Breaking News:

2019 के शैक्षणिक सत्र में आधा हो जाएगा NCERT का पाठ्यक्रम -

Sunday, February 25, 2018

आपदा पुनर्निर्माण कार्य में मानकों की उड़ाई जा रही धज्जियां -

Sunday, February 25, 2018

एनएच-74 मुआवजा घोटाले की 300 करोड़ की राशि कहां गई : पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत -

Sunday, February 25, 2018

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 7 रन से हराकर 2-1 से सीरीज पर किया कब्जा -

Sunday, February 25, 2018

श्रीदेवी का 54 की उम्र में आकस्मिक निधन -

Sunday, February 25, 2018

जीएसटी ‘ई-वे बिल’ एक अप्रैल से लागू किया जा सकता है -

Saturday, February 24, 2018

सुपर डांसर के टॉप-5 में पहुंचे, देहरादून के आकाश थापा -

Saturday, February 24, 2018

भारत में गरीब और गरीब हो रहे हैं… -

Saturday, February 24, 2018

‘इन्वेस्टर मीट’ की सजावट में खर्च हो गए करोड़ रुपये -

Saturday, February 24, 2018

हेमकुंड साहिब के कपाट 25 मई को खुलेंगे -

Saturday, February 24, 2018

टाइगर श्रॉफ और अभिनेत्री दिशा पटानी की आगामी फ़िल्म “बागी 2” का ट्रेलर लांच -

Thursday, February 22, 2018

दक्षिण अफ्रीका ने भारत को दुसरे टी-20 मैच में 6 विकेट से हराया, सीरीज में 1-1 की बराबरी -

Thursday, February 22, 2018

कमल हासन ने शुरू की अपनी सियासी पारी -

Thursday, February 22, 2018

न्यायिक हिरासत में “आप” विधायक -

Thursday, February 22, 2018

EPFO ने ब्याज दर घटाकर की 8.55% -

Thursday, February 22, 2018

पांचमुखी हनुमानजी की करे पूजा… -

Wednesday, February 21, 2018

तीसरी शादी को लेकर इमरान खान थे दबाव में , जानिए खबर -

Wednesday, February 21, 2018

ऐतिहासिक झंडा मेला दून में छह मार्च से -

Wednesday, February 21, 2018

कथन इंडसइंड बैंक का …. -

Wednesday, February 21, 2018

पापड़ बेचने वाले के रोल से हुई शुरुआत … -

Tuesday, February 20, 2018

राष्ट्रपति चुनावः नीतीश के कदम से सकते में विपक्ष

Nitish Kumar

नई दिल्ली। राष्ट्रपति चुनावों में एनडीए के प्रत्याशी राम नाथ कोविंद की स्थिति मजबूत होती जा रही है और विपक्ष कमज़ोर पड़ता जा रहा है.  कोविंद का समर्थन करने का फैसला कर जेडीयू ने विपक्ष को एकजुट करने की कवायद को बड़ा झटका दे दिया. दिल्ली में रामनाथ कोविंद बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं से मिलते रहे, जबकि पटना से उनके समर्थन की खबर आई. नीतीश कुमार के रुख को ले∂ट ने विपक्षी एकता के लिए झटका बताया। सीपीआई नेता डी. राजा ने एनडीटीवी से कहा, राष्ट्रपति चुनावों को लेकर 17 विपक्षी पार्टियों के नेता एक साथ पिछले महीने एक बैठक में शामिल हुए थे. अब नीतीश ने कोविंद का जिस तरह से समर्थन किया है, वो विपक्ष की एकजुटता की कोशिशों को झटका ज़रूर है। उधर, कांग्रेस पाट जेडीयू के फैसले पर सीधे तौर पर कुछ भी बोलने से बचती दिखी. पाट के प्रवक्ता मनीष तिवारी ने नीतीश के फैसले पर कुछ नहीं बोला, सिर्फ इतना कहा, श्गुरुवार की बैठक में प्रत्याशी और रणनीति पर विचार किया जाएगा। दरअसल राष्ट्रपति चुनावों से पहले आंकड़ों के खेल में एनडीए काफी आगे निकल चुका है. राष्ट्रपति चुनाव में कुल 10,98,903 वोट हैं और उम्मीदवार की जीत के लिए 5,49,452 वोट चाहिए. इनमें से एनडीए के कुल 5,37,683 वोट पहले से हैं, यानी 48 प्रतिशत से कुछ। रामनाथ कोविंद की उम्मीदवारी के बाद एनडीए, एआईएडीएमके, बीजेडी, टीआरएस, जेडीयू, वाईएसआर कांग्रेस के समर्थन के साथ कुल 62.7 प्रतिशत वोटों का समर्थन हासिल कर चुका है. हालांकि सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी अब भी एक मज़दूत उम्मीदवार उतारने का दावा कर रहे हैं. सीताराम येचुरी ने एनडीटीवी से कहा, विपक्ष की तरफ से एक तगड़ा उम्मीदवार खड़ा किया जाएगा.

 

 

Leave A Comment