Breaking News:

गैरसैण बनेगी ई-विधानसभा : सीएम त्रिवेंद्र -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1215 , ठीक हुए मरीजो की संख्या हुई 344 -

Friday, June 5, 2020

“उत्तराखंड की शान भैजी विरेन्द्र सिंह रावत” ऑडियो वीडियो का हुआ शुभारम्भ -

Friday, June 5, 2020

डेंगू से बचाव के लिए जागरूकता जरूरी -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1199, देहरादून में 15 नए मामले मिले -

Friday, June 5, 2020

7 जून से “एसपीओ” द्वारा राष्ट्रीय ऑनलाइन योगा प्रतियोगिता का आयोजन -

Friday, June 5, 2020

उत्तराखंड : 10वीं च 12वीं की शेष परीक्षाएं 25 जून से पहले होंगी -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1153 आज 68 नए मरीज मिले -

Thursday, June 4, 2020

पांच जून को अधिकांश जगह बारिश की संभावना -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1145 -

Thursday, June 4, 2020

जागरूकता और सख्ती पर विशेष ध्यान हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, June 4, 2020

दुःखद : बॉलीवुड कास्टिंग निदेशक का निधन -

Thursday, June 4, 2020

वक्त का फेर : चैम्पियन तीरंदाज सड़क पर बेच रही सब्जी -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या 1085 हुई , 42 नए मरीज मिले -

Wednesday, June 3, 2020

अभिनेत्री ने जहर खाकर की खुदकुशी, जानिए खबर -

Wednesday, June 3, 2020

मुझे बदनाम करने की साजिश : फुटबॉल कोच विरेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, June 3, 2020

मोदी 2.0 : पहले साल लिए गए कई ऐतिहासिक निर्णय -

Wednesday, June 3, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 1066 हुई -

Wednesday, June 3, 2020

सराहनीय पहल : एक ट्वीट से अपनों के बीच घर पहुंचा मानसिक दिव्यांग मनोज -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1043 -

Tuesday, June 2, 2020

वर्ल्‍ड चैंपियन बना दूध बेचने वाले का बेटा

deepak-punia

जार्जिया में आयोजित हुई विश्व कैडेट कुश्ती चैंपियनशिप में हरियाणा के पहलवान दीपक पूनिया ने 85 किग्रा कैटेगरी में गोल्‍ड मेडल जीतकर देश का नाम रोशन किया. 17 साल के दीपक ने किरगिस्तान, जॉर्जिया, यूएसए और तुर्की जैसे देशों के पहलवानों को हराकर वर्ल्ड कैडेट चैंपियन का खिताब अपने नाम किया. यह पहली बार हुआ है की जब किसी भारतीय ने 85 किग्रा हैवीवेट कैटेगरी में इस स्तर पर वर्ल्ड टाइटल अपने नाम किया है.पिछले महीने जब जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप से दीपक खाली हाथ लौटे, तो उनके पिता ने उनका पसंदीदा गाय का दूध उनको नहीं दिया. उदास दीपक ने तब अपने पिता से वादा किया कि विश्व कैडेट चैंपियनशिप में वो खाली हाथ नहीं लौटेंगे. बदले में इनाम में गाय का दूध देंगे. दीपक के पिता दूध बेचने का व्‍यवसाय करते हैं लेकिन बेटे के दिल्‍ली ट्रेनिंग पर जाने के बाद अपनी जमीन की देखभाल के काम में लग गए. बेटे के मेडल मिलने जितने पर उन्होंने बेटे को ख़ुशी के नम आँखो से बधाई दी |

Leave A Comment