Breaking News:

उत्तराखण्ड का एडवेंचर टूरिज्म जल्द ही एमटीवी पर दिखेगा -

Thursday, February 20, 2020

सीएम ने बागेश्वर में 44 योजनाओं का किया शिलान्यास एवं लोकार्पण -

Thursday, February 20, 2020

उत्तराखंड में 10 हजार लोगो को आप पार्टी से जोड़ने का लक्ष्यः एसएस कलेर -

Thursday, February 20, 2020

‘इण्डिया ड्रोन फेस्टिवल-2.0‘ का सीएम त्रिवेंद्र ने किया शुभारम्भ -

Thursday, February 20, 2020

नैनीताल हाईकोर्ट के अगले चीफ जस्टिस होंगे आर.बी. मलिमथ -

Thursday, February 20, 2020

गैरसैंण में विधानसभा सत्र तीन मार्च से, जानिए खबर -

Thursday, February 20, 2020

आयोग की परीक्षाओं में न होने पाए कोई गड़बड़ी : सीएम त्रिवेंद्र -

Wednesday, February 19, 2020

जरा हटके : पत्नी से लड़ाई झगड़ा फिर पति का शांतिभंग में चालान, जानिए खबर -

Wednesday, February 19, 2020

परिवर्तन नहीं, अफवाहें विरोधियों का षड़यंत्रः भगत -

Wednesday, February 19, 2020

दुराचार का आरोपी गिरफ्तार, जेल भेजा -

Wednesday, February 19, 2020

उत्तराखंड : एनडी तिवारी के “पाँच साल” की राह पर सीएम त्रिवेंद्र -

Wednesday, February 19, 2020

देवभूमि में ‘पॉलीटेक्निक स्पोर्ट्स मीट 2020’ का समापन -

Tuesday, February 18, 2020

आढ़तियों के चालान पर पूर्व अध्यक्ष आए बचाव में, जानिए खबर -

Tuesday, February 18, 2020

वैलनेस और आयुष का मुख्य डेस्टीनेशन है उत्तराखण्ड: सीएम त्रिवेन्द्र -

Tuesday, February 18, 2020

जरा हटके : समुद्र में ढाई किमी तैरेंगे डॉ आदेश -

Tuesday, February 18, 2020

उत्तरकाशी: भागीरथी में गिरी कार , छह की मौत -

Tuesday, February 18, 2020

सीएम हर बुधवार व गुरूवार विधानसभा कार्यालय में, जानिए खबर -

Tuesday, February 18, 2020

केजरीवाल के शपथ ग्रहण में शामिल हुए “आप” उत्तराखंड के नेता -

Monday, February 17, 2020

उत्तराखंड: राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए भडोली गांव का हुआ चयन -

Monday, February 17, 2020

अनशन : साध्वी पद्मावती की हालत बिगड़ी, ऋषिकेश एम्स रेफर -

Monday, February 17, 2020

सीएम त्रिवेन्द्र पिरूल व सोलर नीति के क्रियान्वयन की किये समीक्षा

देहरादून | मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों से हो रहे पलायन को रोकने, युवाओं के स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराना तथा महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाना हमारी प्राथमिकता है, इसी के दृष्टिगत राज्य में पिरूल एवं सोलर नीति बनायी गई है, इन नीतियों का बेहतर क्रियान्वयन राज्य हित में है। सोमवार को सचिवालय में पिरूल व सोलर नीति के क्रियान्वयन की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि व्यापक जन हित से जुड़ी इन योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन किया जाए। उन्होंने कहा कि पिरूल नीति महिलाओं के आर्थिक स्वावलम्बन का प्रमुख कारक बन सकता है। इससे वनाग्नि को रोकने में मदद मिलने के साथ ही इसमें ऊर्जा व बायोगैस आदि तैयार कर युवाओं को स्वरोजगार की भी राह प्रशस्त करेगी। उन्होंने कहा कि पिरूल संग्रहण एवं एकत्रीकरण व्यवस्था के तहत दी जाने वाली सब्सिडी के लिए धन की कमी नहीं होने दी जायेगी। इस क्षेत्र में अधिक से अधिक उद्यमी आगे आये इसके प्रयास किये जाने चाहिए। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि पिरूल की अधिकता पर्वतीय क्षेत्रों में ही है। अतः पिरूल नीति पर्वतीय क्षेत्रों की आर्थिकी में भी मजबूती प्रदान कर सकती है। उन्होंने इस क्षेत्र में आ रही व्यवहारिक कठनाईयों के निराकरण के भी निर्देश दिये। इसके साथ ही मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने सोलर नीति की भी समीक्षा की तथा राज्य की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने में इसे महत्वपूर्ण बताया। बैठक में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश, प्रमुख सचिव मनीषा पंवार, आनन्द वर्द्धन, सचिव अमित नेगी, राधिका झा, सुशील कुमार, प्रमुख वन संरक्षक जयराज सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Leave A Comment