोखाल के नवनिर्मित भवन के लोकार्पण के साथ ही कुल 1374.15 लाख की योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। जिसमें 961.07 लाख की योजनाओं का लोकार्पण तथा 413.08 लाख की योजनाओं का शिलान्यास शामिल है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने धूमाकोट मे सभागार व मिनी स्टेडियम निर्माण, जगदई-किनगौडा मोटर मार्ग निर्माण पटोदिया में औद्यानिकी फार्म नैनीडांडा सी.एस.सी को टेली मेडिशिन से जोड़ने के साथ ही 1983 से संचालित आदर्श संस्कृत महाविद्यालय को अनुदान दिये जाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि हमारा प्रयास प्रदेश के सुदूरवर्ती क्षेत्रों तक तमाम सुविधायें उपलब्ध कराना है। शिक्षा, स्वास्थ्य,सड़क व पेयजल की योजनाओं पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिये योजनायें बनायी जा रही है। युवा नौकरी ढूंढने के बजाय नौकरी देने वाले बने इसके लिए युवाओं को प्रोत्साहित करने के साथ ही उन्हें सुविधायें प्रदान करने की व्यवस्था की जा रही है। पर्वतीय क्षेत्रों में युवा स्वरोजगार से जुड़ेंगे तो पलायन को रोकने में मदद मिलेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड में साथ ही यहां के युवाओं का भविष्य पर्यटन से जुड़ा है। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए इसे उद्योग का दर्जा दिया गया है। अब प्रदेश में पर्यटन व्यवसाय के लिए उद्योगों की भांति सुविधायें मिलेगी। इससे अधिक से अधिक युवा इन व्यवसाय से जुड सकेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि शुद्ध हवा, जलवायु के साथ ही शांत वातावरण के लिए हमारी अपनी पहचान है। इस वर्ष उत्तराखण्ड आने वाले यात्रियों व पर्यटकों की संख्या 3-4 गुना बढ़ गई है। इस प्रकार प्रदेश में टूरस्टिों की तादात बढ़ रही है। आने वाले समय में जब चारधाम सड़क के साथ ही अन्य सड़कों का निर्माण पूर्ण हो जायेगा इससे पर्यटकों की तादात और बढ़ेगी। हमें उसके लिये व्यवस्थायें भी बनानी होगी अब प्रदेश के हर कोने में प्र्यटकों का आवागमन होगा। आज दिल्ली में 48 डिग्री सेल्सियस तापमान है। जबकि नैनीडाडा वीरोखाल जैसी जगहों पर 28 डिग्री सेल्सियस है। इस प्रकार 20 डिग्री सेल्सियस का सीधा अन्तर है। स्वाभाविक है कि गर्मी से बचाव तथा शुद्ध हवा व जलवायु के लिये लाग यहां आयेंगे। इस प्रकार प्रदेश में पर्यटन व्यवसाय बढ़ाने से युवाओं को आगे आना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि गांवों से पलायन रोकने के लिए हमे ऐसे उत्पादों पर ध्यान देना होगा। जिन्हें जंगली जानवर नुकसान नहीं पहुंचा सकते है। इसूमें भांग, कण्डाली जैसे उत्पाद विकल्प हो सकते है। पिरूल से बिजली बनाने के प्रयास आरम्भ हो गये है। उन्होंने कहा कि हमारे लोग देश ही नहीं विदेशों मे भी अपनी मेहनत से उत्तराखण्ड को पहचान दिला रहे है। हमारे युवा यदि नौकरी को अपना लक्ष्य न बनाकर स्वरोगार अपनाये तो इससे प्रदेश का भी भला होगा और युवाओं का भी। इस अवसर पर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज, विधायक महंत दिलीप सिंह रावत क्षेत्र के गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Leave A Comment