Breaking News:

आंदोलनकारियों ने सरकारी नौकरी में आरक्षण देने की मांग की -

Wednesday, January 22, 2020

परिवहन निगम के कर्मचारियों को समय पर वेतन भुगतान किया जाए : सीएम त्रिवेंद्र -

Wednesday, January 22, 2020

पुलवामा मुठभेड़ में उत्तराखंड का लाल हुआ शहीद -

Wednesday, January 22, 2020

60 वर्षीय वृद्ध ने अपने आवेदन की रिसीव मांगी, SDM ने भेजा जेल -

Wednesday, January 22, 2020

सुजोक चिकित्सा: थेरेपी एक्यूप्रेशर से दूर करे बीमारियां -

Wednesday, January 22, 2020

हरेला पर पूरे प्रदेश में किया जाएगा वृक्षारोपण, जानिए खबर -

Tuesday, January 21, 2020

व्यावसायिक एवं आवासीय भवन के करों में वृद्धि पर कांग्रेसियों ने सौंपा ज्ञापन -

Tuesday, January 21, 2020

मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष पोर्टल का हुआ शुभारम्भ, जानिए खबर -

Tuesday, January 21, 2020

महिला दलाल ने कॉलगर्ल भेजा निकली उसकी पत्नी….. -

Tuesday, January 21, 2020

संदिग्ध परिस्थितियों में विवाहिता की मौत -

Tuesday, January 21, 2020

परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम : उत्तराखंड कोटद्वार के छात्र ने पीएम से किया सवाल -

Monday, January 20, 2020

24 जनवरी को घर वापसी : नवग्रहों में सबसे विलक्षण शनिदेव -

Monday, January 20, 2020

हद है : चोरों ने सोलर ऊर्जा लाइट की बैटरियों पर किया हाथ साफ -

Monday, January 20, 2020

दबोचे गए लाखों की शराब सहित दो तस्कर -

Monday, January 20, 2020

जेईई मेन्स परीक्षा: बंसल क्लासेस के छात्र हर्षित पंत ने संस्थान का किया नाम रोशन -

Monday, January 20, 2020

शुरू हुआ देहरादून में वन-वे ट्रैफिक प्लान -

Sunday, January 19, 2020

हरिद्वार: होटल में मिला देहरादून की महिला का शव -

Sunday, January 19, 2020

उत्तराखण्ड स्टेट मास्टर्स बैडमिंटन चैंपियनशिप- 2020 का सीएम त्रिवेंद्र ने किया शुभारम्भ -

Sunday, January 19, 2020

निओ विज़न संस्था पिछले 8 वर्षों से गरीब बच्चों को दे रहा निःशुल्क शिक्षा -

Sunday, January 19, 2020

यश वर्मा शतक बनाने वाले सबसे युवा बल्लेबाज बने, जानिए खबर -

Sunday, January 19, 2020

8000 करोड़ के फर्जीवाड़े का खुलासा, जानिए खबर

देहरादून । आयुक्तालय जीएसटी देहरादून की 55 टीमों ने 70 व्यापार स्थलों पर सर्वेक्षण करके लगभग 8000 करोड़ के फर्जीवाड़े का खुलासा किया है।विभाग को पिछले कुछ महीने से खबर मिल रही थी कि उत्तराखंड राज्य में कुछ लोगों के द्वारा जीएसटी के तहत फर्जी तरीके से पंजीकरण कराकर करोड़ों रुपए का कारोबार ईवे बिल के माध्यम से किया जा रहा है जिसके बाद गोपनीय रूप से जांच करने के बाद पाया गया कि 70 फलों के द्वारा राज्य के भीतर व बाहर 2 महीने में 8000 करोड रुपए के ई वे बिल बनाए गए हैं। जिनके गहनता से जांच करने पर पता चला कि इन 70 में से 34 वर्ग दिल्ली से मशीनरी और कंपाउंड दाना की खरीद के हुए बिल बना रही थी जिनका मूल्य लगभग 1200 करोड़ है उसके बाद इन्फॉर्म द्वारा आपस में ही खरीद बिक्री के साथ-साथ बाहर के फॉर्म को भी खरीद बिक्री दिखाई जा रही थी इस प्रकार देखा गया कि यह बिल की वास्तविक मूल्य तो 1200 करोड़ है जिसमें वह बिल के माध्यम से मूल्य वर्धन करते हुए धनराशि 8000 करोड रुपए तक पहुंच जाती है। 26 फर्म से चप्पल की बिक्री अन्य राज्यों आंध्र प्रदेश राजस्थान तमिलनाडु और महाराष्ट्र को दिखाई जा रही थी जबकि मौके पर कोई भी फॉर्म नहीं पाई गई और ना ही कोई पंजीकृत व्यक्ति जिससे पता चलता है कि इस फर्जीवाड़े के दायरे में अन्य राज्यों दिल्ली हरियाणा आंध्र प्रदेश तमिलनाडु महाराष्ट्र राजस्थान तक फैला हुआ है जिसके संबंध में अभी जांच जारी है जांच पूरी करते हैं इन राज्यों को भी रिपोर्ट प्रेषित की जाएगी।

Leave A Comment