Breaking News:

उत्तराखंड : दुकान खुलने का समय प्रातः 7 बजे से सांय 7 बजे तक हुआ -

Thursday, May 28, 2020

कोरोना कहर : उत्तराखंड में कोरोना मरीजों की संख्या पहुँची 500 -

Thursday, May 28, 2020

टीवी अभिनेत्री का सड़क हादसे में हुई मौत -

Thursday, May 28, 2020

बिहार की बेटी ज्योति के मुरीद हुए विदेशी भी, जानिए खबर -

Thursday, May 28, 2020

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना’’ का शुभारंभ हुआ -

Thursday, May 28, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 493 -

Thursday, May 28, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री राहत कोष में आज यह दिए दान, जानिए खबर -

Wednesday, May 27, 2020

देहरादून से विशेष ट्रेन द्वारा हज़ारो मजदूर बिहार एंव उत्तर प्रदेश के लिए रवाना, जानिए खबर -

Wednesday, May 27, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 469, आज 69 मरीज मिले कोरोना के -

Wednesday, May 27, 2020

ऋषिकेश-धरासू हाइवे पर 440 मीटर लंबी टनल हुई तैयार, सीएम त्रिवेंद्र ने जताया आभार -

Wednesday, May 27, 2020

कोरोना का कहर : उत्तराखंड में कोरोना मरीज हुए 438 -

Wednesday, May 27, 2020

उत्तराखंड : राज्य में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 401 -

Tuesday, May 26, 2020

“आप” पार्टी से जुड़े कई लोग, जानिए खबर -

Tuesday, May 26, 2020

उत्तराखंड : प्रदेश भाजपा ने विभिन्न समितियों का गठन किया -

Tuesday, May 26, 2020

कोरोना संक्रमित लोगों की जाँच कर रहे अस्पतालो को मिलेगा 50 लाख रूपए की प्रोत्साहन राशि -

Tuesday, May 26, 2020

उत्तराखंड : 51 कोरोना मरीज और मिले, संख्या हुई 400 -

Tuesday, May 26, 2020

नेक कार्य : पर्दे के हीरो से रियल हीरो बने सोनू सूद -

Monday, May 25, 2020

संक्रमण का दौर है सभी जनता अपनी जिम्मेदारियों को समझे : सीएम त्रिवेंद्र -

Monday, May 25, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 349 हुई -

Monday, May 25, 2020

उत्तराखंड : राज्य में कोरोना मरीजो की संख्या 332 हुई -

Monday, May 25, 2020

यमन से सुरक्षित निकालने का अभियान- ‘राहत’

operation rahat

एक और चुनौतीपूर्ण व कठिन अभियान के तहत भारतीय नौसेना के पोत तरकश ने 10 अप्रैल को यमन के युद्धग्रस्त शहर अदन से विभिन्न राष्ट्रों के 464 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया है। स्वर्गीय श्री मनजीत सिंह के पार्थिव शरीर को आईएनएस तरकश से ही जिबूती लाया गया। अदन शहर में बमबारी के दौरान श्री सिंह बुरी तरह घायल हो गये थे और बाद में उनकी मृत्यु हो गयी। वह हिमाचल प्रदेश में हमीरपुर के रहने वाले थे। इस यात्रा के दौरान 46 भारतीय नागरिकों व 14 देशों के 422 लोगों को बंदरगाह वाले शहर अदन से सुरक्षित निकालकर 11 अप्रैल, 2015 को जिबूती पहुंचाया गया। सुरक्षित निकाले गये लोग सदमे में थे और भारतीय नौसेना के पोत पर सुरक्षित पहुंचकर उन्होंने राहत की सांस ली।

सुरक्षित निकाले गये लोगों में चार गर्भवती महिलाएं, एक कैंसर व किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति और दो कुपोषण के शिकार बच्चे थे। उन्हें तरकश पर तत्काल चिकित्सीय सुविधाएं मुहैया करायी गयीं। अदन से सुरक्षित निकाले गये लोगों से पता चला कि शहर अब भी हौदियों के कब्जे में है और लगातार हो रही गोलीबारी की वजह वहां स्थिति बेहद गंभीर है। विषम परिस्थितियों में भी आईएनएस तरकश ने वहां के बंदरगाह से लोगों को निकालने का काम किया है। तरकश के क्रू ने बंदहगाह क्षेत्र व जेटी के आसपास गोलीबारी व बमबारी की सूचना दी है।

इससे पूर्व 9 अप्रैल, 2015 को आईएनएस सुमित्र ने अल-हौदिदा बंदरगाह से विदेशी नागरिकों सहित 349 लोगों को सुरक्षित निकाला था। जिबूती पहुंचने पर इथोपिया में भारत के राजदूत और कुवैत में बांग्लादेश के राजदूत ने सुमित्र की आगवानी की थी। सभी लोगों को जिबूती में सुरक्षित उतार लिया गया और 10 अप्रैल, 2015 को भारतीय वायुसेना के विमान और अन्य नागरिक विमानों से वहां से सुरक्षित आगे के लिए निकाला गया।

अब तक अदन की खाड़ी में तैनात किये गये भारतीय नौसेना के पोतों मुंबई, तरकश और सुमित्र ने 30 देशों के 964 नागरिकों समेत कुल 2671 लोगों को सुरक्षित निकाला है। यमन के तट पर तैनात किए गए भारतीय नौसेना के पोत अब भी ऑपरेशन ‘राहत’ के तहत लोगों को सुरक्षित निकालने के अभियान में डटे हैं।

Leave A Comment