Breaking News:

’संपर्क फ़ॉर समर्थन’ अभियान की तरफ कदम दर कदम, जानिये खबर -

Sunday, June 24, 2018

जुलाई में उत्तराखण्ड में दस्तक देगा मानसून -

Sunday, June 24, 2018

पर्वतीय क्षेत्र में एनसीसी मुख्यालय एवं एकेडमी के लिए जगह होगी उपलब्ध -

Sunday, June 24, 2018

उदय शंकर नाट्य अकादमी में कलाकारों ने दी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां -

Sunday, June 24, 2018

पौधारोपण के क्षेत्र में मैती आंदोलन के प्रयास सराहनीय : सीएम त्रिवेन्द्र -

Sunday, June 24, 2018

उत्तराखण्ड में शूटिंग करना मेरा सौभाग्य : मधुरिमा तुली -

Sunday, June 24, 2018

महाराष्ट्र व उत्तराखण्ड के सूचना विभाग ने साझा किये अपने अपने अनुभव -

Sunday, June 24, 2018

अनुसूचित जाति व जनजाति में उद्यमशीलता को बढ़ावा देने पर फोकस : सीएम त्रिवेंद्र -

Saturday, June 23, 2018

‘‘ओक तसर विकास परियोजना’’ का सीएम त्रिवेंद्र ने किया शुभारम्भ -

Saturday, June 23, 2018

चैलाई के प्रसाद के रूप में तीन गुना मिल रहा फायदा, जानिए ख़बर -

Saturday, June 23, 2018

अमित शाह 24 जून को दून दौरे पर, जानिए ख़बर -

Saturday, June 23, 2018

औद्योगिक विकास योजना को लेकर कार्यशाला का आयोजन, जानिए ख़बर -

Saturday, June 23, 2018

साहसिक पर्यटन गतिविधियों पर रोक के फैसले का अध्ययन किया जा रहा : मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र -

Friday, June 22, 2018

हाईकोर्ट ने गंगा में राफ्टिंग सहित सभी वॉटर स्पोर्ट्स पर लगया बैन जानिए ख़बर -

Friday, June 22, 2018

सीएम ने की अनेक विभागो के कार्यो की जनपदवार समीक्षा , जानिए ख़बर -

Friday, June 22, 2018

पति ने पत्नी को पीटने की मांगी इजाजत जानिए ख़बर -

Friday, June 22, 2018

देश की रक्षा के लिए उत्तराखंड का एक और लाल शहीद -

Friday, June 22, 2018

फिल्म ‘सत्यमेव जयते’ का पहला पोस्टर रिलीज़ -

Friday, June 22, 2018

जम्मू कश्मीर में एनएसजी कमांडो तैनात, करेंगे आतंकियों का सफाया -

Friday, June 22, 2018

यात्रियों को विमान से उतारने के लिए AC किया तेज़, जानिए ख़बर -

Friday, June 22, 2018

जॉब छोड़ सब्जी की खेती कर रही यह लड़की, जानिए खबर

pehchan -shan

रायपुर | साइंस से एमटेक रही कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर रह चुकी 27 साल की वल्लरी चंद्राकर कम्प्यूटर जॉब छोड़कर 27 एकड़ जमीन पर खेती कर रही हैं। यही नहीं अपने खेत की सब्जियां दुबई और इजरायल को एक्सपोर्ट करने की तैयारी भी वल्लरी कर रही हैं। रायपुर से 88 किमी दूर बागबाहरा के सिर्री गांव की रहने वाली वल्लरी ने खेती की शुरुआत 2016 में की थी। वल्लरी के अनुसार यहां खेती में फायदा नजर आया तो नौकरी छोड़कर आ गई। शुरू में लोग लड़की समझकर मेरी बात को सीरियसली नहीं लेते थे। वल्लरी की सब्जियां दिल्ली, भोपाल, इंदौर,…

Read More

लोगों के घरों में काम करके अपनी पढ़ाई और घर की जिम्मेदारी उठा रही यह मासूम

pehchan -aap

गाजियाबाद | अगर दिल में जज्बा हो तो कोई भी कार्य आसानी से पूरा किया जा सकता है ऐसे ही एक मासूम विपरीत परिस्थितियों के बावजूद खेलने की उम्र में अपने परिवार का सहारा बनीं हैं। उम्र मात्र 11 साल लेकिन जज्बा किसी बड़ो से कम नहीं है।बात हो रही है स्लम एरिया में रहने वाली एक मासूम बच्ची का | जो अपने 9 भाई-बहनों को पालने में पिता की सहायता करती है। इन सभी कार्यों के बावजूद पूजा ( बदला हुआ नाम ) रोज 2 घंटे पढ़ने का समय निकालती है। वह रोजाना सुबह 11 से 1 बजे तक…

Read More

बिना जूतों के दौड़े और इसके बावजूद भी मेडल , गरीबी को दी मात , जानिये खबर

pehchan

अगर हौसला हो तो सब मुमकिन है जी हां इस तथ्य को सावित किया है बेंगलुरु विश्वविद्यालय ऐथलेटिक्स मीट में सरकारी कॉलेजों के बच्चों ने | 53वें ऐथलेटिक्स मीट में कम से कम 30 ऐथलीट ऐसे थे जो बिना जूतों के दौड़े और इसके बावजूद भी मेडल जीता। शारीरिक शिक्षा के एक टीचर ने बताया कि पोडियम पर मेडल पाने वाले 30 से ज्यादा ऐथलीट तीन दिन तक चले इस इवेंट में नंगे पैर दौड़े। एक कोच ने बताया, ‘सिंथेटिक ट्रैक पर बिना जूतों के दौड़ना खतरनाक होता है, इससे चोट लगने की आशंका बढ़ जाती है। आर्टिफिशल सतह पर…

Read More

15 वर्षीय प्रिया बाल विवाह कुप्रथा के खिलाफ लड़ रही जंग

child_marriage

राजस्थान | जब अगर जज्बा हौसलों को छू ले तब समझ लीजिये आप अपने लक्ष्य की ओर अग्रसर हो रहे है | जी हां बात हो रही है इसी वाक्यांश का एक 10 साल की उम्र में उसने दुल्हन बनने से इनकार कर दिया। इस नन्हीं उम्र में उसने बाल विवाह के खिलाफ जो मुहिम छेड़ी आज 15 वर्ष की उम्र तक जाते-जाते वह इस सामाजिक कुप्रथा के खिलाफ पूरे जिले में बिगुल फूंक चुकी है। आज वह अपने जिले की लड़कियों के लिए प्रेरणास्रोत बन गई है। यह प्रेरक कहानी है अलवर जिले की प्रिया जांगिड़ की।15 वर्षीय प्रिया…

Read More

पुलिस वाले ने 6 जिन्दगिया बचा उनके इलाज में भी की मदद , जानिए खबर

pehchan

गाजियाबाद | समाज पुलिस को हमेशा अच्छे समाजिक कार्य के रूप में नहीं जान पाती जिससे उनकी महानता और बहादुरी से अनिभिज्ञ रह जाते है | इन्ही कड़ी में एक जेल चौकी प्रभारी ने एक नई मिसाल कायम की है। जानकारी हो की उन्होंने अपनी जान पर खेलकर एक परिवार को आग से बचाया। उनकी हिम्मत का नतीजा है कि चार बच्चों समेत छह लोगों का यह परिवार सही सलामत है। यही नहीं परिवार के इलाज में भी दरोगा ने मदद की है। इस अच्छे कार्य पर जांबाज पुलिसकर्मी की एसएसपी एच.एन. सिंह ने तारीफ़ करते हुए सम्मानित करने की…

Read More

माँ तो माँ होती है , दिल को छू लेने वाली तस्वीरें हुई वायरल

एक बच्चे के जीवन में माँ शब्द बहुत ही अनमोल होता है क्योंकि माँ पाल-पोस कर बड़ा करती हैं वे ही उसे अच्छे-बुरे के बारे में सिखाती हैं और बच्चे इस दुनिया में सबसे पहले अपनी मां से ही प्यार का मतलब सीखते हैं। सोशल मीडिया पर मां-बच्चों की कई इमोशनल फोटोज वायरल हुई हैं। इनकी कहानियां दिल को छू लेने वाली हैं। मां के बिना अब इसी फोटो को देखिए। पहली नजर में ऐसा लग रहा है, जैसे एक मां अपने 7 महीने की बच्ची को खिड़की से बाहर फेंक रही है। लेकिन असल में मां अपनी बच्ची को…

Read More

भजन-कीर्तन कर राधा जरूरतमंद बच्चो को कर रही शिक्षित

pehchan

राधा जैसा नाम वैसा काम जी हां हम बात कर रहे है समाज सेविका राधा का | विदित हो की राधा के साथ 10-12 लोगों ने भजन-कीर्तन मंडली बनाई है। राधा एंड कम्पनी भजन के प्रोग्राम करते हैं उससे जो भी पैसा इकट्ठा होता है वह इन बच्चों की पढ़ाई पर खर्च किया जाता है। हर साल करीब 4-5 लाख रुपये इकट्ठा करके इन बच्चों पर खर्च करते हैं। इस अभियान से तीन लड़कियां बीएड करके नौकरी कर रही हैं। यही नहीं इन बच्चों की पैरंट्स-टीचर मीटिंग में भी हम लोग जाते हैं। आशा नाम की स्टूडेंट कहती है, ‘मैं…

Read More

आँखे नहीं फिर भी फतेह किया हिमालय, जानिए ख़बर

jai-hind

पुणे | जब हौसलों की उड़ान हो तो बड़ो का साथ हो तो हर नामुमकिन मुमकिन में परिवर्तित होना तय है ऐसे ही एक जज्बा अपने पिता के साथ एक टैंडम साइकल पर 15 साल की मनस्वी भाटी ने हिमाचल प्रदेश के मनाली से जम्मू-कश्मीर के खारदूंग ला पास तक का सफर तय कर एक मिसाल कायम की है। यही नहीं आप को मालूम हो की क्योंकि मनस्वी अपनी आंखें खो चुकी हैं। विदित हो की टैंडम साइकल में दो सीटें और दो पैडल होते हैं। इसे दो लोग मिलकर चलाते हैं। मनस्वी और उनके पिता भारत में पहली बार…

Read More

किसी और माँ का गोद सुनी ना हो इस लिए …..

jra hatke

अपने शहर और समाज की भलाई में जुटे अनेक अच्छे लोग अपना कार्य बखूबी कर रहे हैं। उन्ही में से एक दूसरों की मदद कर रही हैं और मिसाल कायम कर रही हैं टीएचए की डोरिस फ्रांसिस के बारे में। हादसे में अपनी बेटी खोने के बाद डोरिस ने मां का फर्ज निभाया और सड़कों पर ट्रैफिक संभालने में जुट गईं ताकि हादसे के कारण किसी और मां की गोद सूनी न हो। डोरिस बताती हैं कि साल 2008 का वह दिन उन्हें अच्छी तरह याद है जब अपनी कार में हंसते-हंसते पूरा परिवार कहीं जाने के लिए निकला था…

Read More

बालक अजय का कूड़े बीनने से मुख्य अतिथि तक का सफर , जानिए खबर

APNE-SAPNE-NGO

देहरादून। अपने सपने एन.जी.ओ. विगत तीन वर्षों से देहरादून में असहाय एवम जरूरतमंद बच्चों के जीवन शैली एवम उनके शिक्षा पर कार्य करता आ रहा है। अपने सपने एन.जी.ओ. वर्तमान समय में 70 से अधिक बच्चों की पढाई और सामाजिक उत्थान में कार्यरत है। एन.जी.ओ. द्वारा बहुत से बच्चो के लिए कार्य किये गए जिसमे समाज में सबसे ज्यादा प्रोत्साहन मिली। उत्तरांचल प्रेस क्लब में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान अपने सपने संस्था के अध्यक्ष अरुण कुमार यादव ने कहा कि अजय नामक बच्चा जो आज से तीन साल पहले सड़कों पर कूड़ा बीनता था संस्था द्वारा उसको स्कूल में…

Read More