Breaking News:

अनलॉक के रूप में लॉकडाउन , जानिए खबर -

Saturday, May 30, 2020

कोरोना का कोहराम : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 749 -

Saturday, May 30, 2020

रहा है भारतीय पत्रकारिता का अपना एक गौरवशाली इतिहास -

Saturday, May 30, 2020

पहचान : फ्री ऑन लाइन कोचिंग दे रहे फुटबाल कोच विरेन्द्र सिंह रावत, जानिए खबर -

Saturday, May 30, 2020

एक वर्ष की सफलता ने प्रधानमंत्री मोदी को बनाया विश्व नेता : सीएम त्रिवेंद्र -

Saturday, May 30, 2020

श्री विश्वनाथ मां जगदीशिला डोली के आयोजन स्थलों पर पौधारोपण होगा : नैथानी -

Friday, May 29, 2020

हरेला पर 16 जुलाई को वृहद स्तर पर पौधारोपण किया जाएगाः सीएम -

Friday, May 29, 2020

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन -

Friday, May 29, 2020

ज्योतिषी बेजन दारूवाला का निधन -

Friday, May 29, 2020

कथित पत्रकार सचिवालय के अफसर से ब्लैक मेलिंग में गिरफ्तार -

Friday, May 29, 2020

कोरोना का कोहराम : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 716, आज सबसे अधिक 216 मरीज मिले -

Friday, May 29, 2020

उत्तराखंड : उत्तराखंड में कोरोना मरीजों की संख्या हुई 602 , देहरादून में आज आये 54 नए मामले -

Friday, May 29, 2020

उत्तराखंड : दुकान खुलने का समय प्रातः 7 बजे से सांय 7 बजे तक हुआ -

Thursday, May 28, 2020

कोरोना कहर : उत्तराखंड में कोरोना मरीजों की संख्या पहुँची 500 -

Thursday, May 28, 2020

टीवी अभिनेत्री का सड़क हादसे में हुई मौत -

Thursday, May 28, 2020

बिहार की बेटी ज्योति के मुरीद हुए विदेशी भी, जानिए खबर -

Thursday, May 28, 2020

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना’’ का शुभारंभ हुआ -

Thursday, May 28, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 493 -

Thursday, May 28, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री राहत कोष में आज यह दिए दान, जानिए खबर -

Wednesday, May 27, 2020

देहरादून से विशेष ट्रेन द्वारा हज़ारो मजदूर बिहार एंव उत्तर प्रदेश के लिए रवाना, जानिए खबर -

Wednesday, May 27, 2020

समाज का असली चेहरा ….

pahal

 

अरुण कुमार यादव – सम्पादक

समाज में रह कर समाज के असहाय लोगो को मदद और सम्मान देने की परम्परा जिस तरह से विलुप्त हो रही है यह एक सोचने का विषय है | इस वाक्यांश को ऐसे ही नही बोल रहा हूँ क्यों की ऐसी सच्चाई जानने के लिए जब रात्रि के समय सड़को पर असहाय लोगो से मिलने निकला तो कहि न कहि समाज रूपी सच का पर्दा सामने आने लगा | इस सफर के बातचीत के दौरान समाज का असली चेहरा भी देखने को मिला | इस दौरान मुलाक़ात वृद्ध व्यक्ति शम्भु जी से हुई बातचीत में उन्होंने बताया की एक बिमारी के कारण घर से 5 साल पहले बच्चों ने निकाल दिया | यूपी निवासी शम्भु जी रूठे मन से एक ही शब्द बोल रहे थे इससे अच्छा औलाद ही न हो | यह शब्द समाज के लिए बहुत कुछ बयाँ कर रहा है | इसी कड़ी में सहारनपुर रोड स्थित फ़ुटपाथ पर बैठे मानसिक रूप से कमजोर शख्स से हुई नाम पूछने पर वह नाम तो नही बता पाए पर इशारो में भूखे होने की बात कही जब खाना खिलाया गया तो नम आँखो से मुस्कुराते हाथ जोड़ धन्यवाद का इशारा किये | आगे बढ़ाते हुए प्रिंस चौक पहुचा | प्रिंस चौक स्थित स्थान पर भूखे और आँखो में आशाएं लिए व्हील चेयर पर बैठे मनोज से हुई | मनोज के पास जाने पर उन्होंने कहा मुझे भूख लगी है हम लोगो ने कहा हम आप को खाना खिलाने ही आये आप के पास | बात बात में मनोज ने बताया पहले मजदूरी करता था उसी से गुजर बसेरा करता था पर एक दिन सड़क दुर्घटना में मेरे दोनों पैर खराब हो गए | साहब अब कोई काम नही देता है जिससे मैं और अपने परिवार को दो वक्त की रोटी दे सकूँ | साहब कुछ समय पहले एक जगह काम कर रहे थे लेकिन हाथ से कुछ नुकसान होने पर वह मालिक हमे काम से निकाल दिया | ऐसा सुन कर लगा की आज की समाज असहाय होने पर आप को दो वक्त की रोटी तक नही खिला सकती | अंत में इन सभी असहाय लोगो से मुलाक़ात के बाद मन सवाल उठना लाजमी है समाज आखिर किस दिशा की ओर जा रहा है | मैं समाज से अपील करता हूँ अपने माता पिता के साथ ऐसा न करे एवम् असहाय जरूरतमंद लोगो की मदद के प्रति गंभीर रहे |

Leave A Comment