Breaking News:

उत्तराखण्ड: बारिश और बर्फबारी से जनजीवन अस्त-व्यस्त, जानिए खबर -

Friday, December 13, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने भोजपुरी फिल्म ‘‘जान’’ का मुहुर्त शाॅट लिया -

Friday, December 13, 2019

प्रशासन सख्त : खनन पर बड़ी कार्यवाही -

Friday, December 13, 2019

हाईकोर्ट के आदेश के बाद मिला मृतक शिक्षक की पत्नी को मुआवजा, जानिए खबर -

Friday, December 13, 2019

परमार्थ निकेतन : एक महीने तक चले योग प्रशिक्षण शिविर का समापन -

Thursday, December 12, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने किया “दून हाट” का लोकार्पण, जानिए खबर -

Thursday, December 12, 2019

उत्तराखंड : पहाड़ों पर बर्फबारी, मैदानी इलाकों में बारिश से बढ़ी ठंड -

Thursday, December 12, 2019

हरिद्वार महाकुम्भ : सीएम ने ली अधिकारियों व संतों की बैठक -

Thursday, December 12, 2019

उत्तराखंड शासन : आयोजनऔर बैठकों में सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल न हो -

Thursday, December 12, 2019

रणजी ट्रॉफीः जम्मू कश्मीर ने 253 रनों से जीता पहला मुकाबला -

Wednesday, December 11, 2019

कार और बोलेरो गहरी खाई में गिरने से मामा-भांजे समेत दो की मौत -

Wednesday, December 11, 2019

कैग रिपोर्ट : अनियमितता करने वाले नहीं बख्शे जाएगा -

Wednesday, December 11, 2019

नवनिर्मित दून हाट का सीएम त्रिवेंद्र कल करेंगे लोकार्पण, जानिए खबर -

Wednesday, December 11, 2019

मंत्रियों को दिया जा रहा विधानसभा मे ई-कैबिनेट का प्रशिक्षण -

Wednesday, December 11, 2019

नैनी झीलः जल स्तर छह फीट नीचे पहुंचा -

Tuesday, December 10, 2019

राशन कार्ड बनवाने में नई गाइडलाइन जारी, जानिए खबर -

Tuesday, December 10, 2019

सीएम त्रिवेंद्र ने 38 करोड़ 99 लाख रूपए की धनराशि स्वीकृत किए जाने का किया अनुरोध, जानिए खबर -

Tuesday, December 10, 2019

रायपुर : एक और गैंग रेप -

Tuesday, December 10, 2019

राष्ट्रीय राइफल शूटिंग प्रतियोगिता में क्वालीफाई कर कुंवर आदित्य ने बढ़ाया राज्य का गौरव -

Tuesday, December 10, 2019

वरिष्ठ पत्रकार का शव बरामद, जानिए खबर -

Monday, December 9, 2019

उत्तराखंड : नई आबकारी नीति को मंजूरी

cm

उत्तराखंड सरकार ने राज्य की जनता के विरोध और असमंजस से बाहर निकलते हुए नई आबकारी नीति को हरी झंडी दे दी है। कैबिनेट की बैठक में आज सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आबकारी नीति के तहत 2310 करोड़ आय का लक्ष्य निर्धारित किया गया। साथ ही तय किया गया कि शराब पर दो फीसद सेस लगाया जाएगा। सेस की यह धनराशि सामाजिक सुरक्षा और सड़क सुरक्षा पर खर्च होगी।उत्तराखंड में भाजपा की नई सरकार बनने के बाद शराब नीति के मामले में बड़ी चुनौती पेश आई। राज्य के सभी जिलों में शराब विरोधी आंदोलन शुरू हो गए। इसके मूल में राष्ट्रीय राजमार्गों से शराब की दुकानों को हटाना कारण रहा। शासन ने फौरी व्यवस्था करते हुए राष्ट्रीय राजमार्गों से हटने वाली दुकानों को नजदीक ही ऐसे मार्गों पर स्थानांतरण कर दिया जो राज्य मार्ग की श्रेणी में आते हैं, लेकिन जनता ने शासन की इस नीति को स्वीकार नहीं किया और यह फैसला बाउंस बेक होकर सरकार के गले की फांस बन गया। इसके बाद सरकार ने बीच का रास्ता निकालते हुए कई राष्ट्रीय राजमार्गों को जिला मार्ग घोषित किया। इसके बावजूद शराब विरोधी आंदलन थमने के बजाय और फैल गए। वर्तमान में स्थिति यह है कि पहाड़ों के साथ ही मैदानी जिलों में भी शराब विरोधी आंदोलन सरकार की सबसे बड़ी मुश्किल बने हैं। इस हालात में आज कैबिनेट ने नई शराब नीति को मंजूरी दे दी। हालांकि इस नई नीति का जनता पर क्या प्रभाव होगा, यह भविष्य की गर्त में है, लेकिन सरकार को राजस्व के एक अहम साधन शराब की बिक्री को लेकर फिलहाल राहत मिलती दिख रही है। इसके पीछे सरकार की यह घोषणा भी है कि शराबबंदी करते हुए जल्द ही राज्य की कुल दुकानों का एक तिहाई को प्रथम चरण में कम कर दिया जाएगा। इससे सरकार को उम्मीद है कि जनता का गुस्सा थमेगा और राजस्व की भी हानि नहीं होगी। कैबिनेट के फैसलों की जानकारी देते हुए सरकार के प्रवक्ता व कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने बताया कि पर्वतीय जिलो में शराब की दुकानें खुलने का समय दोपहर 12 बजे से शाम छह बजे तक रहेगा। साथ ही सभी जिलों को शराब के राजस्व का लक्ष्य आवंटित कर दिया गया।

Leave A Comment