Breaking News:

दर – दर भटक रही है अपने बच्चे के साथ यह महिला, जानिए खबर -

Thursday, January 18, 2018

बिग बॉस के इस प्रतिभागी का चेहरा सर्जरी से हुआ खराब, जानिए है कौन -

Thursday, January 18, 2018

प्रदेश में भू कानून में परिवर्तन की मांग को लेकर “हम” का धरना -

Thursday, January 18, 2018

शासकीय योजनाओं का हो व्यापक प्रचार-प्रसार : डाॅ.पंकज कुमार पाण्डेय -

Thursday, January 18, 2018

केंद्रीय वित्तमंत्री के समक्ष सीएम ने रखी ग्रीन बोनस की मांग -

Thursday, January 18, 2018

कांटों वाले बाबा को हर कोई देख है दंग … -

Wednesday, January 17, 2018

फिल्म पद्मावत फिर पहुंची एक बार कोर्ट, जानिए खबर -

Wednesday, January 17, 2018

बालिकाओ ने जूडो, बैडमिंटन, फुटबाल, वालीबाल, बाक्सिंग में दिखाई दम -

Wednesday, January 17, 2018

उत्तराखंड के उत्पादों का एक ही ब्रांड नेम होना चाहिए : उत्पल कुमार सिंह -

Wednesday, January 17, 2018

पर्वतीय राज्यों को मिले 2 प्रतिशत ग्रीन बोनस : सीएम -

Wednesday, January 17, 2018

सिर दर्द हो तो करे यह उपाय …. -

Monday, January 15, 2018

उत्तरायणी महोत्सव में रंगारंग कार्यक्रमों की धूम -

Monday, January 15, 2018

सौर ऊर्जा से चलने वाली कार का दिया प्रस्तुतीकरण -

Monday, January 15, 2018

सीएम ने ईको फ्रेण्डली किल वेस्ट मशीन का किया उद्घाटन -

Monday, January 15, 2018

औद्योगीकरण को बढ़ावा देने को लेकर प्रदेश में सिंगल विंडो सिस्टम लागू -

Monday, January 15, 2018

युवा क्रिकेटर के लिए भारतीय तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने मांगी मदद -

Sunday, January 14, 2018

कक्षा सात की बालिका ने प्रधानमंत्री के लिए लिखी चिट्ठी, जानिए खबर -

Sunday, January 14, 2018

हरियाली डेवलपमेंट फाउंडेशन ने की गरीब, अनाथ एवं बेसहारा लोगो की मदद -

Sunday, January 14, 2018

रेडिमेड वस्त्रों के 670 सेंटर स्थापित किये जायेंगेः सीएम -

Sunday, January 14, 2018

सीएम ने 14 विकास योजनाओं का किया शिलान्यास -

Saturday, January 13, 2018

हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट विद्यालयों में अध्यापकों की होगी तैनाती

CM MEET

पर्यटन नगरी पौड़ी में प्राकृतिक रुप से सुशोभित क्षेत्र खिर्सू में प्रथम खिर्सू ग्रीष्मोत्सव का उद्घाटन मुख्यमंत्री हरीश रावत द्वारा घण्डियाल देवता के चरणों में प्रणाम करते हुए किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि खिर्सू को प्रकृति ने खूब संवारा है और इसे पर्यटन नगरी बनाने में क्षेत्र के लोगों का सहयोग आवश्यक है। उन्होंने कहा कि खिर्सू, पौड़ी, श्रीनगर एवं लैंसडौन को पर्यटन सर्किट के रुप में तैयार कर पर्यटकों को आकर्षित करने की सरकार की मंशा है और इस सर्किट को योजनाबद्ध तरीके से अपनाकर ही पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा दिया जा सकता है। उन्होंने खिर्सू खेल मैदान में मंच की व्यवस्था के लिये संसदीय सचिव एवं क्षेत्रीय विधायक गणेश गोदियाल एवं अपनी ओर से 5-5 लाख रू0 की धनराशि उपलब्ध कराने का आश्वासन क्षेत्रीय जनता को दिया। उन्होंने कहा कि आज हमारी सांस्कृतिक विरासत खतरे में है जबकि सीमान्त क्षेत्र में संस्कृति अभी संरक्षित है और बीच के स्थानों अल्मोड़ा, पौड़ी, टिहरी में लोगों के पलायन के साथ ही संस्कृति का भी पलायन हो रहा है। उन्होंने सांस्कृतिक पुनरोत्थान किये जाने की आवश्यकता जताई साथ ही उत्तराखण्ड में समृद्ध संस्कृति को पुर्नजाग्रित करने की आवश्यकता बताई। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही राज्य में दो सांस्कृतिक मेलों का आयोजन किया जायेगा जिसकी शुरूआत ऋषिकेश एवं अल्मोड़ा के जागेश्वर नामक स्थान से की जायेगी। उन्होंने चारधाम यात्रा के अलावा अन्य सांस्कृतिक गतिविधियों को चलाने के लिये कलाकारों को पुरस्कृत किये जाने की भी योजना बनाये जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड को विकास की गति देने में आज शिक्षा, खेती और हुनर की आवश्यकता है। आज आईटीआई स्कूलों की आवश्यकता नहीं है बल्कि तकनीकि ज्ञान की आवश्यकता है। इसके लिये नर्सिंग कालेज खोले जा रहे हैं जिनकी मांग व्यवसायिक दृष्टि से आज बढ़ रही है। खिर्सू में पंथ्यादादा के नाम से आईटीआई संस्थान खोला जायेगा। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा प्राईमरी अध्यापकों की पूर्ति कर दी गई है तथा आगामी माह सितम्बर तक हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट विद्यालयों में भी अध्यापकों की तैनाती स्थानीय स्तर पर की जायेगी। उन्होंने शिक्षा के पुनरोत्थान करने के साथ ही पहाड़ में खतरे की कगार पर पहुंची खेती को जिसमें मुख्य रूप से मंडुवा, उड़द, काला भट्ट, चैलाई है, इनका उत्पादन बढ़ाये जाने तथा उस पर बोनस दिये जाने के लिये कृषि विभाग को काश्तकारों के फसल के क्षेत्रफल की नापजोख करने के निर्देश दिये। उन्होंने इसके अलावा राजमा, फांफर, पल्थी, अनारदाना, माल्टा, नींबू, भीमल, खडि़क, गेंठी, तिमला तथा अखरोट के वृक्ष खाली पड़ी जमीन पर लगाने के साथ हीउत्पादन बढ़ाते हुए खेती को न छोड़ने का आह्वान लोगों से किया। उन्होंने कहा कि काश्तकारों की खाली पड़ी जमीन पर जड़ी बूटी के उत्पादन पर काश्तकारों को तीन साल तक इसका मुआवजा दिलाया जायेगा। उन्होंने बताया कि महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिये तथा पहाड़ से पलायन को रोकने के लिये बाजारों व हाटों को विकसित कर रोजगार के अवसर तलाशे जायेंगे। उन्होंने बताया कि राज्य मे 70 महिला स्वयं सेवी समूह हैं जो 2 करोड़ रू. की पूंजी का आदान-प्रदान कर रहीं हैं। उन्होंने कहा कि महिलाओं के लिये विभिन्न व्यवसायों में प्रशिक्षण के लिये दो हजार मास्टर क्राफ्ट महिलायें तैयार कर उनके द्वारा अन्य महिलाओं को प्रशिक्षित कर रोजगार की दिशा में बढ़ाया जायेगा। उन्होंने कहा कि राज्य में 8 आईटीआई खोले जा रहें हैं जिनमें से 3 आईटीआई विशुद्व रूप से महिलाओं को ड्राइविंग लाइसेंस देने के लिये खोले जायेंगंे। उन्होंने बताया कि सरकार निकट भविष्य में 1 हजार महिला पुलिस कांस्टेबलों की भर्ती करेगी तथा प्रत्येक थाने में इस वर्ष से एक-एक महिला एसआई की नियुक्ति भी की जायेगी। उन्होंने बताया कि विशुद्व रूप से महिलाओं को रोजगार दिये जाने के लिये प्रान्तीय रक्षक दल तथा होमगार्ड में 25 प्रतिशत महिलायें भर्ती होंगी जो आंतरिक सुरक्षा के कार्य में हाथ बंटायेंगीं। उन्होंने बताया कि आगामी समय में विभिन्न विभागों के 20 हजार पदों पर अधीनस्थ चयन आयोग के माध्यम से भर्ती की जायेगी जिसके लिये विभागों को पुनर्गठन प्रस्ताव लाने के निर्देश दिये गये हैं। इसके अलावा सूचना विभाग पौड़ी ने सरकार द्वारा चलायी जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं पर आधारित विकास पुस्तिका का भी वितरण किया। खिर्सू महोत्सव के दौरान खिर्सू महोत्सव के संरक्षक एवं ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष गोविन्द सिंह रावत, नगर अध्यक्ष कांग्रेस पौड़ी कामेश्वर राणा, नगर अध्यक्ष कांग्रेस श्रीनगर बीरेन्द्र नेगी, श्रीमती कमला रावत, रोशनी भण्डारी, राजेन्द्र सिंह, बीरेन्द्र लाल, देवेन्द्र प्रसाद समेत प्रशासन की ओर से प्रभारी जिलाधिकारी/मुख्य विकास अधिकारी सोनिका, पुलिस अधीक्षक अजय जोशी, अपर जिलाधिकारी बंशीधर तिवारी, उप जिलाधिकारी बारहस्यूं पौड़ी पीएल शाह समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave A Comment