Breaking News:

छत्तीसगढ़ में नक्सली हमला, आईईडी ब्लास्ट में 6 जवान शहीद -

Sunday, May 20, 2018

रोजा तोड़कर बचाई जान जानिए ख़बर -

Sunday, May 20, 2018

आने वाली पीढ़ियों के लिये रिस्पना को बचाने का प्रयास : सीएम -

Saturday, May 19, 2018

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर प्लेऑफ की दौड़ से बाहर जानिए ख़बर -

Saturday, May 19, 2018

मुख्यमंत्री मोबाइल एप पर शिकायत और मैड मल्ला और तल्ला गाँव के लिए पहुंचा पीने का पानी। -

Saturday, May 19, 2018

फिल्म ‘लस्ट स्टोरीज’ का ट्रेलर हुआ रिलीज -

Saturday, May 19, 2018

पीएम मोदी ने जोजिला सुरंग का किया शिलान्यास, एशिया की सबसे लंबी सुरंग -

Saturday, May 19, 2018

अफगानिस्तान की क्रिकेट टीम देहरादून पहुंची, तीन जून को पहला मैच -

Saturday, May 19, 2018

उत्तराखण्ड में विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की अपार सम्भावनाएं : अनूप -

Friday, May 18, 2018

कल श्रीनगर जाएंगे पीएम मोदी -

Friday, May 18, 2018

रिस्पना नदी के पुनर्जीवीकरण हेतु अभियान में सभी दे साथ : सीएम -

Friday, May 18, 2018

कीर्ति व कृष्णा बने मिस्टर एंड मिस नाॅर्थ इंडिया ग्लैम हंट -

Friday, May 18, 2018

चार धाम ऑल वेदर रोड निर्माण कार्यो की हुई समीक्षा -

Friday, May 18, 2018

फिल्म ‘नक्काश’ का पोस्टर लॉन्च -

Friday, May 18, 2018

येदियुरप्पा कल साबित करेंगे बहुमत -

Friday, May 18, 2018

हक की लड़ाई : शीला रावत के समर्थन में अनेक समाजिक एवम राजनीतिक संगठन आये आगे -

Thursday, May 17, 2018

मिशन रिस्पना सरकारी आयोजन नही बल्कि महा जन अभियान है : सीएम -

Thursday, May 17, 2018

केदारनाथ धाम का लेजर शो अब दूरदर्शन पर भी जानिए ख़बर -

Thursday, May 17, 2018

येदियुरप्पा ने ली कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ -

Thursday, May 17, 2018

फिल्मों की शूटिंग की अपार संभावनाएं उत्तराखण्ड में : रमेश सिप्पी -

Thursday, May 17, 2018

सीबीएसई: स्कूल एडमिट कार्ड का शुल्क नहीं वसूल सकते

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) को कई स्कूलों की शिकायत मिली थी। इसमें बोर्ड परीक्षा में बैठने वाले छात्रों को प्रवेश पत्र के बदले शुल्क लिए जाने की शिकायत आई थी। स्कूलों में इस तरह की शिकायत के बाद बोर्ड ने सख्ती बरत ली है। इसके लिए सीबीएसई ने सभी स्कूलों को पत्र लिखकर प्रवेश पत्र के बदले शुल्क ना लेने के निर्देश दिए हैं। बोर्ड के परीक्षा कंट्रोलर केके चौधरी ने स्कूलों को पत्र में लिखा है कि नियम 15 में साफ है कि सीबीएसई से प्रमाणित किसी भी स्कूल का हैड किसी योग्य छात्र को परीक्षा में बैठने से रोक नहीं सकता है। स्कूल किसी भी छात्र से प्रवेश पत्र देने की फीस नहीं ले सकता है। यह कानून का उल्लंघन है। बोर्ड केवल उन्हीं छात्रों  को प्रवेश पत्र देगा जिनका नाम स्कूल ने अंतिम सूची (लिस्ट आफ कैंडिडेट) में दिया होगा। जो स्कूल ने पहले ही बना ली थी। उधर, सीबीएसई के देहरादून रीजन ने इस तरह की शिकायतों से इनकार किया है। दून रीजन में कुछ 1661 स्कूल हैं। इनमें से 1080 स्कूल पश्चिमी यूपी और उत्तराखंड के 572 शामिल हैं। क्षेत्रीय निदेशक रणवीर सिंह ने बताया कि प्रवेश पत्र के बदले शुल्क लिए जाने की फिलहाल कोई शिकायत नहीं है। केंद्र के आदेश के बाद स्कूलों को निर्देश जारी करेंगे।

Leave A Comment