Breaking News:

दर – दर भटक रही है अपने बच्चे के साथ यह महिला, जानिए खबर -

Thursday, January 18, 2018

बिग बॉस के इस प्रतिभागी का चेहरा सर्जरी से हुआ खराब, जानिए है कौन -

Thursday, January 18, 2018

प्रदेश में भू कानून में परिवर्तन की मांग को लेकर “हम” का धरना -

Thursday, January 18, 2018

शासकीय योजनाओं का हो व्यापक प्रचार-प्रसार : डाॅ.पंकज कुमार पाण्डेय -

Thursday, January 18, 2018

केंद्रीय वित्तमंत्री के समक्ष सीएम ने रखी ग्रीन बोनस की मांग -

Thursday, January 18, 2018

कांटों वाले बाबा को हर कोई देख है दंग … -

Wednesday, January 17, 2018

फिल्म पद्मावत फिर पहुंची एक बार कोर्ट, जानिए खबर -

Wednesday, January 17, 2018

बालिकाओ ने जूडो, बैडमिंटन, फुटबाल, वालीबाल, बाक्सिंग में दिखाई दम -

Wednesday, January 17, 2018

उत्तराखंड के उत्पादों का एक ही ब्रांड नेम होना चाहिए : उत्पल कुमार सिंह -

Wednesday, January 17, 2018

पर्वतीय राज्यों को मिले 2 प्रतिशत ग्रीन बोनस : सीएम -

Wednesday, January 17, 2018

सिर दर्द हो तो करे यह उपाय …. -

Monday, January 15, 2018

उत्तरायणी महोत्सव में रंगारंग कार्यक्रमों की धूम -

Monday, January 15, 2018

सौर ऊर्जा से चलने वाली कार का दिया प्रस्तुतीकरण -

Monday, January 15, 2018

सीएम ने ईको फ्रेण्डली किल वेस्ट मशीन का किया उद्घाटन -

Monday, January 15, 2018

औद्योगीकरण को बढ़ावा देने को लेकर प्रदेश में सिंगल विंडो सिस्टम लागू -

Monday, January 15, 2018

युवा क्रिकेटर के लिए भारतीय तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने मांगी मदद -

Sunday, January 14, 2018

कक्षा सात की बालिका ने प्रधानमंत्री के लिए लिखी चिट्ठी, जानिए खबर -

Sunday, January 14, 2018

हरियाली डेवलपमेंट फाउंडेशन ने की गरीब, अनाथ एवं बेसहारा लोगो की मदद -

Sunday, January 14, 2018

रेडिमेड वस्त्रों के 670 सेंटर स्थापित किये जायेंगेः सीएम -

Sunday, January 14, 2018

सीएम ने 14 विकास योजनाओं का किया शिलान्यास -

Saturday, January 13, 2018

राज्य की संस्कृति को पर्यटन से जोड़ा जाए: रावत

 

CM MEET

पीडब्ल्यूडी, सिंचाई व पर्यटन विभाग दुर्गम हाई एल्टीट्यूड क्षेत्रों में काम करने के लिए प्रतिबद्ध कार्मिकों की टीम तैयार करें। राज्य के विभिन्न भागों में रोपवे बनाने के लिए रोपवे कारपोरेशन बनाया जाए। राज्य की संस्कृति को पर्यटन से जोड़ा जाए। जून माह में देहरादून, ऋषिकेश, अल्मोड़ा में वृहद स्तर के सांस्कृतिक समारोह का अयोजन किया जाए जिसमें पूरे उत्तराखंड की झलक दिखाई दे। मंगलवार को बीजापुर हाउस में मुख्यमंत्री हरीश रावत ने लोनिवि, पर्यटन, सिंचाई, बीआरओ, संस्कृति विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक लेते हुए उक्त निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि चारधाम यात्रा के लिए कार्ययोजना का प्रथम चरण पूरा हो चुका है। इस पर रेस्पांस भी उत्साहजनक मिला है। अब फेज-2 के लिए दीर्घकालीन विजन सामने रखते हुए कार्ययोजना बनाई जाए। चारधाम, हेमकुण्ट साहिब व कैलाश मानसरोवर यात्रा निर्बाध रूप से चले और हमारी संस्कृति भी पर्यटन से जुड़े, इसी प्राथमिकता से आगे की योजना तैयार की जाए। हमें आपदा के पहले से भी बेहतर उत्तराखंड का निर्माण करना है। केदारनाथ में बाढ़ सुरक्षा व अन्य कार्यों के साथ ही मंदाकिनी नदी के किनारे घाटों का निर्माण किया जाए। पैदल मार्ग को और अधिक सुधारा जाए। हर 100-150 मीटर की दूरी पर शेल्टर हों। सड़क मार्ग के सुधारीकरण, वन विभाग के अंतर्गत वैकल्पिक मार्ग, लैंचोली से केदारनाथ रोपवे, के काम में तेजी लाई जाए। मंदाकिनी नदी के किनारे भी घाट निर्माण व जहां-जहां सम्भव हों, छोटे-छोटे मार्केट विकसित किए जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बदरीनाथ मार्ग में अति संवेदनशील भूस्खलन क्षेत्रों में यथासम्भव टनल टेक्नोलोजी का प्रयोग, वैकल्पिक मार्ग व ढ़ाल स्थिरीकरण को अपनाया जाए। यमुनोत्री व गंगोत्री पर भी विशेष ध्यान देना होगा। चारधाम से लगते अन्य पर्यटन क्षेत्रों को भी विकसित किया जाए। ताकि चारधाम के लिए तैयार की गई अवस्थापनात्मक सुविधाओं का उपयोग वर्षभर किया जा सके। बुग्यालों व ट्रेकरूट्स को भी पर्यटन की नीति के केंद्र में लाया जाए। कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए पारम्परिक मार्ग के साथ ही वैकल्पक मार्ग भी विकसित किया जाए। महत्वपूर्ण तीर्थस्थलों व पर्यटन स्थलों में हैलीपेड बेकअप विकसित किया जाए।बैठक में केबिनेट मंत्री यशपाल आर्य, दिनेश धनै, मुख्य सचिव एन रविशंकर, अपर मुख्य सचिव राकेश शर्मा सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Leave A Comment