Breaking News:

देहरादून में वेब मीडिया के पत्रकार आये एक फोरम में , जानिए खबर -

Sunday, July 21, 2019

एक प्रयास से कचरे का ढेर बना , 2 एकड़ का खूबसूरत पार्क -

Sunday, July 21, 2019

15 दिनों के भीतर हिमा दास ने किया कमला , जीता चौथा गोल्ड मेडल -

Saturday, July 20, 2019

नगर निगम के अब नही काटने पड़ेंगे माता-पिता को चक्कर , जानिए ख़बर -

Saturday, July 20, 2019

पश्चिमी यूपी से आ रहे अपराधियों को रोकना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती -

Saturday, July 20, 2019

समाजिक आर्थिक उन्नयन से आयेगी समाज में जागृति : मुख्यमंत्री -

Saturday, July 20, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने फ्री मेडिकल कैम्प का किया शुभारंभ -

Saturday, July 20, 2019

जानी-मानी पॉलिटिशन के निधन पर बॉलिवुड में शोक -

Saturday, July 20, 2019

परिवहन के क्षेत्र में जनता के प्रति सीएम त्रिवेंद्र रहे अटल -

Friday, July 19, 2019

जल संरक्षण सरकार की प्राथमिकताः सीएम त्रिवेंद्र -

Friday, July 19, 2019

होम स्टे योजना की जानकारी देने दूरस्थ गांव पहुंचे डीएम -

Friday, July 19, 2019

पांचवे देहरादून इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के प्रवेश आमंत्रण, जानिए खबर -

Friday, July 19, 2019

हिमालयन कान्क्लेवः हिमालयी राज्यों के प्रतिनिधि अपने अनुभवों को करेंगे साझा : सीएम -

Friday, July 19, 2019

गरीब छात्रों की मदद के लिए किताबें एकत्र करता है यह युवक -

Friday, July 19, 2019

रिलीज के कुछ घंटे बाद ऑनलाइन लीक हो गई ‘द लॉयन किंग’ , जानिए ख़बर -

Friday, July 19, 2019

बच्चों के जन्म एवं विवाह पर पौधे अवश्य लगाए : वन मंत्री हरक सिंह -

Thursday, July 18, 2019

स्नातकोत्तर महाविद्यालय ऋषिकेश को विवि का परिसर बनाने को मिली हरी झंडी -

Thursday, July 18, 2019

एसीजेएम अनुराधा गर्ग हुई बर्खास्त , जानिए खबर -

Thursday, July 18, 2019

समाज में महिलाओं को हुनरमंद बनाया जाना समय की जरूरत : मुख्यमंत्री -

Thursday, July 18, 2019

सिंधु की क्वॉर्टर फाइनल में एंट्री, जानिए ख़बर -

Thursday, July 18, 2019

विकास अवरोधी व महंगाई बढ़ाने वाला बजट : कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह

देहरादून । उत्तराखण्ड प्रदेश कॉंग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने केन्द्र की मोदी सरकार के आम बजट को दिशाहीन, प्रतिगामी, विकास अवरोधी तथा आम आदमी के हितों के खिलाफ महंगाई बढ़ाने वाला बजट बताया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने केन्द्रीय आम बजट पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि केन्द्र सरकार ने अपनी हठधर्मिता का परिचय देते हुए जो बजट प्रस्तुत किया है वह दिशाहीन, प्रतिगामी, विकास विरोधी, मंहगाई बढ़ाने वाला तथा देश की आर्थिक वृद्धि पर चोट पहुंचाने वाला बजट है। देश के वित्त मंत्री ने बजट में आंकडों की बाजीगरी कर घुमाकर नाक पकड़ने का काम किया है। कोरी घोषणाओं व जुमलेबाजी वाले बजट में वित्तीय प्रबन्धन का नितांत अभाव है तथा इस बजट से मंहगाई बढ़ने के साथ ही आम आदमी के सिर पर बोझ बढेगा। उन्होंने कहा कि बजट के प्रावधानों से विकास दर दहाई का आंकडा भी नहीं छू पायेगी और न ही रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। प्रीतम सिंह ने कहा कि वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा प्रस्तुत आम बजट में मात्र कोरी घोषणाओं का अंबार लगाया गया है परन्तु उन्हें पूरा करने के लिए पैसा कहां से आयेगा इसका कोई उल्लेख नहंीं है। बजट में आम जनता को मंहगाई से निजात दिलाने के लिए कोई प्रावधान नहीं किया गया है उल्टा पेट्रोल-डीजल के दामों में 1 रूपया अतिरिक्त सेस लगाकर मंहगाई को बढ़ाने का काम किया है। बजट में नौजवानों के भविष्य की घोर उपेक्षा की गई है इस बजट से देश में रोजगार के अवसर घटेंगे, किसान, गरीब व आम आदमी के लिए इस बजट में कुछ भी नहीं है। पिछले कार्यकाल में की गई नोटबंदी और जीएसटी से देश में कई हजार लघु उद्योग बन्द हो गये थे, रीयल स्टेट सेक्टर में काम पूरी तरह से ठप्प हुआ तथा किसानो को उनकी उत्पाद लागत न मिलने के कारण कृषि क्षेत्र में भी रोजगार के अवसर न्यूनतम हुए हैं। इन तीनों क्षेत्र में लगभग 6 करोड़ से अधिक लोग बेरोजगार हुए हैं। वित मंत्री ने अपने इस बजट में किसानों की आय बढ़ाकर दोगुनी करने की बात की गई है परन्तु इसके लिए कोई प्रावधान नहीं किया गया है। नये रोजगार के अवसर सृजित करने के लिए कोई भी बजट में कोई प्रावधान नहीं किया और बेरोजगार हुए करोड़ों लोगों की पुर्नबहाली की बात पर भी सरकार मौन है। यूपीए सरकार के समय एफडीआई का विरोध करने वाली मोदी सरकार में बीमा क्षेत्र में 100 प्रतिशत एफडीआई की बात की जा रही है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने केन्द्र सरकार के आम बजट को पूॅंजीपतियेां को लाभ पहुंचाने वाला बताया है। उन्होंने कहा कि इनकम टैक्स छूट के किसी भी स्लैब मे कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है जिससे कर्मचारियों को टैक्स छूट के रूप में कोई भी लाभ नहीं मिल पायेगा। महिलाओं, किसानों, बेरोजगार नौजवानों के लिए इस बजट में कोई विशेष प्रावधान नजर नही आता है। रोजगार के सृजन तथा महिलाओं के सशक्तीकरण एवं सम्मान की बात केवल मोदी सरकार की लच्छेदार भाषणों का हिस्सा मात्र है। आत्म हत्या के लिए मजबूर हो रहे किसानों को बरगलाने का काम किया गया है तथा उनके लिए बजट में किसी प्रकार की बडी राहत नहीं दी गई है।

Leave A Comment