Breaking News:

गैरसैण बनेगी ई-विधानसभा : सीएम त्रिवेंद्र -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1215 , ठीक हुए मरीजो की संख्या हुई 344 -

Friday, June 5, 2020

“उत्तराखंड की शान भैजी विरेन्द्र सिंह रावत” ऑडियो वीडियो का हुआ शुभारम्भ -

Friday, June 5, 2020

डेंगू से बचाव के लिए जागरूकता जरूरी -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1199, देहरादून में 15 नए मामले मिले -

Friday, June 5, 2020

7 जून से “एसपीओ” द्वारा राष्ट्रीय ऑनलाइन योगा प्रतियोगिता का आयोजन -

Friday, June 5, 2020

उत्तराखंड : 10वीं च 12वीं की शेष परीक्षाएं 25 जून से पहले होंगी -

Friday, June 5, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1153 आज 68 नए मरीज मिले -

Thursday, June 4, 2020

पांच जून को अधिकांश जगह बारिश की संभावना -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1145 -

Thursday, June 4, 2020

जागरूकता और सख्ती पर विशेष ध्यान हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, June 4, 2020

दुःखद : बॉलीवुड कास्टिंग निदेशक का निधन -

Thursday, June 4, 2020

वक्त का फेर : चैम्पियन तीरंदाज सड़क पर बेच रही सब्जी -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या 1085 हुई , 42 नए मरीज मिले -

Wednesday, June 3, 2020

अभिनेत्री ने जहर खाकर की खुदकुशी, जानिए खबर -

Wednesday, June 3, 2020

मुझे बदनाम करने की साजिश : फुटबॉल कोच विरेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, June 3, 2020

मोदी 2.0 : पहले साल लिए गए कई ऐतिहासिक निर्णय -

Wednesday, June 3, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 1066 हुई -

Wednesday, June 3, 2020

सराहनीय पहल : एक ट्वीट से अपनों के बीच घर पहुंचा मानसिक दिव्यांग मनोज -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1043 -

Tuesday, June 2, 2020

एतिहासिक पवेलियन फुटबाल ग्राउंड दान देने वाले मानसूमरथ दास इतिहास के पन्नों मे हुए गुम, जानिए ख़बर

राष्ट्रीय कोच वीरेन्द्र सिंह रावत एवं अमित कुमार जैन

 

देहरादून 22 मई 2020 | देहरादून में जब कभी भी फुटबाल खेल की बात होती है तो पवेलियन फुटबाल ग्राउंड की बात न हो यह सम्भव नही, लेकिन आज तक बहुत से लोग इस ग्राउंड के इतिहास को नही जानते है इसी को लेकर महत्वपूर्ण जमीन और बिल्डिंग को दान करने वाले मानसूमरथ दास जैन की चौथी पीढ़ी के अमित कुमार जैन से देहरादून फुटबाल अकैडमी (डीएफए) के संस्थापक अध्यक्ष और हेड कोच वीरेन्द्र सिंह रावत की बातचीत हुई।

देहरादून बसाने में महत्वपूर्ण योगदान : अमित

अमित कुमार जैन बताते है कि कि कैसे हमारे पूर्वजो ने देहरादून मे आकर देहरादून बसाने के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान किया था, उन्होंने दर्द बयां करते हुए कहा कि आज हम चौथी पीढ़ी को कोई पूछने वाला नहीं है। हम सभी का कोई नहीं है सुध लेने वाला। वीरेन्द्र सिंह रावत के द्वारा पूछे प्रश्न में अमित कुमार जैन ने बताया कि आज देहरादून में ही नहीं, बल्कि पूरे भारत में प्रसिद्ध फुटबाल ग्राउंड देहरादून को मान सुमरथ दास पवेलियन फुटबाल ग्राउंड को हमारे पूर्वजो ने एक विरासत (दान) मे दिया था। अमित कुमार जैन ने बताया कि प्रथम पीढ़ी 1856 मे सहारनपुर से देहरादून मात्र 12000 रुपये लेकर आये थे और फिर धीरे धीरे देहरादून को बसाने मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। लाला भगवान दास उनके दो पुत्र लाला मान सुमरथ दास और लाला जुगमेदर दास ने अपनी जमीन दान देकर देहरादून को बसाने मे बड़ा योगदान दिया था। अमित कुमार जैन ने बताया इसके बाद लाला मान सुमरथ दास के पुत्र लाला नेमी दास ने 1941 को पवेलियन ग्राउंड देहरादून मे मान सुमरथ मेमोरियल देहरादून फुटबाल लीग का आयोजन किया गया था। जो आज तक भी जिला फुटबाल लीग लाला मान सुमरथ दास मेमोरियल फुटबॉल लीग देहरादून के रूप में कायम है। जानकारी देते हुए अमित कुमार जैन ने बताया कि लाला जुगमेद्र दास के पौत्र प्रीतम सेन ने टाउन हॉल नगर निगम देहरादून को भी दान किया था। उन्हीं के नाम पर जिसका नाम लाला जुगमेद्र दास टाउन हॉल रखा गया है। दूंन हॉस्पिटल का महिला अस्पताल भी लाला जुगमेद्र दास द्वारा दान मे दी गई इनकी ही देन है। आज उनके नाती अमित कुमार जैन को पहली बार उत्तराखंड फुटबाल रत्न अवार्ड 2019 मे नवाजा गया था और उसके बाद आज फिर अमित कुमार जैन को सम्मानित किया गया। वीरेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि सरकार का दायित्व बनता है इनकी हर पीढ़ी को सम्मानित करना जिन्होंने जमीन दानकर देहरादून को बसाने मे अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और लाखो खिलाडियों का भविष्य बनाया है। वीरेंद्र सिंह रावत ने बताया कि यही नही इस पवेलियन ग्राउंड ने ही मेरा जीवन बनाया है। जानकारी हो कि वीरेंद्र सिंह रावत पूर्व राष्ट्रीय खिलाड़ी, वर्तमान राष्ट्रीय कोच और क्लास वन रेफरी एवं सम्मान के रूप में 5 अंतराष्ट्रीय, 21 राष्ट्रीय और 19 स्टेट अवार्ड से सम्मानित हो चुके है |

Leave A Comment