Breaking News:

सात बार विधायक रहे भगवती सिंह के पास ना अपना घर है ना गाड़ी, जानिए खबर -

Saturday, September 21, 2019

सीएम त्रिवेंद्र वरिष्ठ पत्रकार चंद्रशेखर जोशी की पत्नी आरती बडोनी जोशी के निधन पर जताया शोक -

Friday, September 20, 2019

देहरादून में जहरीली शराब पीने से छह लोगों की मौत -

Friday, September 20, 2019

लाखों की स्मैक के साथ एक दबोचा -

Friday, September 20, 2019

गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय : 11 छात्रों को प्रतिष्ठित कंपनियों में प्लेसमेंट -

Friday, September 20, 2019

शराब कारखाने लगाने की नीति पर हो पुनर्विचार : साध्वी प्राची -

Friday, September 20, 2019

देहरादून : फैशन वीक 20 सितंबर से, जानिए खबर -

Thursday, September 19, 2019

सुपर 30 के संस्थापक आनंद अमेरिका में हुए सम्मानित -

Thursday, September 19, 2019

पंचायत चुनाव : महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष ने पर्यवेक्षक नियुक्त किए -

Thursday, September 19, 2019

ईमानदारी की मिशाल किया पेश, जानिए खबर -

Thursday, September 19, 2019

केदारनाथ के दरबार मे थल सेनाध्यक्ष -

Thursday, September 19, 2019

त्रिवेंद्र सरकार के ढाई वर्ष : उत्तराखंड राज्य के विकास दर में हुई वृद्धि -

Wednesday, September 18, 2019

केजरीवाल सरकार : मजदूर की बेटी शशि बनेगी एमबीबीएस -

Wednesday, September 18, 2019

पुलिस कर्मियों के सामने ‘बेघर’ का संकट -

Wednesday, September 18, 2019

डेंगू और अब स्वाइन फ्लू का अटैक -

Wednesday, September 18, 2019

पंचायत चुनाव: विकास खण्ड मुख्यालय पर होगा चुनाव चिन्ह आवंटन -

Wednesday, September 18, 2019

गरीब बच्चों को राज्यपाल ने स्कूल टिफिन और छाते उपहार स्वरूप किये भेंट -

Tuesday, September 17, 2019

मोटोरोला ने लांच किया स्मार्ट टीवी , जानिए खबर -

Tuesday, September 17, 2019

पीएम नरेन्द्र मोदी के जन्मोत्सव पर चित्र प्रदर्शनी का सीएम त्रिवेंद्र ने किया शुभारंभ -

Tuesday, September 17, 2019

सिर पर हेल्मेट होती तो बच जाती लगभग पचास हज़ार लोगों की जान , जानिए खबर -

Tuesday, September 17, 2019

सावधान : उत्तराखण्ड सरकार के नाम से भी मिल सकती हैं कई फर्जी साइट !

देहरादून । प्रदेश के परिवहन विभाग की वेबसाइट के मिलते-जुलते नाम वाली वेबसाइट बनाकर धोखाधड़ी करने वाले राज्य में तो पकड़े गए हैं। लेकिन यह वेबसाइट अब भी चल रही है। इस साइबर फ्रॉड के पकड़े जाने के बाद फिलहाल परिवहन विभाग को होने वाला नुकसान तो रुक गया है, लेकिन इससे बड़ा सवाल खड़ा हो गया है। सरकारी विभागों से मिलते-जुलते नाम से वेबसाइट बनाकर क्या कोई भी इतनी आसानी से फ्रॉड कर सकता है? इस मामले में साइबर एक्सपर्ट कहते हैं हां। साइबर एक्सपर्ट अंकुर चंद्रकांत कहते हैं कि साइबर वर्ल्ड में होने वाली धोखाधड़ी से बचने का सबसे आसान और सही तरीका का जागरुकता है। आपको खुद ही ध्यान रखना चाहिए कि जिस वेबसाइट का आप इस्तेमाल कर रहे हैं, कहीं वह फेक तो नहीं है. हालांकि यह काम आसान नहीं है। देहरादून पुलिस ने परिवहन विभाग की फर्जी वेबसाइट चलाने वाले जिन धोखेबाजों को पकड़ा है। वह कमर्शियल वाहन चलाने वाले या बाहर से आने वाले ऐसे लोगों से ठगी करते थे जो खुद ऑनलाइन टैक्स जमा नहीं कर सकते थे। साइबर क्रिमिनल तो अच्छे-खासे पढ़े-लिखे लोगों को भी ठग लेते हैं। अंकुर के अनुसार कुछ समय पहले स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की भी फेक वेबसाइट बना ली गई थी। एसबीआई की वेबसाइट है आॅनलाईन एसबीटी डाॅट काम धोखेबाज ने इसमें ओ को जीरो से बदल दिया था। इसकी वजह से वेबसाइट इस्तेमाल करने वाले आसानी से धोखा खा रहे थे। इसी तरह कुछ समय पहले यूपीएससी की भी फेक वेबसाइट बनाकर हजारों अभ्यर्थियों से

Leave A Comment