Breaking News:

अनुज मिस्टर फ्रेशर और अंकिता चुनी गई मिस फ्रेशर -

Wednesday, November 22, 2017

जिलाधिकारी नैनीताल दीपेंद्र चौधरी का जरूरतमंद बच्चो के प्रति अनोखी पहल -

Wednesday, November 22, 2017

जगुआर ने राइनो को 4 विकेट से हराया -

Wednesday, November 22, 2017

बच्चों की शिक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए : सीएम -

Wednesday, November 22, 2017

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चारधाम आॅल वेदर रोड निर्माण की प्रगति पर किया संतोष व्यक्त -

Wednesday, November 22, 2017

एमबीए की डिग्री, बेटा अमेरिका में इंजीनियर पर गलियों में मांग रही थी भीख ! -

Tuesday, November 21, 2017

सीएम से एडिशनल डायरेक्टर जनरल एन.सी.सी ने की मुलाक़ात -

Tuesday, November 21, 2017

सफारी वाहनों का संचालन होगा काॅर्बेट टाइगर रिजर्व कोटद्वार में -

Tuesday, November 21, 2017

एडीजी ने एसटीएफ की कार्यक्षमता बढ़ाने को लेकर दिए दिशा-निर्देश -

Tuesday, November 21, 2017

मत्स्य पालन में जागरूकता की कमी : सीएम -

Tuesday, November 21, 2017

जब अपहरणकर्ताओं पर भारी पड़ा 9 साल का बच्चा, जानिए खबर -

Monday, November 20, 2017

शशि थरूर के ट्वीट का जवाब कुछ इस तरह दिया मिस वर्ल्ड मानुषी छिल्लर, जानिए खबर -

Monday, November 20, 2017

नमामि गंगे को लेकर सीएम ने की अहम बैठक -

Monday, November 20, 2017

मित्र पुलिस की भूमिका साकार करे : पुलिस महानिदेशक -

Monday, November 20, 2017

राष्ट्र की विशालता और विविधता में एकता की परिचायक , जानिये खबर -

Monday, November 20, 2017

पत्नियों के हिंसा से बचने के लिए 6,646 पुरुषों ने डायल किया यूपी 100 -

Sunday, November 19, 2017

ट्विटर ने पाक मिनिस्ट्री का ट्विटर अकाउंट किया सस्पेंड -

Sunday, November 19, 2017

कई लड़कियों का हो रहा यौन उत्पीड़न : सनी लियोनी -

Sunday, November 19, 2017

१०८ देशो को पछाड़ कर भारत की मानुषी छिल्लर बनी मिस वर्ल्ड -

Saturday, November 18, 2017

केदारनाथ में बर्फबारी, पढ़े खबर… -

Saturday, November 18, 2017

9 मंत्रियों सहित 60 विधायकों ने नहीं दिया सम्पत्ति विवरण

Vidhan_Sabha

देहरादून। उत्तराखंड के 70 विधायकों मेें से 60 विधायकों ने अपनी सम्पत्ति का विवरण विधानसभा को नहीं दिया है। इसमें मुख्यमंत्री सहित 9 मंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री तथा नेता प्रतिपक्ष भी शामिल हैं। 6 मंत्रियों तथा 38 विधायकों ने निर्वाचित होने के बाद एक बार भी सम्पत्ति विवरण नहीं दिया है जबकि मुख्यमंत्री सहित 3 मंत्रियों ने सम्पत्ति का वार्षिक विवरण नहीं दिया हैै। यह खुलासा सूचना अधिकार के अन्तर्गत ली गई सूचना में हुआ है। काशीपुर निवासी सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन एडवोकेट को उत्तराखंड विधानसभा के लोेक सूचना अधिकारी व वरिष्ठ शोध एवं संदर्भ अधिकारी मुकेश सिंघल द्वारा उपलब्ध करायी गयी सूचना के अनुसार उत्तराखंड के 6 मंत्रियों तथा 38 विधायकों ने अस्तियों एवं दायित्वों से सम्बन्धित प्रथम अनुसूची का विवरण 9 दिसम्बर तक उपलब्ध नहीं कराया था। इसके अतिरिक्त 16 विधायकों ने सम्पत्ति अर्जन तथा व्ययन का वार्षिक विवरण नहीं उपलब्ध कराया है। इसमें मुख्यमंत्री हरीश चन्द्र रावत, पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा, कैबिनेट मंत्री हरीश चन्द्र दुर्गापाल तथा प्रीतम सिंह पंवार तथा नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट का नाम भी शामिल हैं। सम्पत्ति व दायित्वों का विवरण प्रथम बार वाला विवरण न उपलब्ध कराने वाले मंत्रियों व विधायकों की 9 दिसम्बर की सूची के अनुसार जिन मंत्रियों ने सम्पत्ति व दायित्व विवरण नहीं दिये हैं उसमें प्रीतम सिंह, दिनेश अग्रवाल, सुरेन्द्र सिंह नेगी,  इन्दिरा ह्रदयेश, दिनेश धनैै व यशपाल आर्य सहित 6 मंत्री शामिल हैं। इसके अतिरिक्त जिन 38 विधायकों ने सम्पत्ति दायित्व विवरण नहीं दिये हैै, उसमें माल चन्द, विजयपाल सिंह सजवाण, राजेन्द्र सिंह भंडारी, सुबोध उनियाल, विक्रम सिंह, महावीर सिंह, प्रेमचन्द्र अग्रवाल, मदन कौशिक, आदेश चैैहान, चन्द्र शेखर, हरिदास, फुरकान अहमद, प्रदीप बत्रा, कुवंर प्रणव सिंह चैम्पियन, सरवत करीम अंसारी, यतीश्वरानन्द, गणेश गोदियाल, तीरथ सिंह रावत, दलीप सिंह रावत, मयूख सिंह, नारायण राम आर्य, ललित फस्र्वाण, चन्दन राम दास, मदन सिंह बिष्ट, मनोज तिवारी, हेमेश खर्कवाल, सरिता आर्या, शैलेन्द्र मोहन सिंघल, अरविन्द पाण्डे, राजकुमार ठुकराल, राजेश शुक्ला, प्रेम सिंह, पुष्कर सिंह धामी, राजकुमार, हरबन्स कपूर, रेखा आर्या, हीरा सिंह बिष्ट व ममता राकेश शामिल हैं। इन मंत्री तथा विधायकों को उत्तराखंड मेें लागू उ0प्र0 मंत्री तथा विधायक (आस्तियों तथा दायित्वों का प्रकाशन) अधिनियम 1975 की धारा 3 के अनुसार मंत्री, विधायक निर्वाचित होने या नामित होने के तीन माह के अंदर अपनी तथा अपने परिवार की सम्पत्तियों तथा दायित्वों का विवरण विधान सभा सचिव को देना आवश्यक है। इसके अतिरिक्त 30 जून तक प्रत्येक वर्ष 31 मार्च को समाप्त होने वाले सम्बन्धित वित्तीय वर्ष का वार्षिक सम्पत्ति विवरण देना होता है। श्री नदीम को उपलब्ध करायी गयी सम्पत्ति व दायित्वों प्रथम बार का विवरण 9 दिसम्बर 2015 तक न उपलब्ध कराने वाले मंत्रियों मेें प्रीतम सिंह, दिनेश अग्रवाल, सुरेन्द्र सिंह नेगी, इन्दिरा ह्रदयेश, दिनेश धनैै व यशपाल आर्य सहित 6 मंत्री शामिल हैं। प्रतिवर्ष 30 जून तक दिये जाने वाले पूर्ववर्ती वित्तीय वर्ष में अर्जित या व्ययित समस्त सम्पत्ति एवं दायित्वों का विवरण न देने वालों में हरीश चन्द्र सिंह रावत, हरीश चन्द्र दुर्गापाल, सहदेव सिंह पुन्डीर, हरभजन सिंह चीमा, प्रीतम सिंह पंवार, भीम लाल आर्य, पूरन सिंह फत्र्याल, दान सिंह भण्डारी, सुरेन्द्र सिंह जीना, विजय बहुगुणा, गणेश जोशी, उमेश शर्मा काऊ, संजय गुप्ता, अजय भट्ट, बिशन सिंह चुफाल व बंशीधर भगत शामिल हैं।

Leave A Comment