Breaking News:

सिर दर्द हो तो करे यह उपाय …. -

Monday, January 15, 2018

उत्तरायणी महोत्सव में रंगारंग कार्यक्रमों की धूम -

Monday, January 15, 2018

सौर ऊर्जा से चलने वाली कार का दिया प्रस्तुतीकरण -

Monday, January 15, 2018

सीएम ने ईको फ्रेण्डली किल वेस्ट मशीन का किया उद्घाटन -

Monday, January 15, 2018

औद्योगीकरण को बढ़ावा देने को लेकर प्रदेश में सिंगल विंडो सिस्टम लागू -

Monday, January 15, 2018

युवा क्रिकेटर के लिए भारतीय तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने मांगी मदद -

Sunday, January 14, 2018

कक्षा सात की बालिका ने प्रधानमंत्री के लिए लिखी चिट्ठी, जानिए खबर -

Sunday, January 14, 2018

हरियाली डेवलपमेंट फाउंडेशन ने की गरीब, अनाथ एवं बेसहारा लोगो की मदद -

Sunday, January 14, 2018

रेडिमेड वस्त्रों के 670 सेंटर स्थापित किये जायेंगेः सीएम -

Sunday, January 14, 2018

सीएम ने 14 विकास योजनाओं का किया शिलान्यास -

Saturday, January 13, 2018

एयरटेल और एमेजाॅन ने मिलाया हाथ , किया मेंबरशिप पेशकश -

Saturday, January 13, 2018

किसने ठुकराया 15 करोड़ रूपये का का ऑफर …. -

Saturday, January 13, 2018

परीक्षा में टॉप कीजिए सड़क आप के नाम ….. -

Saturday, January 13, 2018

महापुरुषों में से एक थे स्वामी विवेकानंद…. -

Friday, January 12, 2018

पवित्र ग्रंथों का ‘डिजिटलाइजेशन’ करेगा IIT कानपुर -

Friday, January 12, 2018

प्रदेश में उद्योगो को बढ़ावा देने के लिए ….. -

Friday, January 12, 2018

गुमशुदा बच्चों के लिए सराहनीय कार्य, जानिए खबर -

Friday, January 12, 2018

अनाथ बच्चों को राजकीय सेवाओं में आरक्षण देने पर शीघ्र विचार -

Thursday, January 11, 2018

दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट खिलाड़ी जांटी रोड्स आए देहरादून, सीएम से की शिष्टाचार भेंट -

Thursday, January 11, 2018

महात्मा गांधी हत्याकांड की नहीं होगी दोबारा जांच , जानिए खबर -

Thursday, January 11, 2018

राजनेताओ के बच्चे भी पढेगे अब सरकारी स्कूलों में ?

CM Photo 09 dt. 14 March 2015
नई दिल्ली में एक मीडिया गु्रप द्वारा आयोजित कार्यक्रम में चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि भारत राज्यों से मिलकर ही बनेगा। हर राज्य की अपनी समस्या है, इसलिए सबकी भावनाओं का ध्यान रखना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि संघीय लोकतंत्र में केन्द्र एवं राज्य को मिलकर कार्य करना है। भारत राज्यों से मिलकर बना है। इसे अम्बेडकर जी से लेकर गांधी जी ने संवारने का कार्य किया हैं। योजना आयोग एक ऐसी पद्धती थी, जिसमें राज्यों की योजनाओं के स्वरूप में अन्तर होता, तो वहां चर्चाएं होती थी, जिसकी योजना आयोग स्वीकृति देता था, और उसी नक्शे कदम पर चलते थे। आज अगर देश इतनी ऊंची उडान उडने के काबिल बना हैं, तो इसमें योजना आयोग का बहुत बडा हाथ है। अचानक एक परिवर्तन आया कि योजना आयोग की जगह नीति आयोग आ गया और मैं बहुत आभार व्यक्त करता हूं कि प्रधानमंत्री जी ने हमें टीम इंडिया कहा, जहा प्रधानमंत्री कप्तान और राज्यों के मुख्यमंत्री टीम के सदस्य हैं। मगर जो कप्तान थे, उन्होंने टीम मेंम्बर को बताया तक नहीं कि उनकी टीम मेंम्बर को किस स्थान पर खेलना हैं, उसकी पोजिशन क्या रहेगी। हमको बुलाया और हमंे एक निर्णित चीज मिली। केन्द्र सरकार ने कहा कि राज्यों को टैक्स शेयर से मिलने वाली धनराशि में राज्यों का हिस्सा 32 प्रतिशत से बढ़ाकर 42 प्रतिशत कर दिया गया है, लेकिन केन्द्रीय सहायतित योजनाओं को पूरी तरह से बंद कर दिया।
इसी कार्यक्रम में दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सरकारी स्कूल में जनता के प्रतिनिधियों के बच्चो  को भी शिक्षा ग्रहण करनी चाहिए, जिससे उन विद्यालयों की शिक्षा स्तर भी प्राइवेट स्कूलों के जैसा हो जाएगा | उन्होंने आगे कहा की जिस दिन मुझे ऐसा लगेगा की मैं भी दिल्ली के सरकारी स्कूलों में अपने बच्चो को पढ़ा सकता हूँ, उस दिन मेरा शिक्षा मंत्री होना सार्थक होगा |
इस परिचर्चा कार्यक्रम में हरियाण, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री तथा दिल्ली के उप मुख्यमंत्री शामिल थे।

Leave A Comment