Breaking News:

बुजुर्गो से ठगी करने वाला गिरफ्तार , जानिए खबर -

Tuesday, November 12, 2019

फीस वृद्धि के खिलाफ आयुष छात्रों का आंदोलन जारी -

Tuesday, November 12, 2019

धूमधाम से मनाया गया 550वां प्रकाशोत्सव -

Tuesday, November 12, 2019

पिथौरागढ़ में भूकंप के झटके, जानिए खबर -

Tuesday, November 12, 2019

बचपन की कुछ बातें और उनसे जुडी कुछ यादें….. -

Tuesday, November 12, 2019

प्रकाशपर्व: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने मत्था टेक प्रदेश की खुशहाली की कामना की -

Tuesday, November 12, 2019

उत्तराखण्ड: सीएम को फोन पर धमकी देने वाला आरोपी गिरफ्तार -

Monday, November 11, 2019

छात्रो ने फैशन शो में पेश किया नया क्लेक्शन -

Monday, November 11, 2019

पौड़ी के विकास में सीता माता सर्किट होगा मील का पत्थर साबित : सीएम -

Monday, November 11, 2019

सिन्मिट कम्युनिकेशन्स द्वारा मिस टैलेंटेड का आयोजन -

Monday, November 11, 2019

सीएम त्रिवेंद्र 550वें प्रकाश उत्सव एवं कार्तिक पूर्णिमा पर प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं -

Monday, November 11, 2019

शहर के इस हालात पर अवैध टैक्सी स्टैंड जिम्मेदार, जानिए खबर -

Sunday, November 10, 2019

एक दिसम्बर को केंद्रीय कूर्मांचल परिषद का द्विवार्षिक चुनाव -

Sunday, November 10, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने फिल्म “शुभ निकाह” का मुहूर्त शॉट लिया -

Sunday, November 10, 2019

पौड़ी सांसद तीरथ सिंह रावत घायल, ऋषिकेश एम्स में भर्ती -

Sunday, November 10, 2019

डीएम सविन बंसल की एक पहलः स्कूूली बच्चों को सिखा रहे चित्रकारी -

Sunday, November 10, 2019

रास्ते में पड़े सिंगल यूज प्लास्टिक को भी उठाएं: सीएम त्रिवेंद्र -

Sunday, November 10, 2019

IPL-2020 : तीन नए शहर होगे सकते है शामिल , जानिए खबर -

Saturday, November 9, 2019

उत्तराखंड सैन्यधाम और विद्याधाम भी : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह -

Saturday, November 9, 2019

आयुष्मान की सबसे बड़ी ओपनर बनी ‘बाला’, जानिए खबर -

Saturday, November 9, 2019

उत्तराखंड की बेटी नूतन ने किया एवरेस्ट फतह

pehchanरुद्रप्रयाग। आखिरकार रूद्रप्रयाग की बेटी नूतन वशिष्ट ने एवरेस्ट पर फतह कर दी है। गत् 26 मई की देर रात्रि को देश की नौ बेटियों ने दुनिया की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट पर भारत का झंडा फहराया था। गढ़वाल परिक्षेत्र की यह पहली एनसीसी कैडेट है, जिसने एवरेस्ट पर तिरंगा फहराया। दुनिया की सभी चोटियों पर देश का झंडा फहराने का सपना संजोने वाली अगत्स्यमुनि ब्लाॅक के गुनाऊं गांव निवासी नूतन वशिष्ट (20) ने बाल्यकाल से ही पर्वतारोहण को अपना कैरियर बनाने की ठान ली थी। गुनाऊं निवासी सेना में ंकार्यरत गिरीश चन्द्र वशिष्ट और समाज सेवी सुशीला वशिष्ट की बेटी नूतन जनपद ने उत्तराखंड का नाम रोशन किया है। वर्तमान में राजस्थान बिकानेर से एम काॅम की पढ़ाई कर रही नूतन ने कक्षा दो तक की शिक्षा गांव के ही प्राथमिक विद्यालय से प्राप्त की थी। हाईस्कूल की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद नूतन की रूचि पर्वतारोहण की तरफ बढ़ गई। एनसीसी कैडेट होने के कारण वो राॅक क्लाइबिंग के शिविरों में प्रतिभाग करने लगी। माता-पिता तथा मामा के सहयोग से नूतन ने हिमालयन पर्वतारोहण का बेसिक प्रशिक्षण भी प्राप्त किया। दो वर्ष पूर्व आर्मी की ओर से सौ एनसीसी कैडेटो के पर्वतारोही दल में नूतन को भी शामिल किया गया था। मेहनत और लगन के दम पर उसने पहले टाॅप 40 में जगह बनाई। बाद में कड़े प्रशिक्षण के बाद अंतिम दस में जगह बनाई। वर्ष 2014 में नूतन ने गंगोत्री के समीप रूद्रगैरा, सिक्किम में माउंट रिनाॅक, हिमाचल प्रदेश में माउंट टिब्बा तथा उत्तराखंड में माउंट त्रिशूल पर तिरंगा फहराया। मार्च माह में अपने पांच कोचों और अन्य साथियों के साथ नूतन माउंट एवरेस्ट फतह करने निकली थी। बेस कैम्प में कई दिनों के कठोर प्रशिक्षण के बाद आखिरकार इस टीम ने दुनिया की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट पर तिरंगा फहरा दिया। मोबाइल पर हुये सम्पर्क के बाद नूतन बताती है कि एवरेस्ट फतह के दौरान सात लोगों की मौत भी उन्हीं के सामने हुयी थी। उनकी दर्दनाक मौत देखने के बाद एक बार तो वह घबरा गई थी, लेकिन उनके प्रशिक्षकों द्वारा उनकी टीम का हौसला बढ़ाये जाने से ऊर्जा का संचार हुआ और वह एवरेस्ट की चोटी पर खुशी खुशी चढ़ गयी। नूतन की मां सुशीला कहती है कि बचपन से ही उसे पर्वतों में चढ़ने का शौक था, जब वह गांव में रहती थी तो जंगलो में जाकर रस्सी के सहारे पहाड़ चढ़ती थी। मैं उसे डांटती थी, वो मुस्कुराकर रह जाती थी। मुझे बहुत गुस्सा आता था, लेकिन मैंने कभी भी कल्पना नहीं की थी कि उनकी बेटी एक दिन एवरेस्ट फतह करेगी।

Leave A Comment