Breaking News:

उत्तराखंड : राज्य में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 401 -

Tuesday, May 26, 2020

“आप” पार्टी से जुड़े कई लोग, जानिए खबर -

Tuesday, May 26, 2020

उत्तराखंड : प्रदेश भाजपा ने विभिन्न समितियों का गठन किया -

Tuesday, May 26, 2020

कोरोना संक्रमित लोगों की जाँच कर रहे अस्पतालो को मिलेगा 50 लाख रूपए की प्रोत्साहन राशि -

Tuesday, May 26, 2020

उत्तराखंड : 51 कोरोना मरीज और मिले, संख्या हुई 400 -

Tuesday, May 26, 2020

नेक कार्य : पर्दे के हीरो से रियल हीरो बने सोनू सूद -

Monday, May 25, 2020

संक्रमण का दौर है सभी जनता अपनी जिम्मेदारियों को समझे : सीएम त्रिवेंद्र -

Monday, May 25, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 349 हुई -

Monday, May 25, 2020

उत्तराखंड : राज्य में कोरोना मरीजो की संख्या 332 हुई -

Monday, May 25, 2020

ऑटो-रिक्शा चालकों ने की आर्थिक सहायता की मांग -

Sunday, May 24, 2020

दुःखद : महिला ने फांसी लगाकर की आत्महत्या -

Sunday, May 24, 2020

अन्नपूर्णा रोटी बैंक चैरिटेबल ट्रस्ट पुलिस कर्मियों को पुष्प भेंट किया सम्मान -

Sunday, May 24, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो कि संख्या हुई 317 -

Sunday, May 24, 2020

उत्तराखंड: राज्य में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 298 -

Sunday, May 24, 2020

पानी में डूबकर दम घुटने से हुई युवती की मौत -

Saturday, May 23, 2020

उत्तराखंड में कोरोना का कहर , मरीजो की संख्या हुई 244 -

Saturday, May 23, 2020

सीएम त्रिवेंद्र ने कांस्टेबल स्व0 संजय गुर्जर की पत्नी को 10 लाख रूपये का चेक सौंपा -

Saturday, May 23, 2020

कोरोना का कोहराम : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 173 हुई -

Saturday, May 23, 2020

कोरोना की मार: ठेले पर फल बेच जीविका चलाने को मजबूर यह कलाकार -

Saturday, May 23, 2020

सचिन आनंद एंव गणेश चन्द्र ठाकुर चुने गए कोरोना वॉरियर्स ऑफ द डे -

Friday, May 22, 2020

स्मार्ट सिटी बनाने पर पर्यावरण का रहेगा ध्यान : हरीश रावत

harish-cm

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा है कि देहरादून में स्मार्ट सिटी के संबंध में व्यक्त की गई तमाम शंकाओं व चिंताओं को राज्य सरकार ने गम्भीरता से लेते हुए इनका समाधान किया है। इसीलिए स्मार्ट सिटी को स्केल डाउन करते हुए इसके एरिया को 350 एकड़ से नीचे रखा गया है। जीएमएस रोड़ स्थित एक होटल में अमर उजाला द्वारा स्मार्ट सिटी पर आयोजित संवाद कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि विकास के इतिहास में एक फेज दूसरे फेज को टेकओवर करता है। पूर्व केंद्र सरकार द्वारा जेएनएनयूआरएम के जरिए शहरों व कस्बों को ट्रांसफोर्म किया जा रहा था। वर्तमान केंद्र सरकार स्मार्ट सिटी व अमृत शहर की कन्सेप्ट लाई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र द्वारा स्मार्ट सिटी के लिए प्रारम्भिक तौर पर चयनित शहरों में देहरादून को शामिल किया गया है। हमारे सामने दो विकल्प थे। पहला, वर्तमान देहरादून में ही रेट्रोफिटिंग कन्सेप्ट के साथ बदलाव लाते। इसके लिए नगर निगम को आगे आना होता। परंतु वर्तमान में नगर निगम देहरादून की स्थिति ऐसी नहीं है कि इसमें कुछ विशेष कर पाता। दूसरा, एक नए क्षेत्र को स्मार्ट कन्सेप्ट के साथ विकसित करते। इसमें मसूरी की तरफ नहीं बढ़ा जा सकता था। रायपुर में वन क्षेत्र आ जाता है। डोईवाला में कृषि भूमि है जो कि चीनी मिल को सपोर्ट करता है। इससे सैंकड़ों लोगों की आजीविका जुड़ी है। सर्वश्रेष्ठ विकल्प चाय बागान की भूमि थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि चाय बागान की भूमि पर अतिक्रमण होने लग रहे थे और अवैध प्लाटिंग भी देखने को मिल रही थी। हमने लोगों द्वारा व्यक्त की गई शंकाओं को पूरी गम्भीरता से लिया है और इनका समाधान किया है। चाय बागान में वर्तमान में कार्यरत मजदूरों को स्मार्ट सिटी में रोजगार उपलब्ध करवाया जाएगा और उन्हें अच्छा घर भी उपलब्ध करवाया जाएगा। जो लोग वहां खेती कर रहे हैं या जिन्होंने प्लाट क्रय किए हैं उनके हितों की सुरक्षा भी सुनिश्चित की जाएगी। एफआरआई से यह बताने को कहा गया है कि स्मार्ट सिटी में पर्यावरणीय कारणों से कितना ग्रीन कवर आवश्यक है, उतनी भूमि इसके लिए चिन्हित कर दी जाएगी।

Leave A Comment