Breaking News:

जरा हट के : ब्याज पर पैसे लेकर ग्रामीणों ने खुद बनाई डेढ़ सौ मीटर लम्बी सड़क -

Sunday, November 18, 2018

देहरादून : दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली युवती के सोमवार को दर्ज होंगे बयान -

Saturday, November 17, 2018

वरिष्ठ पत्रकार अनूप गैरोला का निधन -

Saturday, November 17, 2018

मिस उत्तराखंड : मिस रेडिएंट स्किन एंड ब्यूटीफुल हेयर सब प्रतियोगिता का आयोजन -

Saturday, November 17, 2018

सभी नागरिक अपने मताधिकार का करे प्रयोग : सीएम -

Saturday, November 17, 2018

मतदाता चुनेेंगे शहर की सरकार …. -

Saturday, November 17, 2018

राष्ट्र निर्माण में युवाओं की भूमिका अहम -

Friday, November 16, 2018

चैटर्जी बहनों द्वारा बांसुरी प्रदर्शन का आयोजन -

Friday, November 16, 2018

आखिरी दिन कांग्रेस ने रोड शो में झोंकी ताकत -

Friday, November 16, 2018

स्टिंग ऑपरेशन केस : उमेश शर्मा को मिली जमानत -

Friday, November 16, 2018

त्रिवेंद्र एवं अजय भट्ट ने मांगे भाजपा प्रत्याशियों के लिए वोट -

Friday, November 16, 2018

निकाय चुनाव : 9399 लाइसेंसी शस्त्रों को किया गया जमा -

Friday, November 16, 2018

भारतीय लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के रूप में प्रेस की महत्वपूर्ण भूमिका : सीएम -

Thursday, November 15, 2018

स्टिंग मामला : नार्को व ब्रेन मैपिंग टेस्ट पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक -

Thursday, November 15, 2018

हिमालया ने लॉन्च किया ‘‘खुश रहो, खुशहाल रहो’’ -

Thursday, November 15, 2018

नजूल भूमि पर बसे किसी भी परिवार को उजड़ने नहीं दिया जायेगा : सीएम -

Thursday, November 15, 2018

मेयर प्रत्याशी सुनील उनियाल गामा ने जनसंपर्क कर मांगे वोट -

Wednesday, November 14, 2018

भ्रष्टाचार तथा ब्लैकमनी पर बनाई गई पेंटिंग को खूब सराहा गया , जानिए खबर -

Wednesday, November 14, 2018

मधुमेह बढ़ाता है दिल के दौरे का खतरा ….. -

Wednesday, November 14, 2018

यूनाईटेड नेशस डेवलपमेंट प्रोग्राम के सदस्यों ने सीएम से की भेटवार्ता -

Wednesday, November 14, 2018

2 जुलाई से 29 अगस्‍त तक श्री अमरनाथजी यात्रा के लिए दिशा निर्देश जारी

amarnath_yatra

श्री अमरनाथजी यात्रा 2015 के लिए तीर्थयात्रियों के पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। समूह पंजीकरण सुविधा के जरिये कैसे पंजीकरण किया जाता है। यह जानने के लिए कृपया बोर्ड की वेबसाइट www.shriamarnathjishrine.com पर जाएं।

जम्‍मू-कश्‍मीर के राज्‍यपाल की अध्‍यक्षता में श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड ने यात्रियों के लिए निर्देश जारी किये है-
यात्रियों क्‍या करें
1. पर्याप्‍त गर्म कपडे रखे, क्‍योंकि कभी-कभी तापमान 5 डिग्री सेल्सियस से भी नीचे चला जाता है।
2. छत‍री, विंड शिटर, रैनकोट और वाटरप्रुफ जूते रखे, क्‍योंकि यात्रा क्षेत्र में मौसम एकसमान नही रहता।
3. कपड़ों और खाने की वस्‍तुओं को भींगने से बचाने के लिये उचित वाटरप्रुफ बैग में रखे।
4. आपात स्थिति के लिए आपके साथ ही दर्शन के लिए जाने वाले किसी यात्री का नाम/पता, मोबाइल नम्‍बर आदि लिखी एक पर्ची अपनी जेब में रखे।
5. पहचान पत्र, चालक लाइसेंस और यात्रा परमिट अपने साथ रखें।
6. कुलियों/घोड़ों/खच्‍चरों पर अपने सामान के साथ एकसमूह में यात्रा करे।
7. समूह के सदस्‍य आपकी आंखों से ओझल नहीं होने दें, वरना आप समूह से बिछड़ सकते हैं।
8. यात्रा के दौरान आपको अपने समूह के अन्‍य सदस्‍यों के साथ ही आधार शिविर छोड़ना चाहिए।
9. अगर आपके समूह का कोई भी सदस्‍य लापता है, तो तुरन्‍त पुलिस की सहायता लें। यात्रा शिविर पर सार्वजनिक उद्घोषणा तंत्र पर घोषणा भी करवानी चाहिए।
10. सहयात्रियों की मदद करें और पवित्र मन से यात्रा करें।
11. समय-समय पर यात्रा प्रशासन द्वारा जारी निर्देशों का सख्‍ती से पालन करें।
12. भूमि, जल, वायु, अग्नि और आकाश भगवान शिव के अभिन्‍न तत्‍व है, इसलिये पर्यावरण का सम्‍मान करें और यात्रा क्षेत्र में प्रदूषण न फैलाये।

यात्री क्‍या न करें-
1. यात्रा के दौरान चढ़ाई के समय महिलाएं साड़ी न पहने। उनके लिए सलवार-कमीज, पेंट-शर्ट या ट्रेक सूट अधिक सुविधाजनक होंगे।
2. छह हफ्तों से अधिक समय से गर्भवती महिलाओं को यात्रा की अनुमति नहीं होगी।
3. 13 वर्ष से कम आयु के बच्‍चे और 75 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गों को भी यात्रा की आज्ञा नहीं होगी।
4. चेतावनी सूचनाओं द्वारा चिन्ह्ति स्‍थानों पर न रूके।
5. पवित्र गुफा के रास्‍ते पर उतार-चढ़ाव है, इसलिये स्‍लीपर का उपयोग न करें। केवल फीते वाले ट्रेकिंग जूते ही पहने।
6. छोटा रास्‍ते लेने की कोशिश न करें, क्‍योंकि वह खतरनाक हो सकता है।
7. खाली पेट यात्रा शुरू न करें। अगर ऐसा करते है, तो आपको गंभीर चिकित्‍सीय समस्‍या का सामना करना पड़ सकता है।
8. पूरी यात्रा के दौरान ऐसा कोई कार्य न करें, जिससे प्रदूषण न फैले।
9. पॉलीथीन का प्रयोग न करें, क्‍योकि ये जम्‍मू-कश्‍मीर में प्रतिबंधित है और इसका प्रयोग करने पर दंडित किया जा सकता है।

Leave A Comment