Breaking News:

एशियाड खेल : ओलिंपिक पदक विजेता लिएंडर पेस ने खेलने से किया इनकार -

Saturday, August 18, 2018

हरकी पैड़ी पर विसर्जित किया जाएगा पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थिया -

Saturday, August 18, 2018

बेनाप भूमि पर किसानों को मिलेगा मालिकाना हक, जानिये खबर -

Saturday, August 18, 2018

पूर्व पीएम अटल की अंतिम यात्रा में शामिल हुए सीएम त्रिवेंद्र -

Friday, August 17, 2018

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी हुए पंचतत्व में विलीन, पुत्री ने दी मुखाग्नि -

Friday, August 17, 2018

पूर्व पीएम अटल बिहारी बाजपेयी को उत्तराखंड से विशेष था विशेष लगाव, जानिए खबर -

Friday, August 17, 2018

20 नवंबर को एक दूजे के होंगे रणवीर-दीपिका जानिए खबर -

Friday, August 17, 2018

फेक आईडी के प्रति रहें सचेतः डीआईजी -

Thursday, August 16, 2018

भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर सीएम त्रिवेंद्र की श्रद्धांजलि -

Thursday, August 16, 2018

एशियन गेम्स : भारत ने भेजे 571 खिलाड़ी, जानिए खबर -

Thursday, August 16, 2018

नहीं रहे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी -

Thursday, August 16, 2018

कंगना की ‘मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी लुक -

Thursday, August 16, 2018

राज्य हित में टीम भावना से काम किए जाने की आवश्यकता: मुख्यमंत्री -

Wednesday, August 15, 2018

एक-दूसरे के पति को किडनी देकर दो महिलाओं ने की मदद ,जानिए खबर -

Wednesday, August 15, 2018

देहरादून देश के दस शीर्ष रेलवे स्टेशनों की सूची में , जानिए खबर -

Wednesday, August 15, 2018

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के न्यू इंडिया के सपने को करना है साकार : सीएम त्रिवेंद्र -

Wednesday, August 15, 2018

प्रदेश में हरेला पर्व हो सरकारी तौर पर आयोजित -

Wednesday, August 15, 2018

पत्रकार चारूचन्द के स्वास्थ्य का हाल जानने पहुंचे महानिदेशक सूचना दीपेन्द्र चौधरी एवं मीडिया सलाहकार रमेश भट्ट -

Tuesday, August 14, 2018

शहीद प्रदीप सिंह रावत की अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब -

Tuesday, August 14, 2018

उत्तराखंड : निष्कासित कर्मचारियों का उग्र आन्दोलन की चेतावनी -

Tuesday, August 14, 2018

अच्छे लोग राजनीति में जरूर आए : त्रिवेन्द्र सिंह रावत

UK

देहरादून | मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने को डीबीएस पीजी काॅलेज देहरादून में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की 121वीं जयन्ती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने इस अवसर पर रक्तदान शिविर का भी उद्घाटन किया। नेताजी सुभाष चन्द्र बोस को श्रंद्धाजंलि देते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि नेताजी ने कहा था कि तुम मुझे खून दो मै तुम्हें आजादी दूंगा परन्तु आज खून की आवश्यकता नहीं है। आज जरूरत है भ्रष्ट्राचार का समूल नाश किया जाय। यह नौजवानों का समय है। भ्रष्ट्राचार को समाप्त करने में युवा पीढ़ी की अहम भूमिका है। हमें वैध तथा अवैध में फैसला करना होगा। भटकाव की स्थिति से बाहर निकल कर क्या सही है तथा क्या गलत है का निर्णय करते हुए सच का रास्ता अपनाना होगा। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत द्वारा आजाद हिन्द सेना के सिपाही एम0 सिंह को सम्मानित किया गया।

युवाओ को राजनीति में भाग लेने का आहवाहन
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि राजनीति में प्रदूषण का कारण है कि अच्छे लोगों का राजनीति से दूर रहना। यदि अच्छे लोग सब जगह नही आयेगे तो कोई ओर वहां आ जायेगा। काॅलेज की राजनीति व चुनावों से भी लोकतंत्र को सही दिशा मिल सकती है।

नौकरी की मानसिकता से बाहर सोचे
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि नौजवानों को सिर्फ नौकरी की मानसिकता से बाहर सोचने की जरूरत हैं। युवा उद्यमशीलता को अपनाये व उद्यमी बने। सरकार द्वारा स्टैण्डअप इण्डिया-स्टार्टअप इण्डिया, स्किल डेवलपमेन्ट प्रोग्राम, एमएसएमई नीति द्वारा युवाओं को उद्यमशीलता की ओर प्रोत्साहित किया जा रहा है।

भ्रष्ट्राचार को समाप्त करने में युवाओ की भूमिका
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि भ्रष्ट्राचार का सबसे अधिक नुकसान समाज के निर्धन वर्ग तथा भावी पीढ़ी को उठाना पड़ता है। हमारे नई पीढ़ी ही भ्रष्ट्राचार को जड़ से समाप्त करने की सरकार की मुहिम को सफल बना सकती हैं। अभी तक सरकार द्वारा भ्रष्ट्राचार के मामलों में 14 लोगों को जेल भेजा जा चुका है। मुख्यमंत्री ने बताया कि आज ही उन्हें टैक्स चोरी की शिकायत से सम्बन्धित एक मैसेज मिला। त्वरित कार्यवाही करते हुए मुख्यमंत्री ने सम्बन्धित अधिकारियों को जांच के निर्देश दिए तथा जांच में लगभग 60 लाख की टैक्स चोरी पकड़ी गई।

आत्महत्या के प्रयास कायरतापूर्ण
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि समाज में आत्महत्या जैसी दुष्प्रवृतियों को बढ़ावा नही दिया जाना चाहिये। अभी तक लगभग 11 लोगों द्वारा आत्महत्या करने की धमकियां प्राप्त हुई है। राजनीतिक कारणों से आत्महत्या के प्रयासों का खुलेआम समर्थन अत्यधिक निन्दनीय है। उन्होंने उपस्थित छात्र-छात्राओं से पूछा कि क्या आत्महत्या करने वालों को सरकार की ओर से आर्थिक मदद दी जानी चाहिए। छात्र-छात्राओं ने एकस्वर में कहा कि आत्महत्या जैसी दुष्प्रवृतियों हेतु बिलकुल भी किसी भी प्रकार आर्थिक मदद सरकारी खजाने से नहीं दी जानी चाहिए

Leave A Comment