Breaking News:

उत्तराखंड सरकार की हाईकोर्ट ने की तारीफ -

Monday, December 11, 2017

शादीशुदा जोड़ों का अनोखा शो ‘‘आपकी खूबसूरती उनकी नज़र से’’ -

Monday, December 11, 2017

जज्बा हो तो सब मुमकिन है, जानिये खबर -

Monday, December 11, 2017

जन क्रांति विकास मोर्चा ने ड्रग माफियाओं का फूंका पुतला -

Monday, December 11, 2017

गरीब बच्चो का हक न मारे रावत सरकार : आम आदमी पार्टी -

Monday, December 11, 2017

पर्वतीय क्षेत्र में विकास मील का पत्थर होगा साबित : मुख्यमंत्री -

Monday, December 11, 2017

मैड संस्था ने नगर निगम को सुझाया साफ़ सफाई रूपी “रास्ते” -

Monday, December 11, 2017

मां नहीं बन सकी पर 51 बेसहारा बच्चों की है माँ -

Saturday, December 9, 2017

गहरी निंद्रा में सोया है आपदा प्रबंधन विभाग, जानिए खबर -

Saturday, December 9, 2017

राज्य सरकार लोकायुक्त को लेकर गंभीर नहींः इंदिरा ह्रदयेश -

Saturday, December 9, 2017

सरकार ने जनता की आशाओं को विश्वास में बदलाः सीएम -

Saturday, December 9, 2017

उत्तराखण्ड क्रिकेट के हित में एक मंच पर आएं क्रिकेट एसोसिएशन: दिव्य नौटियाल -

Saturday, December 9, 2017

बीजेपी सांसद मोदी की कार्यशैली से नाराज होकर दिया इस्तीफा -

Friday, December 8, 2017

चीन की रिटेल कारोबार पर बढ़ती पकड़ से भारतीय रिटेलर परेशान -

Friday, December 8, 2017

जरूरतमंद लोगों के लिए गर्म कपड़े डोनेशन कैंप की शुरूआत -

Friday, December 8, 2017

बाल रंग शिविर का आयोजन -

Friday, December 8, 2017

युवाओं को देश प्रेम और देश भक्ति की सीख दे रहा यूथ फ़ाउंडेशन -

Friday, December 8, 2017

निकायों में सीमा विस्तार को लेकर विरोध प्रदर्शन तेज़ -

Thursday, December 7, 2017

गुजरात चुनाव : इस बार मणिनगर सीट है “हॉट” -

Thursday, December 7, 2017

पाकिस्तान ने ‘कपूर हवेली’ में दी श्रद्धांजलि, जानिये खबर -

Thursday, December 7, 2017

रोजगार या परेशानी

sunday-market

आदमी का स्रोत बढाने के लिए शुुरू की गई यह पीठ हर सप्ताह भरती है, इसमें सबका जरूरत का सारा सामान कम रेट पर उपलब्ध होता है। देहरादून में प्रति सप्ताह दूर -दराज के व्यापारी सामान बेचने आते हैं, सहारनपुर, दिल्ली, उ0प्र0, के व्यापारी सामान लाकर यहां बेचते हैं। हर रविवार को परेड ग्राउंड के पास मेला सा लग जाता है। इतनी भीड कि निकलने की की जगह नहीं मिल पाती है। आते-जाते वाहन चालकों को परेशानी होती है, तभी मैंने यह शीर्षक दिया है क्योंकि इससे साप्ताहिक पीठ से किसी को रोजगार और किसी को जरूरत के सामान उपलब्ध हो रहें हैं तो किसी को भारी भीड, ट्रैफिक जाम का सामना करना पडता है। पुलिस प्रशासन की इसमें कडी निगरानी रहती है। कई बार जो छोटे व्यापारी कर नहीं देते तो उनका सामान उठाकर ले जाया जाता है। छोटे व्यापारी इस प्रकार परेशान हो जाते हैं। यातायात जाम और कई दिक्कतों से निजात पाने के लिए पूर्व एस0एस0पी0  सदानंद ने मार्केट का वक्त 6से10 कर दिया था परन्तु अब वक्त निश्चित नहीं है। कोई व्यापारी तो पांच बजे ही आकर बैठ जाता है।पुलिस प्रशासन और नगरनिगम के बीच इस साप्ताहिक पीठ को लेकर कई बार विवाद हुए। कुछ वक्त पहले तो साप्ताहिक पीठ का स्थान बदलने की घोषणा की गई तो व्यापारियों ने इसका जमकर विरोध किया। कर से परेशान व्यापारियों ने जब विरोध किया तब मेयर विनोद चमोली बोले -व्यापारिक कर सरकार लगाती है। अब ऐसा होने लगा है, कभी मार्केट लगता है तो कभी नहीं लगता। इसे क्या समझा जाना चाहिए रोजगार या परेशानी।

– हिना आजमी ( मॉस कम्मुनिकेशन साई इंस्टिट्यूट देहरादून )

 

Leave A Comment