Breaking News:

सीएम ने की विभिन्न निर्माण कार्यों का शिलान्यास, जानिए खबर -

Sunday, December 9, 2018

पौराणिक मेले हमारी पहचान : सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, December 9, 2018

मैड और एनसीसी की टीम ने रिस्पना को किया साफ़ -

Sunday, December 9, 2018

राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन : हिमालय और गंगा राष्ट्र का गौरव -

Sunday, December 9, 2018

दून नगर निगम बढ़ाएगा हाउस टैक्स, जानिए खबर -

Sunday, December 9, 2018

आईएमए पीओपीः 347 कैडेट बने भारतीय सेना का हिस्सा -

Saturday, December 8, 2018

सीएम त्रिवेंद्र 40वें आॅल इण्डिया पब्लिक रिलेशन्स काॅन्फ्रेंस का किया शुभारम्भ -

Saturday, December 8, 2018

कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या की कोशिश, हालत गंभीर -

Saturday, December 8, 2018

सीएम त्रिवेंद्र किये कई घोषणाएं , जानिए खबर -

Saturday, December 8, 2018

‘केदारनाथ’ फिल्म के नाम से ऐतराज: सतपाल महाराज -

Saturday, December 8, 2018

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र करेंगे राष्ट्रीय जनसंपर्क सम्मेलन का शुभारंभ -

Friday, December 7, 2018

सीएम एप ने दिलाई गरीब परिवारों को धुएं से मुक्ति, जानिए खबर -

Friday, December 7, 2018

गावस्कर : विराट नहीं भारत के ओपनर करेंगे सीरीज का फैसला -

Friday, December 7, 2018

मीका सिंह को छेड़छाड़ मामले में कोर्ट में पेश किए जाएंगे -

Friday, December 7, 2018

सड़क पर बच्चे का जन्म, जानिए खबर -

Friday, December 7, 2018

गन्ना किसानों का बकाया भुगतान जल्द, जानिए खबर -

Friday, December 7, 2018

फैशन में करियर की अपार संभावनाएंः पूर्व मिस इंडिया इको ख्याती -

Thursday, December 6, 2018

उत्तराखंड : 1111 पुरूष व महिला होमगार्डस की नई भर्तियां जल्द -

Thursday, December 6, 2018

उत्तराखंड : जिलाधिकारियों के पाले में केदारनाथ फिल्म की रिलीज -

Thursday, December 6, 2018

गौतम गंभीर कोटला पर आखिरी बार थामेंगे बल्ला -

Thursday, December 6, 2018

सीरियाई संकट जल्द खत्म करने की जरूरत है : संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव अंटोनियो गुटेरेश ने बुधवार को चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अब तक संयुक्त राष्ट्र इस मसले का कूटनीतिक समाधान निकालने में असफल रहा है. उन्होंने कहा कि वह सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्यों, अमेरिका, रूस, चीन, फ्रांस और ब्रिटेन के राजदूतों के साथ इस मुद्दे पर चर्चा करेंगे ताकि स्थिति नियंत्रण से बाहर न हो. हाल में अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने कहा कि सीरिया में कथित रासायनिक हमलों का जवाब दिया जाएगा. संयुक्त राष्ट्र ने सीरिया संकट पर बातचीत के लिए आपातकालीन बैठक बुलाई है. वहीं ब्रिटेन ने भी इस मुद्दे पर आपातकालीन कैबिनेट बैठक बुलाई है. कयास लगाए जा रहे हैं कि अमेरिका कथित रासायनिक हमलों के जवाब में कोई बड़ी सैन्य कार्रवाई कर सकता है. एक निगरानी समूह के मुताबिक रूस ने सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद पर से ये आरोप हटाने की कोशिश की है. इसके तहत राजधानी दमिश्क की इमारतों से असद प्रशासन ने सुरक्षाबलों को हटा दिया है. पिछले दिनों लेबनान में कार्यरत रूस के राजदूत ने एक टीवी चैनल पर कहा था कि अगर अमेरिका मिसाइल हमला करता है, तो उसे खत्म कर दिया जाएगा. इसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने ट्वीट की बौछार कर जवाबी कार्रवाई की बात कही थी. रूस और अमेरिका ने अब तक संयुक्त राष्ट्र में रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल पर अंतरराष्ट्रीय एजेंसी से जांच कराने को लेकर एक-दूसरे के प्रस्तावों के खिलाफ अपने वीटो का इस्तेमाल किया है. हालांकि इस बीच रूस के रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि कथित रूप से रासायनिक हमलों का निशाना बनाए गए डूमा पर सीरिया प्रशासन ने अपना झंडा फहरा दिया. इसका मतलब है कि अब यह क्षेत्र सरकार के पूर्व नियंत्रण में आ गया है, जो पहले विद्रोहियों के कब्जे में था. वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय व्हाइट हाउस की प्रवक्ता सारा सैंडर्स के मुताबिक, “अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप, सीरिया में हुए रासायनिक हमले के लिए सीरियाई प्रशासन और रूस को जिम्मेदार मान रह हैं.” रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने इस बारे में कहा, “दुनिया में स्थिति हर दिन अराजक होती जा रही है लेकिन हम उम्मीद करते हैं कि कॉमनसेंस को जगह मिलेगी और अंतरराष्ट्रीय संबंध एक नए रचनात्मक माहौल की ओर बढ़ेंगे. वहीं सीरिया का असद प्रशासन, अमेरिका पर विद्रोहियों का साथ देने का आरोप लगाता है. पिछले सात साल से सीरिया में गृहयुद्ध जारी है.

Leave A Comment