Breaking News:

देहरादून में मकान ढहने से दो परिवार दबे, जानिए खबर -

Wednesday, July 15, 2020

घुंघरू के कुछ दाने टूट गये, तो इससे नर्तक के पांव थिरकना नहीं छोड़ते: हरीश रावत -

Wednesday, July 15, 2020

मधु जैन ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत को मास्क व सेनीटाइजर सौंपे -

Wednesday, July 15, 2020

रूस पहला देश बना, आखिर क्यों -

Wednesday, July 15, 2020

“डीआरएस” में बदलाव की जरूरत : सचिन -

Wednesday, July 15, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3686, आज कुल 78 नए मरीज मिले -

Tuesday, July 14, 2020

ग्रामीण विकास के केंद्र बनेगे रूरल ग्रोथ सेंटर : सीएम त्रिवेंद्र -

Tuesday, July 14, 2020

प्यार एक एहसास…….. -

Tuesday, July 14, 2020

सलमान खान ने शुरू की खेती , जानिए खबर -

Tuesday, July 14, 2020

नाबार्ड ने मनाया अपना 39 वां स्थापना दिवस , जानिए खबर -

Tuesday, July 14, 2020

सम्मान: मां बृजेश्वरी योग माया मंदिर ट्रस्ट द्वारा सचिन आनंद को किया गया सम्मानित -

Tuesday, July 14, 2020

“आईआईटीटी” ने ऑनलाइन इंटरनेशनल कांफ्रेंस और वेबिनार का किया आयोजन -

Monday, July 13, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 3608, आज कुल 71 नए मरीज मिले -

Monday, July 13, 2020

आत्मनिर्भर भारत में पंचायतों की महत्वपूर्ण भूमिका: सीएम त्रिवेंद्र -

Monday, July 13, 2020

पुलिस की यह वर्दी तुम्हारे बाप की गुलामी करने के लिए नहीं पहनी है…. -

Monday, July 13, 2020

उत्तरांचल पंजाबी महासभा महानगर युवा इकाई अध्यक्ष बने सन्तोष नागपाल -

Monday, July 13, 2020

खिलाड़ी वित्तिय तौर पर मजबूत हो : फेडरर -

Monday, July 13, 2020

अभिनेत्री रेखा का बंगला सील, जानिए क्यों -

Monday, July 13, 2020

कोरोना योद्धा : भारतीय चिकित्सा परिषद उत्तराखंड द्वारा विजय कुमार नौटियाल सम्मानित -

Sunday, July 12, 2020

फिल्म के किरदार के लिए सब कुछ न्योछावर कर बैठे “मेजर मोहम्मद अली शाह” , जानिए खबर -

Sunday, July 12, 2020

हिमालया द्वारा ‘माई बेबी एण्ड मी’ कार्यक्रम का हुआ आयोजन

देहरादून। भारत के होम ग्रोन बेबी केयर ब्रांड हिमालया बेबीकेयर ने देहरादून में एक हेल्थ केयर एजुकेशन प्रोग्राम ‘माई बेबी एण्ड मी‘ का आयोजन किया। इस प्रोग्राम का आयोजन माताओं को टीकाकरण, नवजात शिशुओं की सेहत की जांच और हाल ही में बच्चे को जन्म देने वाली माताओं के लिये प्रसव के बाद देखभाल की अहमियत पर शिक्षित करने के लिये किया गया। बच्चों की सेहत और विकास संबंधित चिंताओं को दूर करने का प्रयास करते हुये हिमालया ने यह पहल की है। इस पहल के अंतर्गत शहर के डॉक्टरों के साथ इस इंटरैक्टिव सत्र के माध्यम से माताओं को शिक्षित किया गया।  चक्रवर्ती, बिजनेस हेड, हिमालया बेबीकेयर एंड हिमालया फॉर मॉम्स, द हिमालया ड्रग कंपनी ने कहा, ‘‘माता-पिता के पास आमतौर पर अपने बच्चे की सेहत, सोने के तरीकों, शिशु की मालिश इत्यादि के संबंध में कई सवाल होते हैं और वे इनका सही जवाब ढूंढने की कोशिश करते रहते हैं। ‘माई बेबी एंड मी‘ पहल माताओं के लिये एक मंच है, जहां पर वह डॉक्टरों और दूसरी मांओं के साथ चर्चा करती हैं। इसके माध्यम से उन्हें अपनी सेहत और अपने बच्चे की स्वास्थ्य संबंधित चिंताओं का समाधान करने का मौका मिलता है। ‘माई बेबी एंड मी‘ के माध्यम से हमारा इरादा माताओं को शहर के प्रमुख डॉक्टरों के साथ बातचीत करने का अवसर उपलब्ध कराना है। ये डॉक्टर्स उन्हें उनकी समस्याओं का समाधान एवं आश्वासन प्रदान करते हैं।‘‘ आयोजन में लगभग 45 माताओं ने भाग लिया। उन्हें डॉक्टर गोपी, एम.बी.बी.एस., डी.जी.ओ पूर्व पीएमएचएस, प्रसूति एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ ने संबोधित किया। उन्होंने कार्यक्रम में इन माताओं से बातचीत भी की। डॉ गोपी ने कहा, ‘‘नियोनैटल की पूरी अवधि यानी की जन्म से 28 दिन तक के बाद का समय, अधिक खतरे का होता है और यह समयावधि मां और उसके नवजात शिशु दोनों के लिये बेहद महत्वपूर्ण हो सकता है। फलों, सब्जियों और दालों से भरपूर सेहतमंद आहार का सेवन करना मां के स्वास्थ्य के लिये महत्वपूर्ण है, क्योंकि उसे अपने शिशु को स्तनपान कराना होता है। स्वस्थ आहार लेने से मां को ऐक्टिव बने रहने और अपने शिशु की अच्छी तरह से देखभाल करने और रोग प्रतिरोधक प्रणाली को बेहतर तरीके से काम करने में भी मदद मिलती है।‘‘ एक इंटरैक्टिव सत्र के साथ, हिमालय बेबीकेयर द्वारा एक स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया था। इस दौरान माताओं को गर्भावस्था के बाद के दर्द प्रबंधन और शिशु की मालिश की तकनीक, और गर्भावस्था से पहले और बाद में एक स्वस्थ आहार बनाए रखने का महत्व बताया गया। जो माँ और बच्चे दोनों की भलाई के लिए महत्वपूर्ण हैं। हिमालया बेबीकेयर की ‘माई बेबी एण्ड मी‘ एक राष्ट्रीय पहल है। विगत वर्षों के दौरान इसका आयोजन कई शहरों में किया जा चुका है। इनमें औरंगाबाद, अहमदाबाद, आगरा, अमृतसर, बैंगलोर, देवनगिरी, हसन, चंडीगढ़, लखनऊ, लुधियाना, भोपाल, गुवाहाटी, गाजियाबाद, इंदौर, जयपुर, उदयपुर, कोच्चि, कोलकाता, मदुरै, नाशिक, सूरत, जबलपुर, रायपुर, वड़ोदरा, मैसूर, मैंगलोर, नागपुर, पटना, वाराणसी, विजयवाड़ा, जोधपुर, जालंधर और अमृतसर जैसे शहर शामिल हैं।

Leave A Comment