Breaking News:

उत्तराखंड : महसूस हुए भूकंप के झटके -

Tuesday, November 19, 2019

उत्तराखण्ड : समाज कल्याण विभाग के संयुक्त निदेशक गीताराम नौटियाल निलंबित -

Tuesday, November 19, 2019

मैट्रो से नही दून-ऋषिकेश व हरिद्वार को मिनी मैट्रो से जोड़ा जायेगा -

Tuesday, November 19, 2019

भोजपुरी फिल्म प्रोड्यूसर एवं फिल्म निर्देशक सीएम से की भेंट -

Tuesday, November 19, 2019

केदारनाथ परिसर में बनेगा भगवान शिव की पुरातात्विक महत्व की प्रतिमाओं का नया संग्रहालय, जानिए खबर -

Tuesday, November 19, 2019

कांग्रेस बागी विधायकों के लिए फिर दरवाजे खोलने को तैयार ! -

Monday, November 18, 2019

सीएम ने स्वच्छ कॉलोनी के पुरस्कार से किया सम्मानित, जानिए खबर -

Monday, November 18, 2019

पर्वतीय क्षेत्रों में 500 उपभोक्ता पर एक मीटर रीडर हो ,जानिए खबर -

Monday, November 18, 2019

ईरान एवं भारत में है गहरा सांस्कृतिक सम्बन्धः डॉ पण्ड्या -

Monday, November 18, 2019

गांधी पार्क में ओपन जिम का सीएम त्रिवेंद्र ने किया लोकार्पण -

Monday, November 18, 2019

स्मार्ट सिटी हेतु 575 करोड़ रूपए के कामों का हुआ शिलान्यास, जानिए खबर -

Sunday, November 17, 2019

मिसेज दून दिवा सेशन-2 के फिनाले में पहुंचे राहुल रॉय , जानिए खबर -

Sunday, November 17, 2019

शीघ्र ही नई शिक्षा नीति : निशंक -

Sunday, November 17, 2019

उत्तराखंड : युवा इनोवेटर्स ने विकसित किए ऊर्जा दक्ष वाहन -

Sunday, November 17, 2019

यमकेश्वर : कार्यरत स्टार्ट अप को मुख्यमंत्री ने दिए 10 लाख रूपए -

Sunday, November 17, 2019

भगवा रक्षा दल : पंकज कपूर बने प्रदेश मीडिया प्रभारी -

Saturday, November 16, 2019

उत्तराखण्ड स्कूलों में वर्चुअल क्लास शुरू करने वाला बना पहला राज्य -

Saturday, November 16, 2019

सूचना कर्मचारी संघ चुनाव : भुवन जोशी अध्यक्ष , सुषमा उपाध्यक्ष एवं सुरेश चन्द्र भट्ट चुने गए महामंत्री -

Saturday, November 16, 2019

रेस लगाना पड़ा महंगा, हादसे में तीन की मौत -

Saturday, November 16, 2019

पब्लिक रिलेशंस सोसाइटी आफ इंडिया : 41वीं नेशनल कान्फ्रेंश के ब्रोशर का हुआ विमोचन -

Saturday, November 16, 2019

सीएम हरीश रावत बदले की भावना से कर रहे काम : हरक सिंह रावत

uk

देहरादून। कांग्रेस से बागी होकर भाजपा का दामन थामने वाले पूर्व मंत्री डा. हरक सिंह रावत ने सीएम हरीश रावत पर आरोप लगाया है कि उन्होंने बदले भावना से उनकी सहसपुर की जमीन के मामले की जांच एसआईटी को सौंपी है, जबकि सहसपुर थाने की पुलिस वर्षों पूर्व दर्ज हुए मुकदमे में अपनी फाइनल रिपोर्ट लगाकर स्पष्ट लिख चुकी है कि जमीन की पावर आॅफ अटार्नी उसकी मालकिन ने अपने जीवित होते ही करायी थी। हरक सिंह ने मुख्यमंत्री हरीश रावत को चुनौती दी कि यदि उनमें दम है तो वह अपनी और उनकी सम्पत्तियों की सीबीआई जांच कराने की संस्तुति कर दें, उससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जायेगा। राजधानी देहरादून में आयोजित पत्रकार वार्ता में हरक सिंह रावत ने कहा कि मुख्यमंत्री हरीश रावत बदले की भावना व जानबूझ कर उनकी सहसपुर की जमीन की जांच एसआईटी से करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पांच दिसम्बर 2002 को सुशीला रानी ने दिल्ली सरकार के सब रजिस्टार कार्यालय में अपनी जमीन की पावर आॅफ अटार्नी विरेन्द्र कण्डारी के नाम पर की थी और 31 मार्च 2004 को विरेन्द्र कण्डारी से यह जमीन दीप्ति रावत ने खरीदी थी। उन्होंने कहा कि रमेश पोखरियाल निशंक के मुख्यमंत्रीत्व कार्यकाल में 19 अप्रैल 2011 को सहसपुर थाने में विरेन्द्र कण्डारी के खिलाफ जमीन को हड़पने को लेकर मुकदमा कायम किया गया था, इसमें सहसपुर पुलिस ने अपनी अन्तिम रिपोर्ट यह कहकर लगायी थी कि सुशीला रानी की मौत 1974 में नहीं बल्कि 2005 में हुई थी और उनके जीवित काल में ही यह पावर आॅफ अटार्नी हुई थी। जबकि यह आरोप लगा था कि सुशीला रानी की मौत 1974 में हो गयी थी और फर्जी रूप से 2002 में यह पावर आॅफ अटर्नी बनायी गयी थी। हरक सिंह रावत ने कहा कि सुशीला रानी का एक मुकदमा दिल्ली उच्च न्यायालय चल रहा था जिसमें साफ आदेश किये गये थे कि सुशीला रानी और सावित्री देवी एक ही महिला हैं। उन्होंने बताया कि जब विरेन्द्र कण्डारी व उनका एक साथी सहसपुर थाने में दर्ज मुकदमें में गिरśतारी पर रोक लगाने के लिए गया था तो उच्च न्यायालय ने भी यह मामला यह कहकर खारिज कर दिया था कि पुलिस ने अपनी जांच में फाइनल रिपोर्ट लगा दी है।

Leave A Comment