Breaking News:

गैरसैण बनेगी ई-विधानसभा : सीएम त्रिवेंद्र -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1215 , ठीक हुए मरीजो की संख्या हुई 344 -

Friday, June 5, 2020

“उत्तराखंड की शान भैजी विरेन्द्र सिंह रावत” ऑडियो वीडियो का हुआ शुभारम्भ -

Friday, June 5, 2020

डेंगू से बचाव के लिए जागरूकता जरूरी -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1199, देहरादून में 15 नए मामले मिले -

Friday, June 5, 2020

7 जून से “एसपीओ” द्वारा राष्ट्रीय ऑनलाइन योगा प्रतियोगिता का आयोजन -

Friday, June 5, 2020

उत्तराखंड : 10वीं च 12वीं की शेष परीक्षाएं 25 जून से पहले होंगी -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1153 आज 68 नए मरीज मिले -

Thursday, June 4, 2020

पांच जून को अधिकांश जगह बारिश की संभावना -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1145 -

Thursday, June 4, 2020

जागरूकता और सख्ती पर विशेष ध्यान हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, June 4, 2020

दुःखद : बॉलीवुड कास्टिंग निदेशक का निधन -

Thursday, June 4, 2020

वक्त का फेर : चैम्पियन तीरंदाज सड़क पर बेच रही सब्जी -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या 1085 हुई , 42 नए मरीज मिले -

Wednesday, June 3, 2020

अभिनेत्री ने जहर खाकर की खुदकुशी, जानिए खबर -

Wednesday, June 3, 2020

मुझे बदनाम करने की साजिश : फुटबॉल कोच विरेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, June 3, 2020

मोदी 2.0 : पहले साल लिए गए कई ऐतिहासिक निर्णय -

Wednesday, June 3, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 1066 हुई -

Wednesday, June 3, 2020

सराहनीय पहल : एक ट्वीट से अपनों के बीच घर पहुंचा मानसिक दिव्यांग मनोज -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1043 -

Tuesday, June 2, 2020

शोध को लेकर एफआरआई में प्रदर्शनी का आयोजन

FRI_DEHRADUN

विश्व वानिकी दिवस के अवसर पर वन अनुसंधान संस्थान के सूचना केन्द्र में एक प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। इस प्रदर्शनी में संस्थान के विभिन्न अनंसंधान प्रभागों की प्रदर्शनी लगाई गई। इस प्रदर्शनी में पोस्टरों व माॅडलों आदि के माध्यम से संस्थान के विभिन्न प्रभागों के वानिकी शोध क्रियाकलापों को दर्शाया गया वन संवर्धन प्रभाग की केन्द्रीय पौधशाला द्वारा सजावटी व अन्य वृक्ष प्रजातियों के पौधों व बीजों के साथ ही रसायन प्रभाग द्वारा वन जैव मात्रा द्वारा प्राकृतिक रंग, खाद, अगरबत्ती, अलोवेरा जैल, हर्बल गुलाल व अन्य विकसित प्रोद्योगिकियों के बारे में आम जनता को बताया गया। वनोपज प्रभाग द्वारा सौर ऊर्जा से लकडी सुखाने व बांस के परीक्षण की वैज्ञानिक विधि के बारे में भी इस विश्व वानिकी दिवस के अवसर पर स्कूली बच्चों, ग्रामीण वासियों व आम दश्रकों को अवगत कराया गया। वृक्षों में लगने वाले हानिकारक कीटों व बीमारियों आदि के उपचार व निदान से भी दर्शकों को अवगत कराया गया। संस्थान निदेशक, डा0 पी0 पी0 भोजवैद ने इस मौके पर प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उन्होने कहा कि हमें वानिकी शोघ व वानिकी से सम्बन्धित तकनीकियों में सरलीकरण करने की आवश्यकता है ताकि उसे आम जनमानस आसानी से समझ सके व साथ ही वानिकी के विस्तार व वृक्षों के रोपण आदि से आम समाज में जागरूकता उत्पन्न हो सके। इस प्रदर्शनी में दून पी0जी0 एगरीकल्चरल साईन्स एण्ड टेक्नोलाॅजी सेलाकुई व अन्य शैक्षणिक संस्थानों के छात्रों ने भ्रमण किया।इस अवसर पर विशेष रूप से प्रातः नौ बजे से सायं पांच बजे तक संस्थान के सभी छः संग्रहालयों को आम जनता के लिए निःशुल्क खुला रखा गया।

Leave A Comment