Breaking News:

हेल्प मी वेलफेयर सोसायटी ने गरीबों की मदद किये -

Tuesday, April 7, 2020

उत्तराखंड में पांच और कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए, संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 31 -

Monday, April 6, 2020

सीएम ने उत्तराखंड के जवानों की शहादत को नमन किया -

Monday, April 6, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में बेहतर समन्वय के लिए बनाया गया कंट्रोल रूम -

Monday, April 6, 2020

पौड़ी : पाबौ में चट्टान से गिरने से महिला की मौत -

Monday, April 6, 2020

जुबिन नौटियाल ने ऑनलाइन शो से कोरोना फाइटर्स को कहा थैंक्यू -

Monday, April 6, 2020

अनूप नौटियाल व डा. दिनेश चौहान रहे कोरोना वाॅरियर -

Monday, April 6, 2020

पहल : देहरादून में 7745 भोजन पैकेट वितरित किये गये -

Sunday, April 5, 2020

सीएम त्रिवेन्द्र ने परिवार संग दीप जला कर हौसला बढाने का दिया सन्देश -

Sunday, April 5, 2020

उत्तराखंड में चार और कोरोना पाॅजीटिव मामले सामने आए, संख्या 26 हुई -

Sunday, April 5, 2020

दुःखद : जंगल की आग में जिंदा जली दो महिलाएं -

Sunday, April 5, 2020

आम आदमी की रसोईः जरूरतमंदों को दे रही भोजन और राशन -

Sunday, April 5, 2020

5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए अपने घरों में लाईट बंद कर दीपक जलाए : सीएम त्रिवेंद्र -

Saturday, April 4, 2020

लापता व्यक्ति का शव पाषाण देवी के मंदिर पास झील से बरामद हुआ -

Saturday, April 4, 2020

देहरादून : स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से 9482 भोजन पैकेट वितरित किये गये -

Saturday, April 4, 2020

उत्तराखंड में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या हुई 22 -

Saturday, April 4, 2020

सोशियल पॉलीगोन ग्रुप ऑफ कंपनी ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 5 लाख का चेक दिया -

Saturday, April 4, 2020

लॉकडाउन : रचायी जा रही शादी पुलिस ने रुकवाई, 15 लोगों पर मुकदमा दर्ज -

Friday, April 3, 2020

उत्तराखंड : त्रिवेन्द्र सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए जारी किये 85 करोङ रूपए -

Friday, April 3, 2020

ऋषियों का मूल मंत्र ’तमसो मा ज्योतिर्गमय’ एक अद्भुत आइडियाः स्वामी चिदानन्द सरस्वती -

Friday, April 3, 2020

राज्यपाल से नार्वे के राजदूत ने की मुलाकात

देहरादून । उत्तराखण्ड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य से राजभवन में नार्वे के राजदूत नील्स रैगनार कैम्सब ने शिष्टाचार भेंट की। राज्यपाल मौर्य ने कहा कि नार्वे का एक्वा कल्चर, ऊर्जा क्षेत्र और ग्रीन टेक्नाॅलाजी में बड़ा नाम है। उन्होंने कहा कि नार्वे की कम्पनियों के लिए फिशरीज, जल विद्युत तथा सौर ऊर्जा और ग्रीन टेक्नाॅलाजी के क्षेत्र में उत्तराखण्ड में निवेश हेतु अच्छा माहौल है। उत्तराखण्ड राज्य इन्वेस्टर फ्रेण्डली स्टेट है और यहाँ निवेशकों के लिए सिंगल विण्डो सिस्टम संचालित किया जा रहा है। राज्य सरकार द्वारा उत्तराखण्ड में निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए कई नीतियाँ लाई गई हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की कि नार्वे के राजदूत के दौरे से उत्तराखण्ड और नार्वे के मध्य संबंधो को बढ़ावा मिलेगा।भारत में नार्वे के राजदूत रैगनार ने बताया कि भारत के साथ नार्वे के व्यापारिक संबंध और मजबूत हो रहे हैं। पहले मूलतः महाराष्ट्र और गुजरात में केन्द्रित रहने वाली नार्वे की कम्पनियों ने अब उ0प्र0, उत्तराखण्ड में भी रूचि दिखानी शुरू कर दी है। वर्तमान में नार्वे की 140 कम्पनियाँ भारत के विभिन्न राज्यों में निवेश हेतु इच्छुक हैं। नार्वे ने रन ऑफ द रिवर फिशरीज टेक्नाॅलाजी में अच्छा कार्य किया है। नार्वे की तकनीकि से जल के कम प्रयोग द्वारा उच्च गुणवत्ता का मत्स्य पालन हो सकता है। इसके साथ ही नार्वे द्वारा जल विद्युत और सौर ऊर्जा में भी उच्च तकनीकि विकसित की गई है। उन्होंने बताया कि सर्वे ऑफ इंडिया तथा आई.आई.टी रूड़की के साथ नार्वे का शोध गुणवत्ता के क्षेत्र में समझौता भी है। वाहन परिचालन में नार्वे में वर्तमान में 50 प्रतिशत से अधिक कारें धुंआ रहित हो गई हैं। नार्वे 2025 तक अपने सभी वाहनों को ग्रीन टेक्नाॅलाजी के प्रयोग द्वारा धुंआ रहित कर देगा। राज्यपाल ने राजदूत को स्मृति चिह्न के रूप में श्री ब्रदीनाथ मंदिर की अनुकृति तथा रूद्राक्ष की माला भेंट की। इस अवसर पर नार्वे एम्बैसी की सेकेण्ड सेक्रेटरी मार्टा गोज, निदेशक उद्योग सुधीर नौटियाल, परिसहाय राज्यपाल मेजर मुदित सूद भी उपस्थित रहे।

Leave A Comment