Breaking News:

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1153 आज 68 नए मरीज मिले -

Thursday, June 4, 2020

पांच जून को अधिकांश जगह बारिश की संभावना -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1145 -

Thursday, June 4, 2020

जागरूकता और सख्ती पर विशेष ध्यान हो : सीएम त्रिवेंद्र -

Thursday, June 4, 2020

दुःखद : बॉलीवुड कास्टिंग निदेशक का निधन -

Thursday, June 4, 2020

वक्त का फेर : चैम्पियन तीरंदाज सड़क पर बेच रही सब्जी -

Thursday, June 4, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या 1085 हुई , 42 नए मरीज मिले -

Wednesday, June 3, 2020

अभिनेत्री ने जहर खाकर की खुदकुशी, जानिए खबर -

Wednesday, June 3, 2020

मुझे बदनाम करने की साजिश : फुटबॉल कोच विरेन्द्र सिंह रावत -

Wednesday, June 3, 2020

मोदी 2.0 : पहले साल लिए गए कई ऐतिहासिक निर्णय -

Wednesday, June 3, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 1066 हुई -

Wednesday, June 3, 2020

सराहनीय पहल : एक ट्वीट से अपनों के बीच घर पहुंचा मानसिक दिव्यांग मनोज -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या हुई 1043 -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में करें अब आनलाईन आवेदन -

Tuesday, June 2, 2020

10 वर्षीय आन्या ने अपने गुल्लक के पैसे देकर मजदूर का किया मदद -

Tuesday, June 2, 2020

उत्तराखंड में कोरोना मरीजो की संख्या 999 हुई, 243 मरीज हुए ठीक -

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना से बचे : उत्तराखंड में आज कोरोना मरीजो की संख्या हुई 958 -

Monday, June 1, 2020

उत्तराखंड : कोरोना मरीजो की संख्या 929 हुई, चम्पावत में 15 नए मामले मिले -

Monday, June 1, 2020

जागरूकता: तंबाकू छोड़ने की जागरूकता के लिए स्वयं तत्पर होना जरूरी -

Monday, June 1, 2020

मदद : गांव के छोटे बच्चों को पढ़ा रही भावना -

Monday, June 1, 2020

अभियान : स्कूलों में बच्चों ने खाई पेट के कीड़े मारने की दवा

abhiyan

देहरादून। स्वास्थ्य विभाग की ओर से अधिकारिक तौर पर कृमी नाशक पेट के कीड़े मारने की दवा स्कूलों में बच्चों को खिलाई गई। जिसके तहत स्कूली बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोलियां निशुल्क दी गई। विभागीय अधिकारियों के अनुसार पेट में उत्पन्न होने वाले कृमी को जड़ से खत्म करने के लिए सभी स्कूलों में कीड़े मारने की दवाई खिलाई जा रही है। इस दवा का सेवन 5 से 19 साल तक के बच्चों को कराया जा रहा है। इसका कोई साइडिफेक्ट नहीं होता है। इसका सेवन किसी भी उम्र में किया जा सकता है। यदि कोई बच्चा छूट जाता हैतो उसे 17 अगस्त को दवा दी जायेगी। इस वर्ष में स्कूल न जाने वाले लक्षित बच्चों की कुल संख्या 9 लाख से अधिक बच्चों को कृमि मुक्त किया जा चुका है। राज्य में 45 लाख से अधिक बच्चों को साल 2018 तक कृमि मुक्त किए जाने का लक्ष्य रखा गया था। इस क्रम में अब तक 26 लाख बच्चों को कृमि मुक्त किया जा चुका है। विभागीय से मिली जानकारी के अनुसार उत्तराखण्ड के सभी स्कूल और आंगनबाड़ी में 1 से 19 साल तक बच्चों को एल्बेंडाजोल की दवाई खिलाकर कृमि मुक्त किया जायेगा। मिशन की डायरेक्टर डॉ. अंजली नौटियाल ने बताया कि जिन बच्चों को राष्ट्रीय कृमि दिवस पर कृमि की दवा खिलाने वंचित रह जाते हैं। उन्हें 17 अगस्त को कृमि नाशक एल्बेंडाजोल की गोलिया दी जायेंगी। उन्होंने बताया कि ये दवा कृमि के लिए कारगर साबित होती है। यदि कोई कृमि से पीड़ित किसी भी आयु वर्ग का बच्चा या व्यस्क एल्बेंडाजोल का तीन हफ्ते तक निरंतर सेवन करता है। ऐसे में कृमि से शतप्रतिशत मुक्ति मिल जाती है। कई दवा के सेवन के बाद कृमि ग्रस्ति एल्बेंडाजोल की गोली खिलाने पर सिर चकराने लगता है। ऐसे में घबराने नहीं चाहिए। दवा पीड़ित पर अपना असर दिखा रही होती है। उन्होंने बताया कि एल्बेंडाजोल का कोई भी व्यक्ति सेवन कर सकता है। इसका कोई साइडिफेक्ट नहीं होता है। यदि किसी के पेट में अधिक कृमि हो तो उसके मानसिक विकास पर असर पड़ सकता है। इस मौके पर सीएमओ डा. एसके गुप्ता व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave A Comment