Breaking News:

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1145 -

Thursday, June 4, 2020

जागरूकता और सख्ती पर विशेष ध्यान हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, June 4, 2020

दुःखद : बॉलीवुड कास्टिंग निदेशक का निधन -

Thursday, June 4, 2020

वक्त का फेर : चैम्पियन तीरंदाज सड़क पर बेच रही सब्जी -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या 1085 हुई , 42 नए मरीज मिले -

Wednesday, June 3, 2020

अभिनेत्री ने जहर खाकर की खुदकुशी, जानिए खबर -

Wednesday, June 3, 2020

मुझे बदनाम करने की साजिश : फुटबॉल कोच विरेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, June 3, 2020

मोदी 2.0 : पहले साल लिए गए कई ऐतिहासिक निर्णय -

Wednesday, June 3, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 1066 हुई -

Wednesday, June 3, 2020

सराहनीय पहल : एक ट्वीट से अपनों के बीच घर पहुंचा मानसिक दिव्यांग मनोज -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1043 -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में करें अब आनलाईन आवेदन -

Tuesday, June 2, 2020

10 वर्षीय आन्या ने अपने गुल्लक के पैसे देकर मजदूर का किया मदद -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 999 हुई, 243 मरीज हुए ठीक -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 958 -

Monday, June 1, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या 929 हुई, चम्पावत में 15 नए मामले मिले -

Monday, June 1, 2020

जागरूकता: तंबाकू छोड़ने की जागरूकता के लिए स्वयं तत्पर होना जरूरी -

Monday, June 1, 2020

मदद : गांव के छोटे बच्चों को पढ़ा रही भावना -

Monday, June 1, 2020

नही रहे मशहूर संगीतकार वाजिद खान -

Monday, June 1, 2020

नेक कार्य : जरूरतमन्दों के लिए हज़ारो मास्क बना चुकी है प्रवीण शर्मा -

Sunday, May 31, 2020

आखिर आंसू क्यों न निकले …

 

sapne

दारोगा जी ने बृद्ध को उलट पलट कर देखा तो दारोगा जी सन्न रह गए बृद्ध की साँसे चल रही थीं उसके ऊपर थोड़ा पानी छिड़का तो उसने जल्द ही आँखे खोल दी और बहुत अचम्भित होकर अपने चारों और खड़ी भीड़ को देखा दारोगा जी ने कई प्रश्न पूछे लेकिन बृद्ध शुन्य में निहारता रहा बड़े प्रयासों के बाद उसने इशारा किया कि उसे कुछ खिला दो , दारोगा जी ने पास ही एक घर का दरवाजा खटखटाया , उस घर की मैडम ने तुरंत ही खाने को रोटियाँ सब्जी पानी सब दिया, दारोगा जी ने अपने हाथों से बृद्ध को निबाला खिलाया इस बृद्ध को तीन दिनों से खाना नहीं मिला था भूख से तड़प कर शरीर से जान निकल ही जाने वाली थी कि किसी ने आकर एक निबाला दिया तो जान बच गयी मैं सोच कर ही हताशा से भर गया , एक वक़्त खाना न मिले तो कितनी तड़प लगती है , और इसके पास तो तड़पने के सिवाय कोई चारा ही नहीं था , तड़पते हुए इसने हज़ारों गाड़ियों को कारों को अपने सामने से आता जाता हुआ देखा होगा हज़ारो लोग खाने पीने का सामान को लाते लेजाते हुए देखा होगा सोच रहा हूँ कि उस वक़्त उसके दिमाग में क्या चल रहा होगा , खैर भूख के सामने शरीर घुटने टेक ही देता है शर्मनाक लगता है ये सोचना कि आज़ादी के 69 वर्षों के बाद भी इंसान भूख से तड़प तड़प कर मर जा रहा है, भला हो उस इंसान का जिसने कॉल करके सूचना तो दी, उस मैडम का जिन्होंने खाना दिया और ईश्वर भला करे दारोगा जी का जिन्होंने मानवीयता का परिचय देते हुए एक शानदार उदहारण प्रस्तुत किया ग़ाज़ीपुर में तैनात दारोगा जी जय किशोर अवस्थी को पहचान एक्सप्रेस संस्था सलाम करती है |

 

Leave A Comment