Breaking News:

उत्तराखण्ड राज्य बेहतर फिल्म अनुकूल पर्यावरण के लिए विशेष उल्लेख पुरस्कार के लिए चयनित -

Thursday, April 19, 2018

सहारा समूह को सुप्रीम कोर्ट से मिली राहत, अपनी पसंद की संपत्ति बेचने का मिला अधिकार -

Thursday, April 19, 2018

सुप्रीम कोर्ट ने जज लोया की मौत से जुड़ी जांच याचिकाएं खारिज की -

Thursday, April 19, 2018

जब तक प्रधानमंत्री मेरी मांगें नहीं मानेंगे, मैं अनशन नहीं तोड़ूंगी: स्वाति -

Thursday, April 19, 2018

थाईलैण्ड यात्रा से राज्य में निवेश वृद्धि प्रबल : सीएम -

Thursday, April 19, 2018

भारत की ‘‘लुक ईस्ट’’ और थाईलैण्ड की ‘‘लुक वेस्ट’’ नीति एक दूसरे की पूरक : सीएम -

Wednesday, April 18, 2018

चारधाम यात्रा शुरू, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुले -

Wednesday, April 18, 2018

“इण्डिया स्किल उत्तराखण्ड” पहुँचा ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी, जानिए ख़बर -

Wednesday, April 18, 2018

प्रधानमंत्री मोदी मिले ब्रिटेन की पीएम से -

Wednesday, April 18, 2018

आप के राघव चड्ढा ने 2.5 रुपये मेहनताना गृह मंत्रालय को लौटाया -

Wednesday, April 18, 2018

BCCI भी आएगी RTI के दायरे में , लाॅ कमीशन ने की सिफारिश -

Wednesday, April 18, 2018

देवभूमि डायलॉग : 20 अप्रैल को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र युवाओं से करेंगे सीधा संवाद -

Wednesday, April 18, 2018

दिल्ली गैंगरेपः 20 लाख में माता-पिता ने किया आरोपियों से सौदा -

Tuesday, April 17, 2018

आसाराम केस : जेल में ही सुनाया जाएगा हाईकोर्ट का फैसला -

Tuesday, April 17, 2018

बैंकाॅक में सीएम त्रिवेंद्र ने उत्तराखंड राज्य को दिलाई एक नई पहचान -

Tuesday, April 17, 2018

जम्मू-कश्मीर सरकार में शामिल बीजेपी के सभी मंत्रियों ने पार्टी अध्यक्ष को दिए इस्तीफे -

Tuesday, April 17, 2018

गृह मंत्रालय ने दिल्ली सरकार के 9 सलाहकारों को हटाया, केजरीवाल को झटका -

Tuesday, April 17, 2018

देश के कई शहरों के ATM खाली , हालात जल्द होंगे सामान्य -

Tuesday, April 17, 2018

आ सकते है एनसीईआरटी के दायरे में आइसीएसई बोर्ड के स्कूल, जानिए ख़बर -

Monday, April 16, 2018

मुख्यमंत्री एप पर शिकायत और मिली मृतक आश्रित को नियुक्ति -

Monday, April 16, 2018

पुलिसवाला गरीब परिवार की बेटियों की पढ़ाई और उनके शादी का उठाते है खर्च

pahal- puliswala

सिपाही जितेंद्र लावारिस वृद्ध का अंतिम संस्कार भी करते है झांसी | आदिवासियों की झुग्गी झोपड़ी में रहने वाली मनीषा और सोनाली यह कभी नहीं सोच सकती थी की उनकी पढ़ाई और शादी हो पाएगी या नहीं लेकिन उनके सपनो को अपना सपना बनाने वाले कोई और नहीं बल्कि एक पुलिसवाला है झांसी जिले के आईटीआई के पास बेहद गरीब परिवार की बेटियां हैं। 22 दिसंबर को इनकी शादी होनी थी लेकिन किसी ने मदद नहीं की। ऐसे में एक कांस्टेबल ने 2 बहनों को कन्यादान किया। इस मौके पर दोनों बहने भावुक हो गई और कहा कि कांस्टेबल अंकल…

Read More

अपने सपने संस्था ने ” लेफ्ट टू लेफ्ट” का पालन करने का दिया संदेश

apne sapne ngo

आर्ट प्रतियोगिता में पी टी उषा ग्रुप से अवन्तिका प्रथम,कल्पना चावला ग्रुप से दुर्गा द्वितीय, गौरा देवी ग्रुप से चाँदनी तृतीय स्थान प्राप्त किये देहरादून | अपने सपने संस्था द्वारा सुभाषनगर स्थित अपने प्रांगण में आज दिनांक 28/12/2017 को यातायात नियम का पालन के रूप में ” लेफ्ट टू लेफ्ट ” रूपी आर्ट प्रतियोगिता का आयोजन किया गया | आयोजित प्रतियोगिता में संस्था के तीन समूहों के बच्चों ने प्रतिभाग किया | जिसमे कल्पना चावला ग्रुप, पी टी उषा ग्रुप, गौरा देवी ग्रुप ने यातायात का पालन रूपी विषय पर अपनी सोच को कला के माध्यम से प्रदर्शित किये |…

Read More

दिल तो, बच्चा है जी…….

ngo

देहरादून | पर्ल्स चैरिटेबल सोसाईटी द्वारा विगत कई वर्षो की भांति आज दिनांक 25 दिसम्बर को भी एक कार्यक्रम, ‘दिल तो, बच्चा है जी’ आयोजित किया गया। जिसमें, विभिन्न आयु वर्ग के करीब 2000 बच्चों को एक मंच पर लाने का प्रयास किया। जो कि हरित यमुना मिशन फाउंडेशन और ब्लड फ्रेंड द्वारा प्रायोजित किया गया। आसरा फाउंडेशन, अपने सपने, अपना घर, नियो विजन फाउंडेशन , प्रतिष्ठा फॉउंडेशन, नन्हीं दुनिया, संकल्प फॉउंडेशन सहित अन्य भी बच्चों संग बच्चे बन नाचते गाते, खेलते कूदते और उन्हें हर प्रकार की ख़ुशी देने में लगे रहे। सेंटा क्लॉज की पोशाक पहन छोटे बड़े…

Read More

जज्बा हो तो सब मुमकिन है, जानिये खबर

दादाबाड़ी | अब वह समय नहीं रहा जब महिलाएं घर की दहलीज तक सीमित थी वर्तमान समय में अब घर से बाहर निकलकर महिलाये जाॅब और बिजनेस तक कर रही है। अब महिलाओं का जज्बा इतना है कि वो अपने हौसलों और हिम्मत से घर-परिवार और महिलाओं की संबल बनी हुई हैं। ऐसी महिलाओं ने अपने जीवन में चुनौतियां स्वीकारी और स्वयं के अलावा अपने समूहों से जुड़ी महिलाओं को भी आर्थिक मजबूती प्रदान कर मुकाम हासिल किया। महिला अधिकारिता विभाग की ओर से गवर्नमेंट म्यूजियम के पास ग्रामीण हाट में लगाई एग्जीबिशन में ऐसी ही महिलाओं की कामयाबी देखने…

Read More

मां नहीं बन सकी पर 51 बेसहारा बच्चों की है माँ

pehchan

मुजफ्फरनगर | जीना इसी का नाम है हर पल किसी शब्द को लेकर अचम्भित रहने वाले एक दंपती की कहानी कुछ ऐसी है जी हां ऐसा ही कुछ हुआ मुजफ्फरनगर के एक दंपती के साथ। शामली के कुदाना गांव की मीना राणा की शादी 1981 में बाघपत के वीरेंद्र राणा से हुई थी। शादी के 10 साल बाद भी उनको कोई संतान नहीं हुई। बाद में पता चला कि मीणा कभी मां नहीं बन सकतीं। किसान पति-पत्नी को जब कोई संतान नहीं हुई तो उन्होंने 1990 में एक दिव्यांग बच्चे को गोद लेने का फैसला किया। लगभग तीन दशक के…

Read More

गरीबो और जरुरतमंदो की “चंद्रकला” है यह आईएएस, जानिए खबर

IAS

लोकप्रियता का एक हकीकत यह भी है कि वह सोशल मीडिया एक एक हस्तियों को पीछे छोड़ती जा रही है | जी हां अपनी दबंग छवि, दुस्साहस की हद तक भ्रष्टाचार की मुखालफत करने वाली आईएएस बी चंद्रकला अपने कुछ ही वर्षों के प्रशासनिक सफर में किंवदंति सी बन चुकी हैं। उनके कठिन जीवन संघर्षों का कथानक जितना जटिल रहा है, सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के दौरान और उसके बाद की यात्रा उससे कुछ कम मुश्किलों भरी नहीं रही है। हमारे समाज में एक कामयाब स्त्री को लेकर जितनी तरह की दुश्वारियां जूझनी पड़ती हैं, बी चंद्रकला उनसे कत्तई…

Read More

शिक्षकों ने अपनी सैलरी से बदला पूरे विद्यालय का सूरत

file

  गोरखपुर | जी हां एक विद्यालय में शिक्षकों ने अपनी सैलरी से पूरे विद्यालय को बदल दिया है। स्कूल में प्रोजेक्टर और वाई-फाई की व्यवस्था कर स्मार्ट क्लास बनाई गई हैं। हेडमास्टर आशुतोष कुमार सिंह ने बताया कि इन सब कामों में सब मिलाकर डेढ़ लाख रुपये खर्च हुए हैं। सभी शिक्षकों ने अपनी सैलरी से इस काम में योगदान दिया है। युवा शिक्षकों की इस लगन को देखकर उनके दोस्तों ने भी इस काम में योगदान दिया। गोरखपुर के पिपरौली ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय कॉन्वेंट स्कूलों को टक्कर दे रहा है। आईजी मोहित अग्रवाल की पहल ने प्राथमिक…

Read More

गरीब महिलाओं को छात्रों ने दिया ‘अधिकार’

pahal

नई दिल्ली | पूर्वी दिल्ली की कुछ महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने में दिल्ली स्कूल ऑफ आर्ट्स ऐंड कॉमर्स के 11 छात्रों ने मदद की। इन स्टू़डेंट्स ने ‘अधिकार’ नाम का एक प्रॉजेक्ट तैयार किया जिसके तहत महिलाओं को शिष्टाचार, आत्मरक्षा के गुर और ड्राइविंग करना सिखाया गया। इसके अलावा इन छात्रों ने महिलाओं को ट्रैफिक के नियमों के बारे में जानकारी दी और ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने में भी मदद की। इन स्टूडेंट्स ने गरीब महिलाओं को माइक्रो-फाइनैंस के जरिए ई-रिक्शा खरीदने में भी मदद की। रोजगार के इस साधन से ये महिलाएं औसतन 30,000 रुपये महीने की…

Read More

जिलाधिकारी नैनीताल दीपेंद्र चौधरी का जरूरतमंद बच्चो के प्रति अनोखी पहल

DM

“जरूरी है बच्चों को सिखाना कि बांटने से और बढ़ती हैं खुशियां” मासूम चेहरों पर खिलखिलाने के लिए बेकरार रहने वाली लाखों की मुस्कान चंद पैसों की कमी से सिमट न जाए और गरीब परिवारों के बच्चे भी अच्छे खिलौनों से खेल सकें। बच्चों में खुशियां बांटने की आदत और चाहत का विकास हो साथ ही राजकीय प्राथमिक विद्यालयों और आगनबाड़ी केंद्रों की स्थिति जनसहयोग से सुदृढ़ हो सकें इस लक्ष्य को सार्थक करने के लिए जिलाधिकारी दीपेंद्र कुमार चौधरी ने आंरभ किया अभियान “साथी हाथ बढ़ाना”। साथी हाथ बढ़ाना – ये नाम है उस कैंपेन का जिसमें हल्द्वानी के…

Read More

किसान आत्महत्या न कर सीखे इन महिलाओ से , जानिए खबर

pehchan a

अगर दिल में जज्बा हो तो अब कुछ मुमकिन है ऐसा कर दिखाया है महाराष्ट्र की कुछ महिलाएं | महाराष्ट्र में किसान आत्महत्या न करें, इसके लिए यहां एक गांव की महिलाएं प्रेरणास्रोत बन गई हैं। कम पानी में खेती का ऐसा तरीका खोजा है महिला किसानों ने जिससे वह फसल उगा रही हैं। इतना ही नहीं उन्होंने बैंक का कर्ज चुकता करते हुए कारोबार का टर्नओवर 1 करोड़ रुपये कर लिया है। किसानों के समूह ने गांव की दशा बदल कर नई दिशा दिखाई है। इस गांव के पुरुष घर और बच्चे संभालते हुए दिखते हैं तो महिलाएं खेत…

Read More