Breaking News:

पासपोर्ट बनवाने वालो के लिए आई यह खबर … -

Sunday, January 21, 2018

“आप” के समर्थन में विपक्ष हुआ एकजुट -

Sunday, January 21, 2018

ब्लाइंड क्रिकेट वर्ल्ड कप जीता भारत -

Sunday, January 21, 2018

सुपर डांसर्स शो : दून क्लेमेनटाउन निवासी आकाश थापा को जरूर वोट की -

Saturday, January 20, 2018

डीएम ईवा ने सुनीं जनसमस्याएं -

Saturday, January 20, 2018

आइडिया के अनलिमिटेड रिचार्ज पर पाएं 3300 रूपये का कैशबैक -

Saturday, January 20, 2018

फेसबुक माध्यम से बजट के लिए लोगों से मांगे सुझाव -

Saturday, January 20, 2018

दर – दर भटक रही है अपने बच्चे के साथ यह महिला, जानिए खबर -

Thursday, January 18, 2018

बिग बॉस के इस प्रतिभागी का चेहरा सर्जरी से हुआ खराब, जानिए है कौन -

Thursday, January 18, 2018

प्रदेश में भू कानून में परिवर्तन की मांग को लेकर “हम” का धरना -

Thursday, January 18, 2018

शासकीय योजनाओं का हो व्यापक प्रचार-प्रसार : डाॅ.पंकज कुमार पाण्डेय -

Thursday, January 18, 2018

केंद्रीय वित्तमंत्री के समक्ष सीएम ने रखी ग्रीन बोनस की मांग -

Thursday, January 18, 2018

कांटों वाले बाबा को हर कोई देख है दंग … -

Wednesday, January 17, 2018

फिल्म पद्मावत फिर पहुंची एक बार कोर्ट, जानिए खबर -

Wednesday, January 17, 2018

बालिकाओ ने जूडो, बैडमिंटन, फुटबाल, वालीबाल, बाक्सिंग में दिखाई दम -

Wednesday, January 17, 2018

उत्तराखंड के उत्पादों का एक ही ब्रांड नेम होना चाहिए : उत्पल कुमार सिंह -

Wednesday, January 17, 2018

पर्वतीय राज्यों को मिले 2 प्रतिशत ग्रीन बोनस : सीएम -

Wednesday, January 17, 2018

सिर दर्द हो तो करे यह उपाय …. -

Monday, January 15, 2018

उत्तरायणी महोत्सव में रंगारंग कार्यक्रमों की धूम -

Monday, January 15, 2018

सौर ऊर्जा से चलने वाली कार का दिया प्रस्तुतीकरण -

Monday, January 15, 2018

ईमानदारी की मिसाल वंदना एवं अंकित वर्मा

imandari ki mishaal

      देहरादून। आज के इस दौर में ईमानदारी शब्द हस्याप्रद लगता है लेकिन इस वाक्यांश  को निरंजनपुर देहरादून निवासी वंदना वर्मा एवं अंकित वर्मा ने गलत साबित करते है, पहचान एक्सप्रेस की स्वामी एवं प्रकाशक मीना यादव के भाई सत्यजीत यादव का मोबाईल विक्रम में सफर करते वक्त जेब से गिर गया जिसको उसी विक्रम में सफर कर रही वंदना वर्मा को मिला। मंहगे मोबाइल मिलने पर आज के इस दौर में किसी न किसी के उपर लालच हावी हो जाता है परन्तु वंदना वर्मा ने ईमानदारी करते हुए मोबाइल को अपने भाई अंकित वर्मा द्वारा सत्यजीत यादव…

Read More

पी के दिलाएगा भोजपुरी भाषा को नई पहचान

pk bhojpuri

    जब भी देश के राजनेता की बात होती है तो जनता यह जरूर सोचती है की राजनेता सही होते है या नहीं .लेकिन किसी अभिनेता की बात होती है तो सही ही होते है यह सोचती है जनता . इस तथ्य को सही ठहरा रहे है पी के यानि आमिर खान . हाल ही में आमिर की फ़िल्म पी के आ रही है इस फ़िल्म में भोजपुरी भाषा का जबरदस्त इस्तमाल आमिर खान ने किया है . भोजपुरी बोलने वाले इलाकों से बहुत नेता संसद पहुंचे, लेकिन आज भी इस भाषा को संवैधानिक दर्जा नहीं मिला है. अब…

Read More

आम आदमी पार्टी के सफर का दो साल

      राजनीती बदलने की बात की जाये तो अरविन्द केजरीवाल और उनकी पार्टी की बात न की जाय तो ये बेईमानी होगी . दिल्ली की राजनीती में उथल पुथल करने वाले अरविन्द केजरीवाल अपनी ईमानदारी के बल पर दो साल पहले बता दिया था की जनता के बीच अभी भी ईमानदारी जिन्दा है .आम आदमी पार्टी आज दो साल की हो गई है .अपने पार्टी के जन्मदिन पर केजरीवाल महिला सुरक्षा के मुद्दे पर सभी राजनेताओ को अपने काम के प्रति करारा जवाब दे दिया.आम आदमी पार्टी अपने राजनीती सफर में बहुत उतार चढ़ाव देखा. राजनीती पार्टी आलोचना…

Read More

‘खान’ परिवार से समाज सीखे इंसानियत

  आज के समय में समाज में अनेक प्रकार के इंसान रहते है . परोपकारी भी और गलत भी . लेकिन आज के भाग भरी जिंदगी में समाज के लोग यह भूल जाते है इंसानियत भी कोई अनमोल शब्द है इन्ही भीड़ में मुम्बई में सड़क से गुजरने वाला एक व्यक्ति रोज एक भिखारी महिला एवं उसकी छोटी बच्ची को देखता था। एक दिन सड़क से गुजरते हुए उसने देखा की वह भिखारी महिला मरी पड़ी है पास में ही उसकी छोटी बच्ची रो रही है। यह देख कर उस इंसान का ह्रदय द्रवित हो गया और उसने उस बच्ची…

Read More

क्रिकेटर किरन सिंह की भी पहचान होती अगर…

देहरादून। राज्य में अनेक खिलाड़ी ऐसे है जो सुविधा एंव संगठन के अभाव में लक्ष्य तक नही पहुँच पाते है इन्हीं खिलाडि़यो में एक नाम किरन सिंह गोसाई का है जो उत्त्तराखण्ड में कई वर्षो से यूपीसीएल की तरफ से क्रिकेट खेलते आ रहे है उनके नाम राज्य में कई रिकाडऱ् भी है। राज्य के दो क्रिकेट संगठन का आपसी तालमेल न हो पाना जिससे बीसीसीआई बोडऱ् द्वारा राज्य को मान्यता से अभी तक वंचित होना पड़ रहा है। एक उदयमान क्रिकेटर जो किसी कारण वश अन्य राज्य की तरफ से नही खेल सके यदि राज्य के क्रिकेट बोडऱ् को…

Read More