Breaking News:

आगामी महाकुम्भ को प्लास्टिक मुक्त बनाया जायेगा : त्रिवेन्द्र सिंह रावत -

Monday, July 23, 2018

टैलेंट शो प्रतिभा को निखारने में एक बेहतर प्लेटफार्मः शैल -

Monday, July 23, 2018

अजब गजब : “तेल चोर” सक्रिय गिरोह सीसीटीवी कैमरे में कैद -

Monday, July 23, 2018

रिस्पना टू ऋषिपर्णा अभियान में हजारों की संख्या मे जुटे लोग -

Sunday, July 22, 2018

निस्वार्थ भाव से मां गंगा की सेवा में जुटे हैं युवा, जानिए खबर -

Sunday, July 22, 2018

राज्य सरकार के योजनाओं की जानकारी आम जनता तक पहुंचाए भाजपा कार्यकर्ता : मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र -

Sunday, July 22, 2018

Social-Media पर झूठे व भ्रामक सन्देश पर होगी कड़ी कार्रवाई -

Sunday, July 22, 2018

जीएसटी : रजिस्ट्रेशन होगा अनिवार्य अब 20 लाख के टर्न ओवर पर -

Sunday, July 22, 2018

शैल का नया गीत “कोका” बना युवा दिलो का धड़कन -

Saturday, July 21, 2018

मुख्यमंत्री केरवां गांव से रिस्पना पुनर्जीविकरण का करेंगे शुभारंभ जानिये खबर -

Saturday, July 21, 2018

डब्ल्यूआईसी इंडिया में फोटो प्रदर्शनी को कला प्रेमियों ने सराहा -

Saturday, July 21, 2018

देशभर में सेब का हब बन सकता है उत्तराखण्ड, जानिये खबर -

Saturday, July 21, 2018

सीएम त्रिवेंद्र कल केरवां गांव से रिस्पना पुनर्जीविकरण का करेंगे शुभारंभ -

Saturday, July 21, 2018

2026 में FIFA वर्ल्ड कप खेल सकता है भारत यदि …. -

Saturday, July 21, 2018

त्रिवेंद्र सरकार उत्तराखंड की जनता के सपने को कर रही साकार , जानिये खबर -

Friday, July 20, 2018

पूजा बेदी द्वारा फिक्की फ्लो के लिए ‘लाइफ ट्रांसफॉर्मेशन’ कार्यशाला -

Friday, July 20, 2018

पर्यटन व वन विभाग के मध्य उचित समन्वय आवश्यक : मुख्यमंत्री -

Friday, July 20, 2018

धरती के इतिहास में वैज्ञानिकों ने खोजा ‘मेघालय युग’ जानिये खबर -

Friday, July 20, 2018

सोनाली बेंद्रे ने बेटे रणवीर के लिए लिखी दिल छू जाने वाली बातें , जानिये खबर -

Friday, July 20, 2018

विकास कार्यों में धीमापन बरदाश्त नहींः मुख्यमंत्री -

Friday, July 20, 2018

सर्वेक्षण : 95 % वयस्कों ने अपने मताधिकार का किया है उपयोग

election_india

मुख्य निर्वाचन अधिकारी, उत्तराखण्ड द्वारा कराये गये एक सर्वेक्षण में नागरिकों एवं मतदाताओं के चुनावी ज्ञान एवं अभिरूचि से संबंधित कई महत्वपूर्ण तथ्य प्रकाश में आये हैं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी राधा रतूड़ी ने सर्वेक्षण के परिणामों को उपयोगी बताते हुए कहा कि इससे राज्य में निर्वाचन प्रक्रिया की गुणवत्ता बढ़ाने में सहायता मिलेगी। साथ ही मतदाता जागरूकता के कार्यक्रम और प्रभावी रूप से संचालित किये जा सकेंगे। सर्वेक्षण की जानकारी देते हुए मुख्य निर्वाचन अधिकारी राधा रतूड़ी ने बताया कि अधिकांश मतदाता मतदान के प्रति जागरूक पाये गये। 49 प्रतिशत मतदाताओं ने ‘मतदान मेरा अधिकार है‘, 20 प्रतिशत ने ‘मतदान मेरा कर्त्तव्य है‘ तथा 17 प्रतिशत मतदाताओं ने ‘मतदान देश को दिशा देता है‘ ऐसा सोचकर मतदान किया। सर्वेक्षण में प्रतिभाग करने वाले 95 % वयस्कों ने कम से कम एक बार वोट देने की बात स्वीकार की। शेष 5% अभिवक्ताओं ने कभी भी वोट नहीं दिया है। 94 % लोगों को मतदान हेतु न्यूनतम अर्ह आयु 18 वर्ष होने की जानकारी है, जबकि वोटर के रूप में पंजीकरण के लिये अर्हकारी तिथि तथा राष्ट्रीय मतदाता दिवस की अधिकांश को जानकारी नहीं थी। उत्तराखण्ड के 90 % मतदाताओं द्वारा मतदान केन्द्रों पर विकलांग, वृद्धों तथा महिलाओं के लिये अलग से पंक्ति होने की पुष्टि की। इसी प्रकार 80 % द्वारा पेयजल सुविधाओं तथा 83 % द्वारा शौचालय सुविधा की पुष्टि की गई। 83 % मतदाताओं का विश्वास था कि भारत में मतदान स्वतंत्र रूप में होता है। अधिकांश मतदाताओं ने बताया कि उन्हें निर्वाचन संबंधी सूचनाएं प्रमुखतः टी.वी. तथा विज्ञापनों से प्राप्त होती है। बहुत कम मतदाता चुनाव संबंधी जानकारी के लिये इण्टरनेट का उपयोग करते हैं। चुनाव प्रक्रिया में सुधार हेतु सुझाव देते हुए मतदाताओं ने वृद्ध, विकलांग तथा रोगियों के लिये विशेष व्यवस्था की जरूरत बताई। 100 तथा 108 नम्बर की तरह चुनाव प्रक्रिया एवं संबंधित जानकारी के लिये टोल फ्री नम्बर लाभदायक होगा। मतदाताओं ने यह भी सुझाव दिया है कि चुनाव परिणाम घोषित करते हुए परिणाम मतदेय स्थलवार न घोषित किये जायें, जिससे मतदान की गोपनीयता और मजबूत हो। यह सर्वेक्षण राज्य के सभी 70 विधान सभा क्षेत्रों में एक साथ किया गया। प्रत्येक विधान सभा क्षेत्र से 30 परिवारों का सैम्पल लिया गया। प्रत्येक विधान सभा में 5 ऐसे पोलिंग स्टेशनों को सैम्पिलंग में लिया गया जहाँ बहुत कम मतदान हुआ था। सर्वेक्षण हेतु अनुसूची निर्वाचन विभाग के परामर्श से बनाई गई थी। परिवार के पात्र व्यक्तियों का चयन किश ग्रिड पद्धति से किया गया था। सर्वेक्षण में सभी वर्गों को प्रतिनिधित्व दिया गया था।

Leave A Comment