Breaking News:

JIO : एक साल के लिए फ्री सर्विस -

Monday, January 22, 2018

नई ‘कुतुब मीनार’ कचरे से हुई तैयार, जानिए खबर -

Monday, January 22, 2018

उत्तराखंड राज्य को सांस्कृतिक दल का पुरस्कार -

Monday, January 22, 2018

समाज के लिए कार्य करना एक चुनौती,इस चुनौती को करें स्वीकार : मदन कौशिक -

Monday, January 22, 2018

समाजिक कार्य के योगदान पर समाजसेवी हुए सम्मानित -

Monday, January 22, 2018

पासपोर्ट बनवाने वालो के लिए आई यह खबर … -

Sunday, January 21, 2018

“आप” के समर्थन में विपक्ष हुआ एकजुट -

Sunday, January 21, 2018

ब्लाइंड क्रिकेट वर्ल्ड कप जीता भारत -

Sunday, January 21, 2018

सुपर डांसर्स शो : दून क्लेमेनटाउन निवासी आकाश थापा को जरूरत वोट की -

Saturday, January 20, 2018

डीएम ईवा ने सुनीं जनसमस्याएं -

Saturday, January 20, 2018

आइडिया के अनलिमिटेड रिचार्ज पर पाएं 3300 रूपये का कैशबैक -

Saturday, January 20, 2018

फेसबुक माध्यम से बजट के लिए लोगों से मांगे सुझाव -

Saturday, January 20, 2018

दर – दर भटक रही है अपने बच्चे के साथ यह महिला, जानिए खबर -

Thursday, January 18, 2018

बिग बॉस के इस प्रतिभागी का चेहरा सर्जरी से हुआ खराब, जानिए है कौन -

Thursday, January 18, 2018

प्रदेश में भू कानून में परिवर्तन की मांग को लेकर “हम” का धरना -

Thursday, January 18, 2018

शासकीय योजनाओं का हो व्यापक प्रचार-प्रसार : डाॅ.पंकज कुमार पाण्डेय -

Thursday, January 18, 2018

केंद्रीय वित्तमंत्री के समक्ष सीएम ने रखी ग्रीन बोनस की मांग -

Thursday, January 18, 2018

कांटों वाले बाबा को हर कोई देख है दंग … -

Wednesday, January 17, 2018

फिल्म पद्मावत फिर पहुंची एक बार कोर्ट, जानिए खबर -

Wednesday, January 17, 2018

बालिकाओ ने जूडो, बैडमिंटन, फुटबाल, वालीबाल, बाक्सिंग में दिखाई दम -

Wednesday, January 17, 2018

जज्बा हो तो सब मुमकिन है, जानिये खबर

दादाबाड़ी | अब वह समय नहीं रहा जब महिलाएं घर की दहलीज तक सीमित थी वर्तमान समय में अब घर से बाहर निकलकर महिलाये जाॅब और बिजनेस तक कर रही है। अब महिलाओं का जज्बा इतना है कि वो अपने हौसलों और हिम्मत से घर-परिवार और महिलाओं की संबल बनी हुई हैं। ऐसी महिलाओं ने अपने जीवन में चुनौतियां स्वीकारी और स्वयं के अलावा अपने समूहों से जुड़ी महिलाओं को भी आर्थिक मजबूती प्रदान कर मुकाम हासिल किया। महिला अधिकारिता विभाग की ओर से गवर्नमेंट म्यूजियम के पास ग्रामीण हाट में लगाई एग्जीबिशन में ऐसी ही महिलाओं की कामयाबी देखने…

Read More

मां नहीं बन सकी पर 51 बेसहारा बच्चों की है माँ

pehchan

मुजफ्फरनगर | जीना इसी का नाम है हर पल किसी शब्द को लेकर अचम्भित रहने वाले एक दंपती की कहानी कुछ ऐसी है जी हां ऐसा ही कुछ हुआ मुजफ्फरनगर के एक दंपती के साथ। शामली के कुदाना गांव की मीना राणा की शादी 1981 में बाघपत के वीरेंद्र राणा से हुई थी। शादी के 10 साल बाद भी उनको कोई संतान नहीं हुई। बाद में पता चला कि मीणा कभी मां नहीं बन सकतीं। किसान पति-पत्नी को जब कोई संतान नहीं हुई तो उन्होंने 1990 में एक दिव्यांग बच्चे को गोद लेने का फैसला किया। लगभग तीन दशक के…

Read More

गरीबो और जरुरतमंदो की “चंद्रकला” है यह आईएएस, जानिए खबर

IAS

लोकप्रियता का एक हकीकत यह भी है कि वह सोशल मीडिया एक एक हस्तियों को पीछे छोड़ती जा रही है | जी हां अपनी दबंग छवि, दुस्साहस की हद तक भ्रष्टाचार की मुखालफत करने वाली आईएएस बी चंद्रकला अपने कुछ ही वर्षों के प्रशासनिक सफर में किंवदंति सी बन चुकी हैं। उनके कठिन जीवन संघर्षों का कथानक जितना जटिल रहा है, सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के दौरान और उसके बाद की यात्रा उससे कुछ कम मुश्किलों भरी नहीं रही है। हमारे समाज में एक कामयाब स्त्री को लेकर जितनी तरह की दुश्वारियां जूझनी पड़ती हैं, बी चंद्रकला उनसे कत्तई…

Read More

शिक्षकों ने अपनी सैलरी से बदला पूरे विद्यालय का सूरत

file

  गोरखपुर | जी हां एक विद्यालय में शिक्षकों ने अपनी सैलरी से पूरे विद्यालय को बदल दिया है। स्कूल में प्रोजेक्टर और वाई-फाई की व्यवस्था कर स्मार्ट क्लास बनाई गई हैं। हेडमास्टर आशुतोष कुमार सिंह ने बताया कि इन सब कामों में सब मिलाकर डेढ़ लाख रुपये खर्च हुए हैं। सभी शिक्षकों ने अपनी सैलरी से इस काम में योगदान दिया है। युवा शिक्षकों की इस लगन को देखकर उनके दोस्तों ने भी इस काम में योगदान दिया। गोरखपुर के पिपरौली ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय कॉन्वेंट स्कूलों को टक्कर दे रहा है। आईजी मोहित अग्रवाल की पहल ने प्राथमिक…

Read More

गरीब महिलाओं को छात्रों ने दिया ‘अधिकार’

pahal

नई दिल्ली | पूर्वी दिल्ली की कुछ महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने में दिल्ली स्कूल ऑफ आर्ट्स ऐंड कॉमर्स के 11 छात्रों ने मदद की। इन स्टू़डेंट्स ने ‘अधिकार’ नाम का एक प्रॉजेक्ट तैयार किया जिसके तहत महिलाओं को शिष्टाचार, आत्मरक्षा के गुर और ड्राइविंग करना सिखाया गया। इसके अलावा इन छात्रों ने महिलाओं को ट्रैफिक के नियमों के बारे में जानकारी दी और ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने में भी मदद की। इन स्टूडेंट्स ने गरीब महिलाओं को माइक्रो-फाइनैंस के जरिए ई-रिक्शा खरीदने में भी मदद की। रोजगार के इस साधन से ये महिलाएं औसतन 30,000 रुपये महीने की…

Read More

जिलाधिकारी नैनीताल दीपेंद्र चौधरी का जरूरतमंद बच्चो के प्रति अनोखी पहल

DM

“जरूरी है बच्चों को सिखाना कि बांटने से और बढ़ती हैं खुशियां” मासूम चेहरों पर खिलखिलाने के लिए बेकरार रहने वाली लाखों की मुस्कान चंद पैसों की कमी से सिमट न जाए और गरीब परिवारों के बच्चे भी अच्छे खिलौनों से खेल सकें। बच्चों में खुशियां बांटने की आदत और चाहत का विकास हो साथ ही राजकीय प्राथमिक विद्यालयों और आगनबाड़ी केंद्रों की स्थिति जनसहयोग से सुदृढ़ हो सकें इस लक्ष्य को सार्थक करने के लिए जिलाधिकारी दीपेंद्र कुमार चौधरी ने आंरभ किया अभियान “साथी हाथ बढ़ाना”। साथी हाथ बढ़ाना – ये नाम है उस कैंपेन का जिसमें हल्द्वानी के…

Read More

किसान आत्महत्या न कर सीखे इन महिलाओ से , जानिए खबर

pehchan a

अगर दिल में जज्बा हो तो अब कुछ मुमकिन है ऐसा कर दिखाया है महाराष्ट्र की कुछ महिलाएं | महाराष्ट्र में किसान आत्महत्या न करें, इसके लिए यहां एक गांव की महिलाएं प्रेरणास्रोत बन गई हैं। कम पानी में खेती का ऐसा तरीका खोजा है महिला किसानों ने जिससे वह फसल उगा रही हैं। इतना ही नहीं उन्होंने बैंक का कर्ज चुकता करते हुए कारोबार का टर्नओवर 1 करोड़ रुपये कर लिया है। किसानों के समूह ने गांव की दशा बदल कर नई दिशा दिखाई है। इस गांव के पुरुष घर और बच्चे संभालते हुए दिखते हैं तो महिलाएं खेत…

Read More

अपने सपने के बच्चो ने खाना बर्बाद ना करने का दिया संदेश

apne sapne ngo

देहरादून। अपने सपने संस्था द्वारा सुभाषनगर स्थित अपने कार्यालय प्रांगण में गुरु पर्व पर ‘खाना ना करे बर्बाद’ रूपी आर्ट प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। आयोजित प्रतियोगिता में संस्था के तीन समूहों में बच्चों ने प्रतिभाग किया। जिसमे कल्पना चावला ग्रुप, पी टी उषा ग्रुप, गौरा देवी ग्रुप एवम् ने खाना बर्बाद ना करने रूपी विषय पर अपनी सोच को कला के माध्यम से प्रदर्शित किये। इस आर्ट प्रतियोगिता का आयोजन समाज को एक सन्देश देना है कि खाना को बर्बाद ना कर उसे असहाय एवम् जरूरतमंद लोगों को खिलाएं। आर्ट के माध्यम से बच्चों ने अपने जागरूकता सन्देश में…

Read More

तेजाब पीड़ितों को राहत राशि के चेक हुए वितरित

pahal

देहरादून। नित्यानंद स्वामी जन सेवा समिति द्वारा दून इंटरनेशनल स्कूल देहरादून में आयोजित तेजाब से प्रभावित बच्चों के उत्थान हेतु प्रेस्टीज वाॅक कार्यक्रम का उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल द्वारा शुभारम्भ किया गया। प्रेस्टीज वाॅक कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष द्वारा समिति के माध्यम से विभिन्न प्रदेशों से 28 तेजाब पीड़ित व्यक्तियों को स्मृति चिन्ह एवं राहत राशि के चेक वितरित किए गये। कार्यक्रम में तेजाब पीड़ित महिलाओं एवं बच्चों ने रैंप पर चलकर अपने कौशल का प्रदर्शन भी किया। इस अवसर पर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा है कि उत्तराखंड के प्रथम मुख्यमंत्री नित्यानंद स्वामी का इस…

Read More

अपने सपने संस्था के बच्चो ने आर्ट के माध्यम से किया यातायात नियमों के प्रति जागरूक

apne apne ngo

देहरादून। अपने सपने संस्था द्वारा सुभाषनगर स्थित अपने कार्यालय परिसर में ‘यातायात नियम का पालन, जीवन का पालन’ विषय पर आर्ट प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। आयोजित प्रतियोगिता में संस्था के चार समूहों युक्त बच्चों ने प्रतिभाग किया। जिसमे कपना चावला ग्रुप, पी टी उषा ग्रुप, गौरा देवी ग्रुप एवम विजेन्द्री पाल ग्रुप ने यातायात का पालन रूपी विषय पर अपनी सोच को कला के माध्यम से प्रदर्शित किये। इस आर्ट प्रतियोगिता का आयोजन समाज को एक सन्देश देना है कि यातायात के नियम का पालन आप के जीवन का पालन बन सकता है। आर्ट के माध्यम से बच्चों ने…

Read More