Breaking News:

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1145 -

Thursday, June 4, 2020

जागरूकता और सख्ती पर विशेष ध्यान हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, June 4, 2020

दुःखद : बॉलीवुड कास्टिंग निदेशक का निधन -

Thursday, June 4, 2020

वक्त का फेर : चैम्पियन तीरंदाज सड़क पर बेच रही सब्जी -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या 1085 हुई , 42 नए मरीज मिले -

Wednesday, June 3, 2020

अभिनेत्री ने जहर खाकर की खुदकुशी, जानिए खबर -

Wednesday, June 3, 2020

मुझे बदनाम करने की साजिश : फुटबॉल कोच विरेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, June 3, 2020

मोदी 2.0 : पहले साल लिए गए कई ऐतिहासिक निर्णय -

Wednesday, June 3, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 1066 हुई -

Wednesday, June 3, 2020

सराहनीय पहल : एक ट्वीट से अपनों के बीच घर पहुंचा मानसिक दिव्यांग मनोज -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1043 -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में करें अब आनलाईन आवेदन -

Tuesday, June 2, 2020

10 वर्षीय आन्या ने अपने गुल्लक के पैसे देकर मजदूर का किया मदद -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 999 हुई, 243 मरीज हुए ठीक -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 958 -

Monday, June 1, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या 929 हुई, चम्पावत में 15 नए मामले मिले -

Monday, June 1, 2020

जागरूकता: तंबाकू छोड़ने की जागरूकता के लिए स्वयं तत्पर होना जरूरी -

Monday, June 1, 2020

मदद : गांव के छोटे बच्चों को पढ़ा रही भावना -

Monday, June 1, 2020

नही रहे मशहूर संगीतकार वाजिद खान -

Monday, June 1, 2020

नेक कार्य : जरूरतमन्दों के लिए हज़ारो मास्क बना चुकी है प्रवीण शर्मा -

Sunday, May 31, 2020

वैज्ञानिकों ने प्लास्टिक नष्ट कराने वाला एन्जाइम बनाया जानिए ख़बर…

आज विश्व की सबसे बड़ी पर्यावरण संबंधी समस्या प्रदूषण है प्रदूषण एक बहुत बड़ी समस्या बन गई है. प्रदूषण का एक अहम कारण प्लास्टिक है जो अमूमन नष्ट नहीं किया जा सकता है. लेकिन अब कुछ वैज्ञानिकों का दावा है कि उन्होंने एक ऐसा एन्जाइम बनाया है जो प्लास्टिक को नष्ट करने में सक्षम है. विश्व की सबसे बड़ी पर्यावरण संबंधी समस्या के हल की दिशा में ये प्रगति महत्वपूर्ण साबित हो सकती है. इस एन्जाइम के विकास से पॉलीथीन टेरिफ्थेलैट से बने करोड़ों टन बोतलों का रिसाइकिल मुमकिन हो सकता है. अमेरिका के पोर्ट्समाउथ विश्वविद्यालय एवं ऊर्जा मंत्रालय के राष्ट्रीय अक्षय ऊर्जा प्रयोगशाला (एनआरईएल) के अनुसंधानकर्ताओं ने पीईटीएस एन्जाइम की संरचना का अध्ययन किया. थ्रीडी जानकारी की मदद से उसकी कार्यप्रणाली को समझने का प्रयत्न किया. हाल में विकसित ये एन्जाइम पीईटी को नष्ट करने में सक्षम बताया जा रहा है. इन वैज्ञानिकों ने अनजाने में इस एन्जाइम की खोज में सफलता हासिल की है. हमारे जल स्रोतों, मिट्टी और प्राकृतिक नज़ारों को तेज़ी के साथ दूषित करने के लिए अकेले प्लास्टिक ही ज़िम्मेदार है. एक बार उपयोग वाले प्लास्टिक उत्पाद जैसे कि डिस्पोजेबल स्ट्रॉ, कप और प्लेट्स, सब्जी और फल बेचने वालों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले प्लास्टिक बैग्स भारत में प्रदूषण का सबसे बड़ा स्रोत है. इन प्लास्टिक उत्पादों को रिसाइकिल नहीं किया जा सकता है.

Leave A Comment