Breaking News:

Asia Cup 2018: भारत-पाकिस्तान के बीच फिर होगा मुकाबला, जानिए खबर -

Friday, September 21, 2018

इस साल दो पीढ़ियों ने एक साथ बनाया गणेशोत्सव और मुहर्रम -

Friday, September 21, 2018

निवेशकों की पहली पसंद बन रहा है उत्तराखण्ड -

Thursday, September 20, 2018

गोविंदा इस ऐक्टर को मानते है सबसे मेहनती, जानिए खबर -

Thursday, September 20, 2018

हार्दिक पंड्या चोटिल, स्ट्रेचर पर मैदान से बाहर ले जाए गए -

Thursday, September 20, 2018

उत्तराखंड : 22 सितम्बर को ‘रेलवे स्वच्छता दिवस’ -

Thursday, September 20, 2018

बाजार में नकली हेलमेटों की बाढ़ -

Thursday, September 20, 2018

दून में आयोजित करेंगी जुड़वा पर्वतारोही बहनें नुंग्शी व ताशी बेस कैंप फेस्टिवल आॅफ इंडिया -

Thursday, September 20, 2018

विधानसभा में गाय को राष्ट्रमाता घोषित करने के अनुरोध का संकल्प पारित -

Wednesday, September 19, 2018

पाकिस्तान से क्रिकेट पर शर्तों के साथ प्रतिबंध नहीं होना चहिए -

Wednesday, September 19, 2018

2500 बच्चियों को शिक्षा के लिए 90 दिन में तय करेंगे 6 हजार किमी -

Wednesday, September 19, 2018

‘मेंटल है क्या’ की राइटर का खुलासा, जानिए खबर -

Wednesday, September 19, 2018

फर्जी प्रमाणपत्रों के जरिए फर्जी तरीके से नौकरी कर रहे हैं कई लोगः चौहान -

Wednesday, September 19, 2018

हर मुद्दे पर विधानसभा में चर्चा को तैयार सरकार : सीएम -

Wednesday, September 19, 2018

भारतीय सेना में चयनित लेफ्टिनेंट मालविका रावत को सीएम त्रिवेंद्र ने किया सम्मानित -

Wednesday, September 19, 2018

उत्तराखंड विधानसभा सत्र : अनेक मुद्दों पर हुई चर्चा -

Tuesday, September 18, 2018

26 सालों से मंदिर की देखभाल कर रहे हैं मुसलमान -

Tuesday, September 18, 2018

हर बाधाओं को पार कर हमारे खिलाड़ियों ने पायी सफल -

Tuesday, September 18, 2018

अनुष्का शर्मा ने खोला वरुण धवन का राज! -

Tuesday, September 18, 2018

देहरादून के निर्माता ओम प्रकाश भट्ट ने किया मुंबई में प्रोडक्शन हाउस का लांच -

Tuesday, September 18, 2018

हैपिनेस की ताजा रैंकिंग जारी, पिछले साल की तरह इस बार भी भारत की रैंकिंग में गिरावट

हैपिनेस की ताजा रैंकिंग जारी हो गई है। पिछले साल की तरह इस बार भी भारत की रैंकिंग में गिरावट दर्ज की गई है। भारत वर्ष 2014 से लगातार पिछड़ रहा है। नरेंद्र मोदी ने इसी साल देश की सत्ता संभाली थी। वर्ल्ड हैपिनेस रिपोर्ट- 2018 में भारत 11 पायदान फिसल कर 122 से 133वें नंबर पर पहुंच गया है। इस बार इसमें कुल 156 देशों को शामिल किया गया। वर्ष 2015 में भारत 158 देशों में 117वें नंबर पर था। दिलचस्प है कि इसमें पाकिस्तानी लोग भारतीय से ज्यादा खुश पाए गए हैं। हालांकि, पाकिस्तान पड़ोसी देश अफगानिस्तान के साथ दुनिया के सबसे अस्वीकार्य देशों में शुमार है। खुशहाली को मापने के लिए कई मापदंड तय किए जाते हैं। इनमें प्रति व्यक्ति जीडीपी, सामाजिक समर्थन, स्वस्थ जीवन प्रत्याशा, जिंदगी में चयन का अधिकार, उदारता, भ्रष्टाचार और आतंक या डर का माहौल आदि को शामिल किया जाता है। दुनिया के सबसे खुशहाल देशों में अधिकांश यूरोपीय राष्ट्र शामिल हैं। इस सूची में फिनलैंड पहले और नॉर्वे दूसरे स्थान पर है। पहले 10 देशों में डेनमार्क और स्विट्जरलैंड भी शामिल हैं। संयुक्त राष्ट्र की ओर से जारी रैंकिंग में शीर्ष 20 देशों में से एक भी एशियाई नहीं है। बुरुंडी आखिरी पायदान पर है। खुशहाली के मामले में सार्क के सदस्य देशों में भारत सिर्फ अफगानिस्तान से ही आगे है। पाकिस्तान (75), भूटान (97), नेपाल (101), बांग्लादेश (115) और श्रीलंका (116) भी हमसे आगे है। आतंकी हमलों से त्रस्त पाकिस्तान पिछले साल इस सूची में 80वें स्थान पर था, लिहाजा उसकी स्थिति में पांच पायदान का सुधार हुआ है। मालदीव को इस बार भी रैंकिंग में जगह नहीं दी गई। चीन का स्थान भी पाकिस्तान से पीछे है। वहीं, अमेरिका (18) को शुरुआती 10 देशों में स्थान नहीं मिल सका है। म्यांमार की रैंकिंग में भी गिरावट आई है और यह देश 130वें स्थान पर पहुंच गया है। बता दें कि संयुक्त राष्ट्र की ओर से हर साल हैपिनेस रैंकिंग जारी की जाती है, ताकि सदस्य राष्ट्रों में खुशहाली की स्थिति का पता लगाया जाता है। इसके आधार पर ही किसी देश में विकास का लाभ लोगों तक पहुंचने के बारे में भी जानकारी मिलती है। इससे तय होता है कि संबंधित देशों के लोगों को लोक कल्याणकारी योजनाओं का कितना लाभ मिल रहा है।

Leave A Comment