Breaking News:

पाकिस्तान से क्रिकेट पर शर्तों के साथ प्रतिबंध नहीं होना चहिए -

Wednesday, September 19, 2018

2500 बच्चियों को शिक्षा के लिए 90 दिन में तय करेंगे 6 हजार किमी -

Wednesday, September 19, 2018

‘मेंटल है क्या’ की राइटर का खुलासा, जानिए खबर -

Wednesday, September 19, 2018

फर्जी प्रमाणपत्रों के जरिए फर्जी तरीके से नौकरी कर रहे हैं कई लोगः चौहान -

Wednesday, September 19, 2018

हर मुद्दे पर विधानसभा में चर्चा को तैयार सरकार : सीएम -

Wednesday, September 19, 2018

भारतीय सेना में चयनित लेफ्टिनेंट मालविका रावत को सीएम त्रिवेंद्र ने किया सम्मानित -

Wednesday, September 19, 2018

उत्तराखंड विधानसभा सत्र : अनेक मुद्दों पर हुई चर्चा -

Tuesday, September 18, 2018

26 सालों से मंदिर की देखभाल कर रहे हैं मुसलमान -

Tuesday, September 18, 2018

हर बाधाओं को पार कर हमारे खिलाड़ियों ने पायी सफल -

Tuesday, September 18, 2018

अनुष्का शर्मा ने खोला वरुण धवन का राज! -

Tuesday, September 18, 2018

देहरादून के निर्माता ओम प्रकाश भट्ट ने किया मुंबई में प्रोडक्शन हाउस का लांच -

Tuesday, September 18, 2018

प्राइमरी स्कूली बच्चों संग पीएम मोदी ने मनाया जन्मदिन -

Tuesday, September 18, 2018

चिन्यालीसौड़ में मुख्यमंत्री ने किया आर्च पुल का लोकार्पण -

Monday, September 17, 2018

कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक ‘खून का रिश्ता’ -

Monday, September 17, 2018

अटल जी का मार्गदर्शन उनकी कविताओं और विचारों के माध्यम से देश को हमेशा रहेगा मिलता: सीएम -

Monday, September 17, 2018

रवि शास्त्री को कोच पद से हटाने की मांग, जानिये खबर -

Monday, September 17, 2018

गौमाता को सम्मान दिलाने के लिए सभी कृष्ण भक्त आगे आएंः गोपाल मणि महाराज -

Monday, September 17, 2018

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को सीएम त्रिवेन्द्र ने जन्मदिन की दी हार्दिक बधाई -

Sunday, September 16, 2018

बॉक्सिंग: पोलैंड में जूनियर लड़कियों ने जीते गोल्ड -

Sunday, September 16, 2018

उत्तराखंड नेक्स्ट टाॅप माॅडल बने आयुषी व निखिल -

Sunday, September 16, 2018

हक के लिए हार नहीं मानेंगे : शीला रावत

uk-sheela

देहरादून। यूसैक से निकाले गये कर्मचारियों ने अपनी बहाली की मांग को लेकर धरनास्थल पर अंतरिक्ष उपयोग केन्द्र के निदेशक के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए धरना दिया। कहा कि शीघ्र ही मांगों का निदान नहीं किया गया तो सड़कों पर उतरकर आंदोलन को किया जायेगा। यूसैक से निकाले गये कर्मचारी शीला रावत के नेतृत्व में धरना स्थल पर इकट्ठा हुए और वहां पर बहाली की मांग को लेकर प्रदर्शन करते हुए धरना दिया। इस अवसर पर शीला रावत ने कहा कि पिछले 73 दिन से शांतिपूर्वक अनिश्चितकालीन धरना यूसैक के गेट के बाहर धरना दिया और यूसैक के निदेशक ने बिना कारण बताये नौकरी से निकाल दिया था अपने हक के लिए आवाज उठा रहे थे उन्हें वसंत विहार पुलिस ने जोर जबरदस्ती धारा 151 लगा कर शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया था, गिरफ्तारी के बाद तमाम सामाजिक संगठन व राजनीतिक संगठनों से जुड़े सामाजिक कार्यकर्त्ता पीड़ितों के समर्थन में पहले पुलिस लाइन फिर सिटी मजिस्ट्रेट के यहाँ निजी मुचलके पर सिटी मजिस्ट्रेट ने सभी कर्मियों को जमानत पर रिहा किया। उनका कहना है कि अपने हक के लिए हार नहीं मानेंगें और धरना स्थल परेड ग्राउंड, देहरादून में संघर्ष जारी रखा जायेगा। उनका कहना है कि आज उनके धरने को 75वें दिन भी जारी रहा और उनका कहना है कि विभाग में सात वर्ष से निरन्तर कार्यरत महिला व पुरुष कर्मियों को उत्पीड़न कर बाहर करने के निर्णय को वापस लेकर, ससम्मान विभाग में वापसी की जाये और आउट सोर्स पर तैनात सभी कर्मियों की विभाग में स्थाई नियुक्ति प्रदान की जाये। उनका कहना है कि प्रतिनियुक्ति पर तैनात निदेशक एमपीएस बिष्ट पर महिला उत्पीड़न व तानाशाही को लेकर कार्यवाही किये जाने की आवश्यकता है और उच्चाधिकारियों को इसका संज्ञान लेना होगा उनका कहना है कि विभाग में व्याप्त अनियमित्ताओं की निष्पक्ष जांच की जाये और विभाग में महिला उत्पीड़न रोकने के लिए, वूमैन सेल का गठन तत्काल प्रभाव से किया जाये। उनका कहना है कि शीघ्र ही उनकी मांगों का समाधान नहीं किया गया तो आंदोलन को तेज किया जायेगा। उनका कहना है कि लंबे समय से आंदोलन किया जा रहा है लेकिन अभी तक केन्द्र के निदेशक के खिलाफ किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं की गई है। अन्य संगठनों के कार्यकर्ताओं ने भी आंदोलन को अपना समर्थन दिया। धरने में जगदीश कुकरेती, सुलोचना बहुगुणा, आनंद त्यागी, जीत सिंह, शीला रावत, दीपक भंडारी, सोहन नेगी, मोहन दास, देवेंद्र रावत, अरुण कुमार आदि शामिल हुए।

Leave A Comment