Breaking News:

पानी बचाने के लिए , 84 साल का ‘नौजवान’ लगा रहा जी-जान -

Monday, June 17, 2019

वर्ल्ड कप 2019 : जीत के बाद विराट ने की रोहित और कुलदीप की सराहना -

Monday, June 17, 2019

वर्ल्ड कप की जीत से खुशी से झूमे रणवीर सिंह -

Monday, June 17, 2019

कथक नृत्य ने लोगो का मोहा मन ….. -

Sunday, June 16, 2019

केदारनाथ त्रासदी के छह साल, बदली तस्वीर -

Sunday, June 16, 2019

अटल आयुष्मान का “सिस्टम” मरीजों पर भारीः जन संघर्ष मोर्चा -

Sunday, June 16, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने महाकुंभ तैयारियों की समीक्षा की -

Sunday, June 16, 2019

पिथौरागढ़ भ्रमण पर पंहुचे मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र -

Sunday, June 16, 2019

युवा डाॅक्टर गावों में 4-5 वर्ष की सेवा जरूर देंः राज्यपाल -

Saturday, June 15, 2019

मानव संसाधन विकास मंत्री निशंक ने किये भोले बाबा के दर्शन -

Saturday, June 15, 2019

उत्तराखण्ड को इको सिस्टम सर्विसेज के बदले मिले प्रोत्साहन राशिः सीएम -

Saturday, June 15, 2019

गंगा की सहायक नदियों से संबंधित प्रस्ताव नमामि गंगे में हो स्वीकृत -

Saturday, June 15, 2019

नहीं दर्ज होंगे पत्रकारों पर सीधे मुकदमे : डीजीपी -

Saturday, June 15, 2019

फिल्म ‘दिल तेरे संग’ की शूटिंग देहरादून एवं मसूरी में -

Saturday, June 15, 2019

ब्रिज एवम मार्ग का सीएम त्रिवेंद्र ने किया लोकार्पण -

Friday, June 14, 2019

“ब्लड फ्रेंडस” से बड़ा कोई फ्रेंडस नही …. -

Friday, June 14, 2019

16 जून : केदारनाथ आपदा के 6 साल, जख्म आज भी हरे -

Friday, June 14, 2019

त्रिवेंद्र कैबिनेट के विस्तार की मांग पकड़ने लगी जोर….. -

Friday, June 14, 2019

15 जून से डीएवी पीजी कॉलेज में स्नातक प्रथम वर्ष के होंगे रजिस्ट्रेशन -

Friday, June 14, 2019

मेयर ने किया ‘वचन दियूॅं छौं’ वीडियो का विमोचन -

Friday, June 14, 2019

बाल विवाह से बचकर भागी लड़की, बोर्ड परीक्षा में लाई 90% नंबर

childMarriage

मैसूर | कर्नाटक के मैसूर में बाल विवाह से बचने के लिए अपना घर छोड़कर भागी एक लड़की हाल ही में प्री यूनिवर्सिटी परीक्षा का रिजल्ट घोषित किया गया, अब उसी लड़की ने परीक्षा में 90 पर्सेंट नंबर हासिल किए हैं। चिक्काबल्लापुरा जिले के कोत्तुरु गांव की रेखा वी 18 साल की हैं और आईएएस अधिकारी बनना उनका सपना है। जानकारी के मुताबिक, दो साल पहले रेखा ने 10वीं की बोर्ड परीक्षा में 74 पर्सेंट नंबर हासिल किए थे। घरों में नौकरानी का काम करने वाली उनकी मां ने रेखा पर दबाव बनाना शुरू किया था कि वह शादी कर…

Read More

आदिवासी युवती ने खोला पहला मेडिकल स्टोर

pahal

रायपुर | छत्तीसगढ़ के रिमोट इलाके में स्थित अबूझमाड़ जंगल नक्सलियों का गढ़ है। इस दुर्गम इलाक मे एचआईवी इंफेक्शन का प्रभाव रोकने वाली पीईपी दवाइयों की जरूरत है। इस इलाके में स्वास्थ्य सुविधाओं और दवाइयों के लिए 23 साल की आदिवासी युवती ने पहली बार मेडिकल स्टोर खोला है। मुरिया जनजाति की कीर्ता दोर्पा ने नारायणपुर जिले के ओरछा में अपना स्टोर खोला है। जिले के 3,900 वर्ग किलोमीटर में फैले अबूझमाड़ को नक्सली लिबरेटेड जोन कहते हैं, यहां सरकारी सुविधाएं दूर-दूर तक नहीं हैं। इस वजह से यहां के लोगों को केमिस्ट की दुकान के लिए 70 किमी…

Read More

जरा हट के : मिस्त्री से कलेक्टर बनने का सफर , जानिए खबर

pahal

जबलपुर | मध्य प्रदेश में जबलपुर के सुमित विश्वकर्मा ने उन लोगों को आईना दिखाया है, जो अभाव को असफलता की वजह बताते हैं | सुमित ने बीई और एमटेक की उपाधि हासिल की, और नौकरी नहीं मिली तो मजदूरी (मिस्त्री) को जीवकोपार्जन का जरिया बना लिया | मगर सरकारी नौकरी पाने का उद्देश्य उन्होंने हमेशा सामने रखा | दिन में मजदूरी और रात को पढ़ाई | आज उन्होंने संघ लोकसेवा आयोग (यूपीएससी) की परीक्षा में 53वां स्थान हासिल किया है | इन दिनों मध्य प्रदेश में सोशल मीडिया पर एक तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है. इसमें एक…

Read More

SSB ने उठाया बॉर्डर के गांवों में अखबार पहुंचने का बीड़ा , जानिए ख़बर

boder

लखीमपुर खीरी | भारत-नेपाल सीमा पर स्थित उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में जिले कई गांव ऐसे हैं, जहां अखबार ही नहीं पहुंचता है। इसमें थारू जनजाति के लगभग तीन दर्जन गांव ऐसे भी हैं, जहां कोई भी लाइब्रेरी ही नहीं है। इस समस्या को दूर करने के लिए सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) की 39वीं वाहिनी के कमांडेंट मुन्ना सिंह और उनकी टीम ने कदम बढ़ाया है। जानकारी हो की कमांडेंट मुन्ना सिंह ने कहा, ‘यहां कई गांव ऐसे हैं, जहां अखबार ही नहीं पहुंचता है। हमने लोगों से पूछकर एक कॉमन पॉइंट पर दो अखबार भेजने शुरू किए हैं।…

Read More

गरीब छात्रों के लिए लगातार 24 घंटों तक बोलकर जमा किए 6 लाख रुपये

pahal

बेंगलुरु | बेंगलुरु के एक शख्‍स ने गरीब छात्रों की स्‍कॉलरशिप का इंतजाम करने के लिए अनोखा काम किया। 52 साल के टी के चंद्रमौलि खड़े होकर लगातार 24 घंटों तक बोलते रहे। ऐसा करके उन्‍होंने डोनेशन के जरिए 6 लाख रुपये जमा किए। यह धनराशि विद्यादान स्‍कॉलरशिप के जरिए जरूरतमंद छात्रों को मुहैया कराई जाएगी। यह स्‍कॉलरशिप इंदिरानगर रोटरी ग्रुप की एक परियोजना है। चंद्रमौलि बहुमुखी प्रतिभा के धनी हैं। वे टोस्‍टमास्‍टर, ट्रेनर, थिएटर आर्टिस्‍ट, ट्रैवलर, स्‍पोर्ट्स पर्सन, वाइन टेस्‍टर, रोटेरियन और स्‍टोरीटेलर के रूप में जाने जाते हैं। उन्‍हें इस अनोखे कारनामे की तैयारी में पूरे नौ महीने…

Read More

पहले मजदूर और अब अरबो का विशाल साम्राज्य, जानिए एक मजदूर की कहानी

uk

कहानी एक ऐसे व्यक्ति की है जिसने सिद्ध कर दिया कि ऊंचाइयों तक पहुंचने के लिए सिर्फ एक बड़ी सोच, उद्देश्य-पूर्ति के लिए पक्का इरादा और कभी न हार मानने वाले जज़्बे की आवश्यकता होती है। 16 साल के इस बच्चे के पास अपने दोस्तों के द्वारा दिए गए मुंबई जाकर काम ढूंढने के सुझाव के अलावा और कुछ नहीं था। जेब में बिना फूटी कौड़ी के खाली पेट रहना और मुंबई के दादर स्टेशन पर सोने से ज्यादा तकलीफदेह अपने पिता और भाई के कुछ दिनों पहले हुई मौत के सदमें से बाहर आना था | पश्चिम बंगाल के…

Read More

सेल्समैन ने लौटाया दस लाख रुपयों से भरा बैग, जानिए ख़बर

pahal

सूरत | गुजरात के सूरत में रहने वाले एक सेल्समैन ने कभी नहीं सोचा कि उसकी ईमानदारी इस होली में उसके परिवार के लिए खुशियां लेकर आएगी। सेल्समैन ने ईमानदारी दिखाते हुए सड़क पर पड़े मिले दस लाख रुपये का बैग उसके मालिक को लौटा दिए और इनाम के तोर पे उसे दो लाख रुपये मिले । दिलीप पोद्दार उमरा इलाके के एक साड़ी शोरूम में सेल्समैन हैं। वह दोपहर का खाना खाने शोरूम से बाहर निकले थे। वापस जाते समय उन्हें रास्ते में एक बैग पड़ा मिला। उन्होंने बैग उठाकर खोला तो उसमें दो-दो हजार रुपये के नोट रखे…

Read More

बेटियों के पैदा होने पर बैंडबाजे के साथ निकली बारात, जानिए खबर

pahal

सूरत | गुजरात के सूरत में धूमधाम से बैंडबाजे के साथ एक बारात निकाली गई। इस बारात में लोग नाचते-गाते एक घर में पहुंचे। घर को फूलों और लाइटों से सजाया गया था। खास बात यह है कि बारात में साथ चल रही बग्घी में दूल्हा नहीं बल्कि दो बच्चियां मौजूद थीं और यह बारात किसी दुल्हन को ब्याहने नहीं बल्कि नवजात बच्चियों को उनके घर ले जाने के लिए निकाली गई। ट्रैवल फर्म चलाने वाले आशीष जैन की पत्नी प्रियम ने जुड़वां बच्चियों को जन्म दिया था। बच्चियों के जन्म के बाद प्रियम अस्पताल से अपने मायके गईं। बच्चियों…

Read More

स्मृति ने सिविल सर्विसेज की पढ़ाई छोड़कर चुना माॅडलिंग का सफर

स्मृति जरूरतमंद बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य व भोजन संबंधी आवश्यकताओं को कर रही पूरा देहरादून । प्रतिभा हो तो तमाम प्रकार के अभाव व परेशानियों को मात दी जा सकती है, और इस बात को सही साबित कर दिखाया है उत्तरकाशी के नौगांव विकासखंड की स्मृति सिलवाल ने। एक सामान्य परिवार से होने के बावजूद आज स्मृति जहां माॅडलिंग व एक्टिंग के क्षेत्र मे मजबूत इरादों व हौसलों के साथ अपनी एक अलग पहचान बना चुकी हैं वहीं दूसरी तरफ वह उत्तराखंड में राज्य सरकार से मान्यता प्राप्त ‘मल्टी मीडिया डाॅट काॅम सोसाइटी‘ आॅर्गनाइजेशन की ब्रांड एंबेसडर भी है। यह…

Read More

‘महाशिवरात्रि ’ पर असहाय एवं जरूरतमंद बच्चों को पिलाये दूध

apne sapne ngo

अपने सपने संस्था प्रत्येक वर्ष ‘महाशिवरात्रि ’ पर दूध बर्बाद न करने को लेकर चलाती है अभियान देहरादून। अपने सपने संस्था हर साल की भांति इस साल भी आज “महाशिवरात्रि’ पर असहाय एवम् जरूरतमंद बच्चों दूध पिलाने का कार्य किया। महाशिवरात्रि पर जहाँ एक ओर भक्तों द्वारा भोले शंकर को दूध से जलाभिषेक किया, वही अपने सपने संस्था के सदस्यों द्वारा शहर में अभियान चला कर जरूरतमंद बच्चों को दूध पिलाने का कार्य किया। आज के दिन इस अभियान को लोगों द्वारा काफी सराहा गया। विदित हो जहाँ एक तरफ महाशिवरात्रि पर भोले शंकर को हजारो लीटर दूध से जलाभिषेक…

Read More