Breaking News:

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 958 -

Monday, June 1, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या 929 हुई, चम्पावत में 15 नए मामले मिले -

Monday, June 1, 2020

जागरूकता: तंबाकू छोड़ने की जागरूकता के लिए स्वयं तत्पर होना जरूरी -

Monday, June 1, 2020

मदद : गांव के छोटे बच्चों को पढ़ा रही भावना -

Monday, June 1, 2020

नही रहे मशहूर संगीतकार वाजिद खान -

Monday, June 1, 2020

नेक कार्य : जरूरतमन्दों के लिए हज़ारो मास्क बना चुकी है प्रवीण शर्मा -

Sunday, May 31, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या पहुँची 907, आज 158 कोरोना मरीज मिले -

Sunday, May 31, 2020

सोशल डिस्टन्सिंग के पालन से कोरोना जैसी बीमारी से बच सकते है : डाॅ अनिल चन्दोला -

Sunday, May 31, 2020

कोरोंना से बचे : उत्तराखंड में मरीजो की संख्या 802 हुई -

Sunday, May 31, 2020

उत्तराखंड : 1152 लोगों को दून से विशेष ट्रेन से बेतिया बिहार भेजा गया -

Sunday, May 31, 2020

पूर्व सीएम हरीश रावत ने किया जनता से संवाद, जानिए खबर -

Sunday, May 31, 2020

प्रदेश में खेती को व्यावसायिक सोच के साथ करने की आवश्यकताः सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, May 31, 2020

अनलॉक के रूप में लॉकडाउन , जानिए खबर -

Saturday, May 30, 2020

कोरोना का कोहराम : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 749 -

Saturday, May 30, 2020

रहा है भारतीय पत्रकारिता का अपना एक गौरवशाली इतिहास -

Saturday, May 30, 2020

पहचान : फ्री ऑन लाइन कोचिंग दे रहे फुटबाल कोच विरेन्द्र सिंह रावत, जानिए खबर -

Saturday, May 30, 2020

एक वर्ष की सफलता ने प्रधानमंत्री मोदी को बनाया विश्व नेता : सीएम त्रिवेंद्र -

Saturday, May 30, 2020

श्री विश्वनाथ मां जगदीशिला डोली के आयोजन स्थलों पर पौधारोपण होगा : नैथानी -

Friday, May 29, 2020

हरेला पर 16 जुलाई को वृहद स्तर पर पौधारोपण किया जाएगाः सीएम -

Friday, May 29, 2020

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन -

Friday, May 29, 2020

बेमौसमी वर्षा और अतिवृष्टि से हुए नुकसान पर मुख्यमंत्री हरीश रावत का अरुण जेटली व कृषि मंत्री को पत्र

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने केन्द्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली व कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह को पत्र भेजकर राज्य में बेमौसमी वर्षा और अतिवृष्टि से हुए नुकसान से अवगत कराया है। मुख्यमंत्री वत ने केन्द्रीय वित्त मंत्री को भेजे पत्र में कहा है कि राज्य में बेमौसमी वर्षा और अतिवृष्टि से प्रदेश के किसानों को काफी नुकसान हुआ है। इससे प्रदेश के 90प्रतिशत किसान, जो कृषि क्षेत्र से जुड़े हुए है, पर काफी बुरा प्रभाव पड़ा है। राज्य सरकार द्वारा अपने स्तर से किसानों को राहत दी गई है। इसके लिए राज्य सहकारी बैंक से कृषि व उद्यान हेतु लिये गये ऋण का ब्याज आगामी 6 माह तक राज्य सरकार वहन करेगी। एस.एल.बी.सी. के संयोजक द्वारा बताया गया है कि विभिन्न राष्ट्रीय बैंको द्वारा भी प्रदेश के किसानों को कृषि ऋण और किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से लगभग 9500 करोड़ रुपये धनराशि के ऋण वितरित किये गये है, जिन पर 10 प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर के अनुसार लगभग 950 करोड़ रुपये ब्याज की धनराशि होती है। यदि केन्द्र सरकार आगामी 6 माह (01 अप्रैल, से 30 सितम्बर, 2015 तक) तक प्रदेश के किसानों द्वारा लिये गये ऋण के ब्याज पर छूट प्रदान कर दे अथवा केन्द्र सरकार वहन करे, तो इससे काफी राहत मिलेगी।
harish rawat
मुख्यमंत्री रावत ने केन्द्रीय वित्त मंत्री से अनुरोध किया है कि प्रदेश की विषम भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए शीघ्र ही इस संबंध में निर्णय लिया जाय। उत्तराखण्ड को विशेष राज्य का दर्जा है, जिसके अनुसार केन्द्र सहायतित योजनाओं में 90ः10 अनुपात में योजनाओं का लाभ मिलना चाहिए था, लेकिन इसको परिवर्तित करते हुए विभिन्न योजनाओं को अलग अनुपात में कर दिया गया है, जैसे 50ः50, 75ः25 आदि, जो कि राज्य के विकास को अवरूद्ध करने जैसा कार्य है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड भले ही छोटा राज्य है, लेकिन हमे जो नुकसान हो रहा है, वह कही अधिक है।
मुख्यमंत्री  रावत ने के्रन्द्रीय कृषि मंत्री को भेजे पत्र में कहा है कि विगत दिनों की बेमौसमी वर्षा और अतिवृष्टि से राज्य के किसानों को काफी नुकसान हुआ है। राज्य सरकार के अनुमान के अनुसार प्रदेश के विभिन्न जनपदों में 51 प्रतिशत से 69 प्रतिशत तक की क्षति हुई है। फसलों की क्षति के साथ ही फल वृक्ष एवं पौधों के फूल गिरने व पराग खराब होने से औधानिक फसलों (सब्जी एवं फल) में 56.71 प्रतिशत तक की क्षति हुई है। मुख्यमंत्री  रावत ने केन्द्रीय मंत्री से अनुरोध किया है कि अत्याधिक वर्षा एवं तेज हवाओं के कारण फसलों के उत्पादन में होने वाली क्षति का आंकलन कराने हेतु केन्द्रीय दल भेजने के साथ ही किसानों को क्षतिपूर्ति हेतु राहत/धनराशि शीघ्र उपलब्ध कराने का कष्ट करें। केन्द्रीय मंत्री को भेजे गये पत्र में जनपदवार हुए उत्पादन में हुई क्षति का आंकलन दिया गया है, जिसमें जनपद ऊधमसिंहनगर में 63 प्रतिशत, नैनीताल में 57 प्रतिशत, अल्मोड़ा में 51 प्रतिशत, बागेश्वर में 55 प्रतिशत, पिथौरागढ़ में 60 प्रतिशत, चम्पावत में 53 प्रतिशत, हरिद्वार में 69 प्रतिशत, पौड़ी में 56 प्रतिशत, टिहरी में 60 प्रतिशत, उत्तरकाशी में 55 प्रतिशत, रूद्रप्रयाग में 55 प्रतिशत, चमेाली में 55 प्रतिशत तथा देहरादून में 61 प्रतिशत का आंकलन किया गया है।

Leave A Comment